News Nation Logo

Corona के खिलाफ पीएम मोदी ने SAARC को लाया साथ, इमरजेंसी फंड में भारत देगा एक करोड़ डॉलर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) देशों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित कर रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 15 Mar 2020, 11:22:44 PM
Narendra Modi

पीएम नरेंद्र मोदी (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) देशों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित किया. बता दें भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल और श्रीलंका सार्क (SAARC) के सदस्य हैं. कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर पीएम मोदी ने सार्क देशों से कहा कि कोरोना से सार्क देशों को चौंकन्ना रहने की जरूरत हैं. कोरोना से मिलकर लड़ने की हम सबको जरूरत है.  

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कोरोना को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है. सभी देशों में कोरोना को लेकर सावधानी अभियान चलाने की जरूरत है. 1400 भारतीयों को अलग-अलग देशों से लाया गया है. इसके साथ ही पड़ोसी देशों के कुछ नागरिकों की भी हमने मदद की है.

पीएम मोदी ने कहा कि विकासशील देशों के सामने चुनौतियां ज्यादा हैं. कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन सावधानी बरतनी जरूरी है. उन्होंने कहा कि कोरोना से मिलकर लड़ना होगा. 

इसे भी पढ़ें:Corona Virus: अब रेलवे भी कोरोना वायरस से निपटने के लिए तैयार

देश के प्रधानमंत्री ने सार्क देशों को संबोधित करते हुए कहा कि सार्क देशों में 150 से कम मामले सामने आए हैं. इसे लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है. डॉक्टर्स और नर्सों को कोरोना से लड़ने की ट्रेनिंग दी जा रही है. सार्क देशों को मेडिकल टीम को पुख्ता ट्रेनिंग देने की जरूरत है.  इसके साथ ही उन्होंने बताया कि जनवरी में ही कोरोना की स्क्रीनिंग शुरू कर दी गई थी. 

COVID-19 इमरजेंसी फंड बनाने का पीएम मोदी ने दिया प्रस्ताव

पीएम मोदी ने सार्क देशों को संबोधित करते हुए COVID-19 इमरजेंसी फंड बनाने का प्रस्ताव दिया. पीएम मोदी ने कहा, 'मेरा प्रस्ताव है कि हम COVID-19 इमरजेंसी फंड बनाएं. यह हम सभी के स्वैच्छिक योगदान पर आधारित हो सकता है. भारत इस फंड के लिए 10 मिलियन अमेरिकी डॉलर के शुरुआती ऑफर के साथ शुरुआत कर सकता है.

उन्होंने कहा, 'हम परीक्षण किट और अन्य उपकरणों के साथ भारत में डॉक्टरों और विशेषज्ञों की एक रैपिड रिस्पांस टीम तैयार कर रहे.'

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने किया संबोधित 

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने सार्क देशों को संबोधित करते हुए कहा कि चीन, अमेरिका या फिर ईरान आदि की चीजें हमारे लिए उपयुक्त नहीं 

उन्होंने कहा कि भारत सार्क का एक महत्वपूर्ण सदस्य है. भारत शंघाई को-ऑपरेशन का सदस्य है. चीन का उपाय हमारे लिए कितने कारगर हैं, यह देखने की जरूरत है, जिससे कि हम ईरान की मदद कर सकें.

इसे भी पढ़ें:कोरोना वायरस के खिलाफ योगी सरकार बेहद गंभीर, उठाए कई बड़े कदम

मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने सार्क को किया संबोधित

मालदीव के राष्ट्रपति ने सार्क को संबोधित करते हुए कहा कि मैं पीएम मोदी को धन्यवाद कहना चाहता हूं. संकट के समय में हम साथ आते हैं. 2003 में सार्स के खतरे के वक्त मालदीव ने सार्क के स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक आयोजित की थी. कोई देश अकेले इस वायरस से नहीं निपट सकता है, इसमें सबकी मदद चाहिए.

श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने किया संबोधित

श्रीलंगा के राष्ट्रपति गोटबाया ने पीएम मोदी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का आयोजन करने के लिए शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि हमारी बड़ी चुनौती कोरोना वायरस को श्रीलंका में फैलने से रोकना है. श्रीलंका वापस आने वालों को 14 दिनों की निगरानी में रखा जा रहा है. हमने यूनिवर्सिटीज और शिक्षण संस्थानों को भी बंद किया है.

बांग्लादेश के पीएम ने भारत का किया शुक्रिया 

बांग्लादेश के पीएम शेख हसीना ने कहा कि भारत का शुक्रिया. उन्होंने कहा कि वुहान से हमारे 23 छात्रों को निकालने के लिए धन्यवाद. हमने सभी जिलों के अस्पतालों में कोविड-19 (COVID-19) के मरीजों के लिए स्पेशल बेड लगाए हैं. हमारे पास काफी टेस्टिंग किट, इन्फ्रारेड थर्मामीटर आदि हैं.

और पढ़ें:कोरोना वायरस को लेकर डर फैलाना बुद्धि का नाश करने जैसा: एलन मस्क

नेपाल के पीएम केपी ओली ने सार्क को किया संबोधित

केपी ओली ने कहा कि मैं पीएम मोदी का इस चर्चा का आयोजन करने के लिए शुक्रिया अदा करता हूं. नेपाल में कई एजेसियों की को-ऑर्डिनेशन कमिटी बनाई गई है. हमने विदेशियों और नॉन रेसिडेंट नेपाली लोगों मूवमेंट पर रोक लगाई है.

भूटान के पीएम लोटे शेरिंग ने भी पीएम को कहा शुक्रिया

लोटे शेरिंग ने पीएम मोदी को एक साथ लाने के लिए शुक्रिया करते हुए कहा कि इस बीमारी से निपटने के लिए सबकों साथ आने की जरूरत है. हमारा पहला मामला सामने आने के बाद उसके इलाज और उसके संपर्क में आने वाले 48 लोगों की पहचान के लिए हमने काफी मेहनत की है.

पाकिस्तान के प्रतिनिधि ने सभा को संबोधित करते हुए कहा

जिस तरह कोरोना से 138 देश प्रभावित हैं, इसलिए कोई भी देश इसके लिए कदम उठाए बिना नहीं रह सकता है. पाकिस्तान का गुण गाते हुए प्रतिनिधि जफर मिर्जा ने कहा कोविड-19 के फैलाव को सीमित करने में अब तक सफल रहा है। WHO ने इसकी प्रशंसा की है.

पाकिस्तान ने कश्मीर राग अलापा

सार्क देशों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि कोरोनो वायरस के खतरे से निपटने के लिए जम्मू-कश्मीर में सभी प्रतिबंध हटाए जाने चाहिए.

First Published : 15 Mar 2020, 05:05:21 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.