News Nation Logo
Banner

PM Modi बोले, अप्रासंगिक कानूनों, कुरीतियों और गलत रिवाजों को हटाया जाना चाहिए

Written By : मोहित सक्सेना | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 15 Oct 2022, 12:15:39 PM
pm modi

pm modi (Photo Credit: ani)

highlights

  • सरदार पटेल की प्रेरणा देश को सही ओर लेकर जाएगी: मोदी
  • प्रधानमंत्री ने लोक अदालतों के महत्व को बताया
  • लोक अदालतों के जरिए बीते वर्षों में लाखों मामलों को सुलझाया गया

नई दिल्ली:  

पीएम मोदी (PM Modi) शनिवार को कानून मंत्रियों और कानून सचिवों के सम्मेलन को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि स्वस्थ समाज के लिए मजबूत न्याय व्यवस्था अहम है. पीएम मोदी ने कानून मंत्रियों और सचिवों से कहा कि कानून बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह गरीबों को आसानी से समझ में आ सके. पीएम मोदी ने कहा कि आज देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. सरदार पटेल की प्रेरणा देश को सही ओर लेकर जाएगी. यह हमें लक्ष्य तक पहुंचाएगी. उन्होंने कहा कि भारत के समाज की विकास यात्रा बेहद पौराणिक है. कई चुनौतियों के बाद भारतीय समाज ने विकास किया है. पीएम ने कहा कि हमारे समाज की आवश्यकता है कि वह प्रगति पथ पर बढ़ते हुए, आंतरिक सुधार करते चले. इस तरह की कुरीतियों,अप्रासंगिक कानूनों और गलत रिवाजों को हटाया जाना चाहिए.  

प्रधानमंत्री ने लोक अदालतों के महत्व को बताया. उन्होंने कहा, लोक अदालतों के जरिए देश में बीते वर्षों में लाखों मामलों को सुलझाया गया है. इससे कोर्ट का बोझ कम हो सका है. इस तरह से गांव के गरीबों को न्याय मिलना काफी आसान हो सका है. देश के लोगों पर सरकार का दबाव नहीं अहसास होना चाहिए. करीब डेढ़ हजार पुराने और अप्रासंगिक कानूनों को खत्म कर दिया गया है. इनमें से कई कानून गुलामी से चल रहे हैं. लोगों को तुरंत न्याय मिले, इसके लिए लोक अदालतें बनाई गईं. कई राज्यों में इसे लेकर बेहतर काम हो रहा है.

First Published : 15 Oct 2022, 11:22:57 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.