News Nation Logo
Banner

बड़ा खुलासा : पीएफआई और ISI ने रची थी दिल्‍ली दंगों की साजिश

दिल्ली दंगों की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. शुरुआती जांच के अनुसार, दिल्‍ली में हिंसा के पीछे पीएफआई के हाथ होने के संकेत मिले हैं. यह भी कहा जा रहा है कि दिल्‍ली दंगों के तार आईएसआई (ISI) से भी जुड़ रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 28 Feb 2020, 02:34:07 PM
Delhi Violence

बड़ा खुलासा : पीएफआई और ISI ने रची दिल्‍ली दंगों की साजिश (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्‍ली:

दिल्ली दंगों (Delhi Riots) की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. शुरुआती जांच के अनुसार, दिल्‍ली में हिंसा के पीछे पीएफआई (PFI) के हाथ होने के संकेत मिले हैं. यह भी कहा जा रहा है कि दिल्‍ली दंगों के तार आईएसआई (ISI) से भी जुड़ रहे हैं. कुछ अहम मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल से यह संकेत मिले हैं. ये मोबाइल नंबर हिंसा के दौरान अलीगढ़ और दिल्ली में ये मोबाइल नंबर लगातार एक्‍टिव थे. दूसरी ओर, पाकिस्‍तानी ट्विटर और फेसबुक अकाउंट से लगातार फर्जी वीडियो शेयर हो रहे थे. बताया जा रहा है कि फर्जी वीडियो और कंटेंट के जरिए हिंसा का डर दिखाकर दंगों की साजिश रची गई.

यह भी पढ़ें : कौन कर रहा है शाहीन बाग प्रदर्शन की फंडिंग? दिल्‍ली हाई कोर्ट ने केंद्र-दिल्‍ली सरकार को जारी किया नोटिस

अब तक 39 लोगों की मौत
रविवार से शुरू हुई दिल्ली हिंसा में अब तक 39 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि 200 से भी ज्यादा लोग घायल हुए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आईबी ऑफिसर अंकित शर्मा की मौत के पीछे आप पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है. ताहिर के छत पर से भारी मात्रा में पेट्रोल बम, पत्थर और गुलेल पाया गया है. वहां पर बोतले और हमले के लिए इस्तेमामल की जाने वाली कई आपत्‍तिजनक चीजें बरामद की गई हैं.

यह भी पढ़ें : एसएन श्रीवास्‍तव होंगे दिल्‍ली पुलिस के नए कमिश्‍नर, अमूल्‍य पटनायक की जगह लेंगे

दिल्ली हिंसा का मास्टरमाइंड!
आप पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है. दिल्ली पुलिस ने दयालपुर पुलिस स्टेशन में IPC की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. ताहिर हुसैन पर आरोप लग रहा है कि हिंसा भड़काने में उनका हाथ है. हिंसा में मारे गए इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अफसर अंकित शर्मा के परिजनों ने ताहिर हुसैन पर हत्या करने का आरोप लगाया है. हालांकि ताहिर हुसैन ने खुद को निर्दोष बताते हुए पूरे मामले की जांच की मांग की है.

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस लीडर हार्दिक पटेल की गिरफ्तारी पर लगाई रोक

60 घंटे में नहीं हुई कोई भी वारदात
दिल्‍ली पुलिस के नवनियुक्‍त कमिश्‍नर एसएन श्रीवास्‍तव ने मीडिया से बातचीत में कहा, किसी भी बख्शा नहीं जाएगा. पिछले 60 घंटे से कोई हिंसा की वारदातें नहीं हुई हैं. बीते दो दिनों में हमारे पुलिसकर्मियों ने लोगों से संपर्क किया. उन्होंने कहा कि पुलिस के कामों की सभी ने सराहना की है और लोग जल्द से जल्द शांति की बहाली चाहते हैं. अभी हालात ठीक हैं और जल्द ही सब सामान्य हो जाएगा. पिछले दो दिनों में 331 अमन कमेटियों की बैठक हुई हैं. जहां सभी ने यह भरोसा दिलाया है कि वे शांति बहाल करने की दिशा में काम कर रहे हैं.

First Published : 28 Feb 2020, 02:10:13 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×