News Nation Logo

वित्तीय व्यवस्था के चरमराने पर अफगान सहायता कोष लक्ष्य तक पहुंचा : यूएन

वित्तीय व्यवस्था के चरमराने पर अफगान सहायता कोष लक्ष्य तक पहुंचा : यूएन

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 23 Nov 2021, 08:45:01 AM
Photo taken

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

संयुक्त राष्ट्र: अफगानिस्तान में सहायता राशि अपने लक्ष्य तक पहुंच गई है क्योंकि वहां इसकी जरूरत बढ़ गई है, जबकि संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि देश की बैंकिंग और वित्तीय व्यवस्था चरमराने के कगार पर है। इसकी जानकारी संयुक्त राष्ट्र के एक प्रवक्ता ने दी।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के मुख्य प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा, क्रेडिट बाजार में गैर-निष्पादित ऋण 2020 के अंत में लगभग 30 प्रतिशत से बढ़कर इस साल सितंबर में 57 प्रतिशत हो गया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने दुजारिक के हवाले से कहा कि चूंकि बचत को वापस लेने के लिए बैंक संघर्ष कर रहा है। यूएनडीपी का अनुमान है कि जमा का आधार साल के अंत तक 40 प्रतिशत तक कम हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह रिपोर्ट एक चेतावनी है कि अफगान बैंकिंग और वित्तीय प्रणाली ध्वस्त होने के कगार पर हैं। यह दस्तावेज एक रूपरेखा है, जिसमें जमा बीमा, बैंकिंग प्रणाली के लिए पर्याप्त तरलता और वास्तविक अर्थव्यवस्था के लिए क्रेडिट गारंटी और ऋण चुकाने में देरी के विकल्प शामिल हैं।

मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने कहा कि अफगानिस्तान में मानवीय प्रतिक्रिया बेहतर वित्त पोषण और जीवन रक्षक सहायता तक पहुंच के साथ आगे बढ़ रही है। लेकिन जरूरतें बढ़ती जा रही हैं और संकट में लोगों तक पहुंचने की मानवीय क्षमता से आगे निकल रही हैं।

इसने साल के आखिरी चार महीनों में सबसे ज्यादा जरूरतमंद 1.1 करोड़ लोगों की मदद के लिए 60.6 लाख डॉलर की मांग की।

उन्होंने कहा, हम समुदाय के उदार योगदान के लिए आभारी हैं।

हालांकि, नकदी और तरलता संकट के बीच वित्तीय प्रणाली की चुनौतियों के कारण सभी वित्तीय प्रतिबद्धताओं पर अभी तक काम नहीं किया गया है।

प्रवक्ता ने कहा कि आधे लोगों को यह नहीं पता कि उन्हें अपना अगला भोजन कहां मिल सकता है। चार में से एक गर्भवती महिला और दो में से एक बच्चा कुपोषित है।

उन्होंने कहा कि 1 सितंबर से मध्य नवंबर तक, संयुक्त राष्ट्र के भागीदारों और गैर-सरकारी संगठनों ने 72 लाख लोगों को भोजन सहायता प्रदान की। वे प्राथमिक और माध्यमिक स्वास्थ्य देखभाल परामर्श के साथ 880,000 से ज्यादा लोगों तक पहुंचे, पानी के ट्रकिंग के माध्यम से लगभग 1,99,000 सूखा प्रभावित लोगों की सहायता की और तीव्र कुपोषण के लिए 5 साल से कम उम्र के 1,78,000 से अधिक बच्चों का इलाज किया।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 23 Nov 2021, 08:45:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.