News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया CM Channi के गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी पहुंचने पर अध्यापकों का ज़ोरदार प्रदर्शन अध्यापकों की मांग - 7वें पे कमीशन की सिफारिशें पंजाब हों लागू ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की बाबा साहब आंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस आज. बसपा कर रही बड़ा कार्यक्रम नीट काउंसिलिंग में हो रही देरी के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टर्स आज ठप रखेंगे सेवा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन आज आ रहे भारत. कई समझौतों को देंगे अंतिम रूप पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह आज करेंगे अमित शाह-जेपी नड्डा से मुलाकात.

दिग्विजय के सियासी एजेंडे में पन्ना को तरजीह, उठे सवाल

दिग्विजय के सियासी एजेंडे में पन्ना को तरजीह, उठे सवाल

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 14 Nov 2021, 12:15:01 PM
Patna

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को कांग्रेस ने देशव्यापी आंदोलनों की समिति का प्रमुख बनाया है। इन आंदोलनों को धार देने की जिम्मेदारी उनकी है, लेकिन उनके सियासी एजेंडे में इन दिनों सबसे ऊपर खजुराहो संसदीय क्षेत्र का पन्ना जिला है। यही कारण है कि सियासी गलियारों में एक ही सवाल उठ रहा है कि राष्ट्रीय आंदोलनों की जिम्मेदारी संभालने वाले सिंह के एजेंडे में आखिर सबसे ऊपर पन्ना क्यों है?

बीते कुछ दिनों की सियासी गतिविधि पर नजर दौड़ाई जाए तो एक बात सामने आती है कि पन्ना में जमीन के कब्जे और रेत खनन को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बड़ा मुददा बनाने की कोशिश की है। रेत खनन को लेकर वे लोकायुक्त गए हैं, तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी पत्र लिखे हैं।

दिग्विजय सिंह का आरोप है कि रेत खनन भाजपा नेताओं के संरक्षण में चल रहा है तो वही मुड़िया पहाड़ पर भाजपा से जुड़े अंकुर त्रिवेदी ने कब्जा कर रखा हैं । मुड़िया पहाड़ के मामले में मुख्यमंत्री चौहान ने जिला प्रशासन से जांच कराई है। इस मामले में जांच प्रतिवेदन तैयार कर सरकार को भेजा गया है, इसमें इस बात का उल्लेख है कि आदिवासी हीरालाल और अंकुर त्रिवेदी के बीच जमीन की खरीदी बिक्री का सौदा हुआ और त्रिवेदी की ओर से राशि का भुगतान भी हीरालाल को किया, जिसकी बिक्री की अनुमति राजस्व मंडल ने दी थी।

सियासी गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि आखिर दिग्विजय सिंह पन्ना के मसले पर इतनी दिलचस्पी क्यों ले रहे हैं, क्योंकि जमीनों पर कब्जे और रेत खनन तो प्रदेश के बहुत से हिस्सों में चल रहा है।

चर्चा इस बात की भी है कि पन्ना जिले में दिग्विजय सिंह के कार्यकाल में सरकारी जमीन उनके कुछ प्रभावशाली करीबी लोगों को दी गई थी। इसमें 20 हेक्टेयर से अधिक जमीन तो पड़रिया कला में ही दिग्विजय सिंह के करीबियों के नाम पर है। पन्ना मुख्यालय में कांग्रेस की पूर्व जिला अध्यक्ष दिव्या रानी सिंह को फलों की खेती के लिए दी गई जमीन हाल ही में प्रशासन ने कब्जा मुक्त कराई है। दिव्या रानी पर गलत जानकारी देने पर उच्च न्यायालय जबलपुर ने जुमार्ना भी लगाया है। उधर, केन नदी के किनारे एक जमीन कथित तौर पर दिग्विजय सिंह के दामाद ने खरीदी है। इस पर जिला प्रशासन की नजर टेढ़ी है। परिणाम स्वरूप दिग्विजय सिंह के एजेंडे में पन्ना सबसे ऊपर आ गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से भी जब पन्ना को लेकर सवाल पूछे गए तो उन्होंने एक ही जवाब दिया, प्रमाण हो तो सामने लाएं। इतना ही नहीं दिग्विजय सिंह ट्वीट के जरिए भी खजुराहो सांसद शर्मा पर हमले बोल रहे है। इसके साथ ही दिग्विजय िंसह दो दिन के पन्ना प्रवास पर जाने वाले है। इस दौरान भी उनका मुददा रेत खनन और जमीन का मसला रहने वाला है।

दिग्विजय सिंह के पन्ना प्रेम पर भाजपा के प्रवक्ता डा हितेश वाजपेयी कहते है कि आज बड़ी मजेदार बात हुई। गयी रात दिलों पर राज करने वाली गोंडों की रानी से भोपाल की क्या मुलाकात हुई, कि छुटभय्ये-राजाओं की सुबह से तबियत खराब हुई। भू-माफिया दिव्य-रानी पर मुरव्वत और गोंडों की रानी से ह्यनफरत। बहुत नाइंसाफी है. राजा साहब।

कांग्रेस के ही एक वरिष्ठ नेता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा , राज्य की राजनीति में दिग्विजय सिंह ने हमेशा सोची समझी रणनीति के तहत चालें चली है, करीबियों को लाभ उनकी प्राथमिकता रही है। कमलनाथ की सरकार बनी तो बेटे को जूनियर होने के बावजूद केबिनेट मंत्री बनवाना था, तो सभ्ीा को केबिनेट बनवाया। अब पन्ना में उनके करीबियों के कारनामे उजागर होने की स्थिति है तो वहां के सांसद विष्णु दत्त शर्मा को निशाने पर लिया। उनकी कोशिश होती है कि जो भी नेता उन पर या उनके करीबी केा घेरे, तो उस नेता को दवाब में लाया जाए। अब वे पूरी तरह शर्मा को दवाब में लेना चाह रहे है और पन्ना केा सियासी एजेंडे में सबसे उपर लिए हुए है। इस समय उनके सियासी दुश्मन नंबर वन शिवराज नहीं बल्कि शर्मा है। पिछले दिनों शर्मा को भावी मुख्यमंत्री बताकर भी विवाद खड़ा करने की कोशिश की गई थी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 14 Nov 2021, 12:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो