News Nation Logo

BREAKING

Banner

पीएम मोदी अचानक पहुंचे गुरुद्वारा रकाबगंज, गुरु तेग बहादुर को किया याद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में स्थित गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब का रविवार सुबह अचानक दौरा किया. यहां उन्होंने अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले गुरु तेग बहादुर को श्रद्धांजलि दी.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 20 Dec 2020, 10:23:28 AM
PM Narendra Modi

पीएम मोदी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक रविवार को सुबह-सुबह यहां रकाबगंज गुरुद्वारे में पहुंच गए. उन्हें अचानक गुरुद्वारा परिसर में देखकर गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के लोग भी चौंक गए. उनके गुरुद्वारे जाने को लेकर न तो सड़कों पर सिक्योरिटी और न ही बैरेकेडिंग के इंतजाम किए गए थे. आम आदमी की तरह बिना किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुद्वारा पहुंचकर सभी को चौंका दिया. उन्होंने इस दौरान सिखों के नौवें गुरु तेगबहादुर जी को नमन करते हुए शांति का संदेश दिया. किसान आंदोलन के बीच प्रधानमंत्री मोदी का अचानक गुरुद्वारा पहुंचने को महत्वपूर्ण घटनाक्रम माना जा रहा है.

यह भी पढ़ें : केंद्र की नई इथेनॉल नीति का उद्देश्य किसानों की रक्षा करना है : गडकरी

गुरु तेगबहादुर ने धर्म और मानवता की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया था. उनकी शहादत हर साल शहीदी दिवस के रूप में याद किया जाता है. बीते शनिवार को ही पूरे देश ने उनका शहीदी दिवस मनाया है. सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के दौरान ध्यान रखा गया कि इस दौरान आम आदमी को किसी तरह की दिक्कत न हो. क्योंकि रविवार के दिन गुरुद्वारे में शीश नवाने जाने वालों की संख्या ज्यादा होती है. इसीलिए कहीं कोई सुरक्षा आदि की वैसी व्यवस्था नहीं हुई, जैसी आमतौर पर होती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में स्थित गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब का रविवार सुबह अचानक दौरा किया. यहां उन्होंने अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले गुरु तेग बहादुर को श्रद्धांजलि दी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान कहा कि यह गुरु साहिब की विशेष कृपा है कि हम अपनी सरकार के कार्यकाल के दौरान श्री गुरु तेग बहादुर जी के 400 वें प्रकाश पर्व के विशेष अवसर को चिह्नित करेंगे. आइए हम इस धन्य अवसर को ऐतिहासिक तरीके से चिह्नित करें और श्री गुरु तेग बहादुर जी के आदर्शों को मनाएं.

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा-गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब से कुछ और झलकिया.

गुरु तेग बहादुर ने 17वीं शताब्दी के दौरान सिख धर्म का प्रचार किया। वर्ष 1975 में उन्होंने हंसते-हंसते प्राणों का बलिदान कर दिया था। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने पंजाब के किसानों की ओर से चलाए जा रहे आंदोलन के बीच अचानक गुरुद्वारा पहुंचकर एक संदेश दिया है। हालांकि, भाजपा नेताओं का कहना है कि यह शुद्ध आस्था का मामला है। इसे किसी और नजरिए से नहीं देखा जाना चाहिए।

First Published : 20 Dec 2020, 09:12:58 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.