News Nation Logo
Banner

AN 32 विमान लापता हुआ, उस समय पायलट की पत्‍नी ATC जोरहट में तैनात थीं

पलवल के हुडा सेक्टर 2 में आशीष के घर पर उदयवीर सिंह ने बताया, शुरू में हम आशान्वित थे कि हो सकता है कि विमान चीन के पार चला गया हो और आपातकालीन लैंडिंग करने में कामयाब रहे होंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 06 Jun 2019, 09:40:35 AM
भारतीय वायुसेना का AN 32 विमान (फाइल फोटो)

भारतीय वायुसेना का AN 32 विमान (फाइल फोटो)

highlights

  • आशीष ने दोपहर 1 बजे एटीसी से संपर्क खो दिया
  • पायलट बनने से पहले MNC में काम किया था आशीष ने
  • फरवरी 2018 में हुई थी संध्‍या और आशीष की शादी 

नई दिल्‍ली:

भारतीय वायुसेना का एएन -32 विमान सोमवार दोपहर को लापता हुआ, उस समय पायलट आशीष तंवर (29) की पत्नी संध्‍या असम के जोरहाट में IAF एयर ट्रैफिक कंट्रोल में तैनात थीं. अरुणाचल प्रदेश के मेचुका में लैंडिंग ग्राउंड के लिए रात 12.25 बजे विमान ने उड़ान भरी थी. इंडियन एक्‍सप्रेस की खबर के अनुसार, फ्लाइट लेफ्टिनेंट आशीष के चाचा उदयवीर सिंह ने बताया, "आशीष ने दोपहर 1 बजे एटीसी से संपर्क खो दिया और संध्‍या ने एक घंटे बाद हमें फोन किया."

पलवल के हुडा सेक्टर 2 में आशीष के घर पर उदयवीर सिंह ने बताया, शुरू में हम आशान्वित थे कि हो सकता है कि विमान चीन के पार चला गया हो और आपातकालीन लैंडिंग करने में कामयाब रहे होंगे. उनके पिता अधिकारियों से मिलने और अपडेट लेने के लिए असम गए हैं, जबकि उनकी मां घर पर ही हैं. वह सदमे में हैं और गुमसुम हो गई हैं.

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार ने आठ कैबिनेट समितियों का किया पुनर्गठन, जानें किसको कहां मिली जगह

आशीष के पिता राधेलाल के पांच भाइयों में से उदयवीर सिंह एक हैं. छह भाई-बहनों में से पांच सेना में शामिल हो गए थे. उदयवीर सिंह ने बताया कि आशीष शुरू से राष्ट्र की सेवा में जाना चाहत थे. उनकी बड़ी बहन भारतीय वायुसेना में एक स्क्वाड्रन लीडर हैं.

पिता की नौकरी के चलते आशीष का बचपन एक जगह से दूसरी जगह जाने में बीता. छह साल पहले उनके माता-पिता पलवल के हुडा सेक्‍टर 2 में एक भूखंड खरीदकर यहां बस गए. आशीष ने विभिन्न केंद्रीय विद्यालयों में पढ़ाई की और बी.टेक पूरा किया. इसके बाद दिसंबर 2013 में भारतीय वायुसेना में शामिल होने से पहले दो या तीन महीने के लिए गुड़गांव में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में नौकरी भी की थी. उसके बाद वह वायुसेना में चला गया.

यह भी पढ़ें : नीरव मोदी की Rolls Royce और Porsche की हुई नीलामी, जानें कितने तक की लगी बोली

मई 2015 में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद आशीष जोरहाट चले गए, जहां मथुरा की रहने वाली संध्या से उनकी मुलाकात हुई. फरवरी 2018 में दोनों की शादी हो गई. घरवालों ने बताया कि दोनों आखिरी बार 2 मई को घर आए थे क्योंकि वे 26 मई तक छुट्टी पर थे. उन्होंने 18 मई को पलवल छोड़ दिया और छुट्टी के लिए बैंकॉक चले गए. वहां से वे सीधे असम चले गए.

First Published : 06 Jun 2019, 09:40:35 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो