News Nation Logo
Banner
Banner

PM मोदी ने लांच किया आयुष्मान भारत डिजिटल अभियान, बताया क्रांतिकारी कदम

आयुष्मान भारत डिजिटल अभियान अभी छह केंद्र शासित प्रदेशों में पायलट परियोजना के रूप में लागू है. इस अभियान के तहत नागरिकों की सहमति से स्वास्थ्य रिकॉर्ड तक पहुंच और आदान-प्रदान को सक्षम बनाए जाने की योजना है. 

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 27 Sep 2021, 11:59:28 AM
PM Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 'आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) का शुभारंभ की है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुए इस कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी मौजूद रहे. प्रधानमंत्री ने 15 अगस्त, 2020 को लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान की पायलट परियोजना की घोषणा की थी. वर्तमान में यह डिजिटल अभियान अपने शुरुआती चरण में छह केंद्र शासित प्रदेशों में लागू है. भारत सरकार द्वारा पहले आयुष्मान योजना लागू की गई थी, जिसके तहत हर व्यक्ति को पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलने की व्यवस्था थी.

भारत के हेल्थ सेक्टर को ट्रांसफॉर्म करने के लिए मेडिकल एजुकेशन में भी अभूतपूर्व रिफॉर्म्स हो रहे हैं. 7-8 साल में पहले की तुलना में आज अधिक डॉक्टर्स और पैरामेडिकल मैनपावर देश में तैयार हो रही है. 

भारत में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए बहुत जरूरी है कि गांवों की चिकित्सा सेवाओं में सुधार हो. आज गांव और घर के निकट ही प्राइमरी हेल्थ केयर से जुड़े नेटवर्क को सशक्त किया जा रहा है. अभी तक ऐसे 80,000 सेंटर चालू हो चुके हैं.

अब भारत में एक ऐसे हेल्थ मॉडल पर काम जारी है, जो होलिस्टिक हो, समावेशी हो. एक ऐसा मॉडल, जिसमें बीमारियों से बचाव पर बल हो,- यानि प्रिवेंटिव हेल्थकेयर, बीमारी की स्थिति में इलाज सुलभ हो, सस्ता हो और सबकी पहुंच में हो.

डिजिटल हेल्थ आईडी के माध्यम से मरीज खुद भी और डॉक्टर भी पुराने रिकॉर्ड को जरूरत पड़ने पर चेक कर सकता है. इसमें डॉक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल जैसे साथियों का भी रजिस्ट्रेशन होगा. देश के जो अस्पताल हैं, क्लीनिक हैं, लैब्स हैं, दवा की दुकानें हैं ये सभी भी रजिस्टर होंगी. 

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन, अब पूरे देश के अस्पतालों के डिजिटल हेल्थ सोल्यूशंस को एक दूसरे से कनेक्ट करेगा. इसके तहत देशवासियों को अब एक डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी. हर नागरिक का हेल्थ रिकॉर्ड डिजिटली सुरक्षित रहेगा - पीएम मोदी 

बीते 3 वर्षों में आयुष्मान भारत पर जो हजारों करोड़ रुपये सरकार ने वहन किये हैं, उससे लाखों परिवार गरीबी के कुचक्र में फंसने से बचे हैं.

पीएम मोदी बोले - जिन्होंने आयुष्मान भारत योजना के तहत अभी तक इलाज करवाया है, या जो अभी उपचार करा रहे हैं, उसमें से लाखों ऐसे साथी हैं, जो इस योजना से पहले अस्पताल जाने की हिम्मत नहीं कर पाते थे. वे दर्द सहकर जिंदगी की गाड़ी खींचते रहते थे. लेकिन पैसे की कमी की वजह से अस्पताल नहीं जा पाते थे.  

आयुष्मान भारत PM JAY ने गरीब के जीवन की बहुत बड़ी चिंता दूर की है. अभी तक 2 करोड़ से अधिक देशवासियों ने इस योजना के तहत मुफ्त इलाज की सुविधा का लाभ उठाया है. इसमें भी आधे लाभार्थी, हमारी माताएं, बहनें, बेटियां हैं.

सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन अभियान के तहत भारत आज करीब 90 करोड़ वैक्सीन डोज लगा चुका है और उसका रिकॉर्ड उपलब्ध हुआ है, तो उसमें कोविन का बहुत बड़ा रोल है. रजिस्ट्रेशन से लेकर सर्टिफिकेशन तक का इतना बड़ा प्लेटफॉर्म दुनिया के कई बड़े-बड़े देशों के पास तक नहीं है.

डिजिटल इंडिया अभियान ने भारत के सामान्य मानवी को डिजिटल तकनीक से जोड़कर देश की ताकत अनेक गुना बढ़ा दी है. हमारा देश गर्व से कह सकता है कि 130 करोड़ आधार नंबर, 118 करोड़ मोबाइल सब्सक्राबर और करीब 80 इंटरनेट यूजर हैं.

पीएम मोदी बोले - कोरोना काल में टेलीमेडिसिन का भी अभूतपूर्व विस्तार हुआ है. ई-संजीवनी के माध्यम से अब तक लगभग सवा करोड़ रिमोट कंसल्टेशन पूरे हो चुके हैं. ये सुविधा हर रोज देश के दूर-सुदूर में रहने वाले हजारों देशवासियों को घर बैठे ही शहरों के बड़े अस्पतालों के डॉक्टरों से कनेक्ट कर रही है. 

आरोग्य सेतु ऐप से कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में बहुत मदद मिली है. सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन अभियान के तहत भारत आज करीब-करीब 90 करोड़ वैक्सीन डोज लगा पाया है तो इसमें Co-WIN का बहुत बड़ा रोल है. 

पीएम मोदी ने कहा - टेक्नोलॉजी के माध्यम से मरीजों को पूरे देश के हजारों अस्पतालों से कनेक्ट करने का जो काम आयुष्मान भारत ने किया है, आज उसे भी विस्तार मिल रहा है.

पीएम मोदी बोले- 3 साल पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती के अवसर पर पंडित जी को समर्पित आयुष्मान भारत योजना पूरे देश में शुरू हुई थी. मुझे खुशी है कि आज से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन भी पूरे देश में शुरू किया जा रहा है. 

ये मिशन देश के गरीब और मध्यम वर्ग के इलाज में जो दिक्कतें आती हैं, उन्हें दूर करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा - पीएम मोदी

बीते 7 वर्षों से देश की स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने का जो अभियान चल रहा है, वो आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है - पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में ये एक क्रांतिकारी कदम है. पीएम मोदी ने कहा कि देश की गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों के इलाज में इस योजना ने अहम भूमिका निभाई है, अब डिजिटल फॉर्म में आने से इसका विस्तार हो रहा है. 

तकनीक के माध्यम से देशभर के अस्पतालों को कनेक्ट किया जा रहा है.

पीएम मोदी बोले-आयुष्मान भारत मिशन से पूरे देश के मध्यम वर्गीय लोगों को लाभ मिला

भारत सरकार द्वारा पहले आयुष्मान योजना लागू की गई थी, जिसके तहत हर व्यक्ति को पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलने की व्यवस्था थी.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) का शुभारंभ की है. इस मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी मौजूद रहे.


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खुद ट्वीट कर जानकारी दी थी. उन्होंने ट्वीट किया कल, 27 सितंबर भारत के स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है. सुबह 11 बजे आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की जाएगी. यह मिशन स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच में सुधार के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाता है और इस क्षेत्र में नए नवाचारों के द्वार खोलता है.


पीएम मोदी थोड़ी देर में  'आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) का शुभारंभ करेंगे.

First Published : 27 Sep 2021, 10:59:00 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.