News Nation Logo

चक्रवात 'यास' को लेकर पीएम मोदी ने की अहम बैठक, NDRF की 46 टीमें तैनात

ताउते तूफान की तबाही के दर्द से देश अभी निकला भी नहीं था कि उस पर एक और चक्रवाती तूफान 'यास' (Cyclone Yaas) का खतरा मंडराने लगा है. चक्रवात यास से निपटने की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए आज पीएम मोदी ने  एक बैठक की जिसमें कई मंत्री और अधिकारियों ने भाग लिया.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 23 May 2021, 03:38:04 PM
PM Modi

PM Modi (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • पीएम मोदी ने वरिष्ठ अधिकारियों के संग मीटिंग की
  • पीएम की बैठक में अमित शाह भी मौजूद रहे

नई दिल्ली:

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Corona 2nd Wave) के बीच बीते दिनों चक्रवाती तूफान 'तौकते' (Tauktae Cyclone) ने भारी तबाही मचाई जिसके चलते कई लोगों की जानें गई और करोड़ों की सपंत्ति का नुकसान हुआ. तौकते (Tauktae) के बाद अब देश पर एक और चक्रवाती तूफान 'यास' (Cyclone Yaas) का खतरा मंडराने लगा है. ताउते तूफान की तबाही के दर्द से देश अभी निकला भी नहीं था कि उस पर एक और चक्रवाती तूफान 'यास' (Cyclone Yaas) का खतरा मंडराने लगा है. चक्रवात यास से निपटने की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए आज पीएम मोदी ने  एक बैठक की जिसमें कई मंत्री और अधिकारियों ने भाग लिया.

ये भी पढ़ें- देशभर में रेलवे ने अब तक 15,284 मीट्रिक टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन पहुंचाई

इस बैठक में पीएम मोदी ने अधिकारियों से अपतटीय गतिविधियों में शामिल लोगों को समय पर निकालने के लिए कहा है. पीएमओ ने जानकारी दी है कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने 46 टीमों को पहले से तैनात किया है. चक्रवात यासो से निपटने के लिए आज 13 टीमों को एयरलिफ्ट किया जा रहा है. इसके साथ ही भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना ने राहत, खोज, बचाव कार्यों के लिए जहाजों, हेलीकॉप्टरों को तैनात किया गया है.

पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए चक्रवात 'यास' पर वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के प्रतिनिधियों और दूरसंचार, बिजली, नागरिक उड्डयन, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालयों के सचिवों के साथ बैठक की. इस मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे. पीएमओ ने बताया कि पीएम मोदी ने उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों से लोगों की सुरक्षित निकासी सुनिश्चित करने और अपतटीय गतिविधियों में शामिल लोगों को समय पर निकालने के लिए राज्यों के साथ निकट समन्वय में काम करने का निर्देश दिया है.

ये भी पढ़ें- टूलकिट मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने पात्रा को नोटिस जारी किया

वहीं भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया है कि चक्रवात 'यास' के 26 मई की शाम तक पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटों को पार करने की उम्मीद है, जिसमें हवा की गति 155-165 किमी प्रति घंटे से लेकर 185 किमी प्रति घंटे तक होगी. इससे पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है. आईएमडी ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में लगभग 2 से 4 मीटर के तूफान की चेतावनी भी दी है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 23 May 2021, 03:22:16 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.