News Nation Logo
Banner

पीएम मोदी ने कहा- कोरोना ने हमें दिया रीस्टार्ट से पहले रीसेट करने का मौका

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए '3rd Annual Bloomberg New Economy Forum' को संबोधित कर रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 17 Nov 2020, 07:24:12 PM
pm modi address

ब्लूमबर्ग नए आर्थिक फोरम में पीएम मोदी (Photo Credit: @narendramodi)

नई दिल्ली :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए '3rd Annual Bloomberg New Economy Forum' को संबोधित कर रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि हमने कोरोना काल को अवसर में तब्दील किया. महामारी में हमने अपनी ताकत को दिखाया. महामारी ने हमें दिखाया है कि जो शहर हमारे विकास के इंजन थे, वे भी कमजोर क्षेत्र हैं. ग्रेट डिप्रेशन के बाद से दुनिया भर के कई शहरों ने खुद को सबसे खराब  आर्थिक मंदी के कगार पर घोषित किया. 

पीएम मोदी ने आगे कहा कि कोरोना काल ने कई शहरों पर प्रश्न चिन्ह खड़ा कर दिया. बहुत सी चीजें जो एक शहर में रहने का प्रतिनिधित्व करती है, उस पर प्रश्न चिन्ह खड़ा हो गया. सामुदायिक समारोह, खेल गतिविधियां, शिक्षा और मनोरंजन जैती चीजें पहले जैसी नहीं रहीं.

रिस्टार्ट करने का एक अच्छा अवसर है ये

उन्होंने आगे कहा कि कोविड -19 ने हमें रिस्टार्ट करने से पहले रीसेट करने का अवसर दिया है. अब रिस्टार्ट करने का एक अच्छा बिंदु शहरी केंद्रों का कायाकल्प होगा.

पीएम ने आगे कहा, 'विश्व युद्धों के बाद, पूरे विश्व ने एक नए विश्व व्यवस्था पर काम किया और नए प्रोटोकॉल विकसित किए गए, जिसके परिणामस्वरूप दुनिया अपने आप बदल गई. कोरोना ने हमें एक समान अवसर दिया है.

हमें कोरोना के बाद के बारे में सोचना होगा 

उन्होंने आगे कहा कि हमें कोरोना के बाद दुनिया को क्या जरूरत है इसके बारे में सोचना चाहिए. एक अच्छा प्रारंभिक बिंदु हमारे शहरी केंद्रों का कायाकल्प करेगा.

हमारे यहां लॉकडाउन का हुआ पालन

पीएम मोदी ने कहा, 'लॉकडाउन को दुनिया भर में प्रतिरोध का सामना करना पड़ा. लेकिन भारतीय शहरों में लॉकडाउन नियमों का पालन हुआ हैं, क्योंकि हमारे शहरों की सोसाइटी केवल घरों से बनी जगह नहीं, बल्कि समुदाय है.'

और पढ़ें: कोरोना का रामबाण तैयार!देश में तीसरे चरण के परीक्षण में पहुंची सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन

शहर विकास के जीवंत इंजन

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना काल के बाद दुनिया को प्रमुख और मूलभूत संसाधन से सवारना होगा. शहर विकास के जीवंत इंजन है. वे बहुत आवश्यक परिवर्तन को चलाने की शक्ति रखते हैं. लोग पलायन करते हैं क्योंकि नए शहर उन्हें काम देते हैं.

क्या हम ऐसे शहर नहीं बना सकते जहां प्रदूषण ना हो

पीएम मोदी ने आगे कहा कि लॉकडाउन के दौरान, कई शहरों ने स्वच्छ झीलों, नदियों और हवा को दिखाया. हम में से कई लोगों ने पक्षियों की चहकती आवाज़ सुनी. क्या हम उन स्थायी शहरों का निर्माण नहीं कर सकते हैं जहां ये सुविधाएं आदर्श हैं, और अपवाद नहीं हैं?

हमने प्रौद्योगिकी और ज्ञान सक्षम सेवा क्षेत्र की घोषणा की

उन्होंने आगे बताया, 'आज के समय में, कहीं से भी लोगों को काम करने के लिए, कहीं भी रहने के लिए, कहीं से भी वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं में प्रवेश करना एक पूर्ण आवश्यकता है. यही कारण है कि हमने प्रौद्योगिकी और ज्ञान सक्षम सेवा क्षेत्र के लिए सरल दिशानिर्देशों की घोषणा की है.'

किफायती किराये की आवास पहल शुरू की

महामारी द्वारा पैदा हुई स्थितियों को देखते हुए हमने किफायती किराये की आवास पहल शुरू की. हमने रियल एस्टेट रेगुलेशन एक्ट बनाया. इसने रियल एस्टेट सेक्टर की गतिशीलता को बदल दिया है. इसके साथ ही हमने ग्राहकों के लिए इसे और पारदर्शी बना दिया है. 

और पढ़ें:WHO ने की कोरोना संक्रमण रोकने के यूपी सरकार की पहल की तारीफ़

मेक इन इंडिया ने स्वदेशी क्षमता का विकास किया

पीएम ने आगे कहा कि हमारे 'मेक इन इंडिया' ने परिवहन प्रणालियों के उत्पादन के लिए जबरदस्त स्वदेशी क्षमता का विकास किया. यह हमारे टिकाऊ परिवहन लक्ष्यों को बड़े पैमाने पर आगे बढ़ाने में हमारी मदद करने वाला है.

First Published : 17 Nov 2020, 06:59:58 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो