News Nation Logo
भारत में अब तक कोविड के 3.46 करोड़ मामले सामने आए हैं: लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हरियाणा में अगले आदेश तक गुरुग्राम, सोनीपत, फरीदाबाद और झज्जर के स्कूलों को बंद करने का आदेश Omicron Update: 31 देशों में 400 से ज्यादा संक्रमण के मामले मलेशिया में ओमीक्रॉन के पहले मामले की पुष्टि अमेरिका में ओमीक्रॉन से संक्रमण के मामले बढ़कर 8 हुए केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: CCTV के मामले में दिल्ली दुनिया में नंबर 1 केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में महिलाएं पूरी तरह सुरक्षित केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में 1.40 कैमरे और लगाए जाएंगे थोड़ी देर में ओमीक्रॉन पर जवाब देंगे स्वास्थ्य मंत्री IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक के रूप में ओकामोटो की जगह लेंगी गीता गोपीनाथ 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दलों के सांसदों का गांधी प्रतिमा के पास विरोध-प्रदर्शन यमुना एक्‍सप्रेसवे पर सुबह सुबह बड़ा हादसा, मप्र पुलिस के दो जवानों समेत चार की मौत जयपुर में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित

पेगासस स्पाइवेयर मुद्दा भारत का आंतरिक मामला : इजरायली राजदूत

पेगासस स्पाइवेयर मुद्दा भारत का आंतरिक मामला : इजरायली राजदूत

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 28 Oct 2021, 04:20:01 PM
Pegau pyware

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: इजरायल के राजदूत नाओर गिलोन ने गुरुवार को कहा कि पेगासस जासूसी मुद्दा भारत का आंतरिक मामला है।

उन्होंने कहा कि एनएसओ एक निजी कंपनी है और उसके पास अपना सॉफ्टवेयर केवल सरकारी संस्थाओं को बेचने का लाइसेंस है।

गिलोन ने कहा, यह भारत का आंतरिक मुद्दा है और मैं इस बिंदु से आगे नहीं बोल सकता। वे इसे गैर-सरकारी संस्थाओं को नहीं बेच सकते हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत सरकार उनसे संपर्क करेगी, उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता कि भारत सरकार ने उनसे संपर्क करेगी या नहीं।

पिछले साल दिल्ली में इजरायली दूतावास के पास हुए विस्फोट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अपराधियों को अभी तक पकड़ा नहीं जा सका है, हालांकि दोनों देशों की जांच एजेंसियां एक दूसरे का सहयोग कर रही हैं।

गिलोन ने कहा, हम सभी दूतावास कर्मियों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए भारत सरकार के आभारी हैं।

इजरायल, भारत, अमेरिका और संयुक्त अरब अमीरात के साथ नवगठित क्वाड के बारे में बात करते हुए, राजदूत ने कहा कि यह पूरी तरह से एक आर्थिक मंच है जो भागीदार देशों के बीच आपसी सहयोग पर आधारित है।

उन्होंने कहा, इसका अभी तक सैन्य घटक से कोई लेना-देना नहीं है।

अफगानिस्तान के बारे में बात करते हुए गिलोन ने कहा कि देश का इस्तेमाल चरमपंथ के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

विदेश मंत्री एस जयशंकर की हाल ही में संपन्न यात्रा का विवरण साझा करते हुए उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों के मामले में यह यात्रा सबसे सफल रही।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 28 Oct 2021, 04:20:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.