News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

निर्भया के पिता बोले, रेप जैसी घटनाएं रुकेंगी नहीं, लेकिन पीड़ितों को न्याय मिलने से संख्या में आएगी कमी

पटियाला हाउस कोर्ट में मंगलवार को निर्भया के गुनहगारों के खिलाफ डेथ वारंट जारी कर दिया. निर्भया के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी पर लटका दिया जाएगा.

Arvind Singh | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 07 Jan 2020, 11:09:54 PM
निर्भया केस में दोषियों के डेथ वारंट पर कोर्ट का फैसला कुछ ही देर में

निर्भया केस में दोषियों के डेथ वारंट पर कोर्ट का फैसला कुछ ही देर में (Photo Credit: ANI Twitter)

नई दिल्‍ली:

पटियाला हाउस कोर्ट में मंगलवार को निर्भया के गुनहगारों के खिलाफ डेथ वारंट जारी कर  दिया. निर्भया के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी पर लटका दिया जाएगा. मंगलवार को कोर्ट ने जब फैसला सुनाया तो निर्भया के माता-पिता ने कहा कि आज उनके लिए बड़ा दिन है. उनकी बेटी को इंसाफ मिल गया. 

निर्भया के पिता बद्रीनाथ सिंह ने कहा कि यह कहना मुश्किल है कि ऐसी घटनाएं रुकेंगी, लेकिन अगर पीड़ितों को न्याय मिलना शुरू हो जाता है तो ऐसे अपराधों की संख्या में कमी आएगी.



दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि निर्भया के भाई के रूप में मेरा दिल आज अदालत के फैसले से राहत महसूस हो रहा है. मैं उनके परिवार के साथ पूरे समर्थन में खड़ा हूं.



4 दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे जेल नंबर -3 में फांसी दी जाएगी.

कांग्रेस की सुष्मिता देव ने कहा- निर्भया को न्याय मिला है. निर्भया केस को खत्म होने में 7 साल लगा जबकि यह पूरी तरह खुला केस था तो अन्य मामलों में क्या होता होगा, जहां सबूत स्पष्ट नहीं. यह राजनीतिक वर्ग और कानूनी समुदाय के लिए आत्मचिंतन का वक्त है कि समस्या कहां है और इतना लंबा वक्त सजा देने में क्यों लगता है.



तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने एक जल्लाद की सेवा लेने के लिए यूपी जेल को लिखा खत. अदालत द्वारा आज तय किए गए सभी चारों दोषियों की फांसी की तरीख और समय के बारे में जानकारी दी.



गृहराज्य मंत्री किशन रेड्डी ने कहा- न्याय के लिए लोगों का इंतजार आज खत्म हुआ. यह दोषियों को फांसी देने के बारे में नहीं है, बल्कि अपराधियों को लेकर जीरो सहिष्णुता होनी चाहिए और यह फैसला उसे दिखाता है. ऐसे मामले में जल्द से जल्द फैसला सुनाया जाना चाहिए.

 दोषियों के वकील ने कहा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल करेंगे क्यूरेटिव पिटीशन



पंजाब महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी ने कहा- यह बहुत अच्छा निर्णय है और मैं इसका सम्मान करती हूं। अब निर्भया की आत्मा को शांति मिलेगी. आज देश की हर बेटी को न्याय मिला है.



दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवा बोली, इस फैसले का स्वागत करती हैं. यह इस देश में रहने वाले सभी 'निर्भय' की जीत है. मैं निर्भया के माता-पिता को सलाम करता हूं, जिन्होंने 7 साल तक संघर्ष किया. इन लोगों को सजा देने में 7 साल क्यों लगे? इस समय अवधि को कम क्यों नहीं किया जा सकता है?



निर्भया के पिता बद्रीनाथ ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि मैं अदालत के फैसले से खुश हूं. दोषियों को 22 जनवरी को 7 बजे फांसी दी जाएगी. इस फैसले से ऐसे अपराध करने वालों लोगों में डर पैदा होगा.



निर्भया की मां ने कहा- हमारे लिए बहुत बड़ा दिन. 

निर्भया के दोषियों का डेथ वारंट जारी. 22 जनवरी को सुबह 7 बजे निर्भया के चार दोषियों को फांसी से लटकाया जाएगा. 

कोर्ट रूम में मीडियाकर्मियों को एंट्री नहीं, कोर्ट रूम में सिर्फ सम्बंधित पक्ष के वकील के रहने की इजाजत है. बाकी सभी को अभी कोर्ट रूम के बाहर इतंज़ार करने को कहा गया है.

दोषी अक्षय ने जज से कुछ कहने की इजाजत मांगी. वह कोर्ट के सामने अपना पक्ष रख रहा है. 

वीडियो कांफ्रेंसिंग शुरू हो चुकी है. कुछ ही देर में पटियाला हाउस कोर्ट से आएगा डेथ वारंट पर फैसला 

जब आदेश पढ़ा जाएगा तो चारो दोषियों पवन, विनय ,अक्षय, मुकेश की पेशी होगी.

वीडियो कांफ्रेंसिंग में इंटरनेट की समस्‍या आड़े आ रही है. इसलिए इसमें देरी हो रही है. 

पटियाला हाउस कोर्ट में जज सतीश अरोड़ा पहुंच गए हैं. कोर्ट डेथ वारंट पर फैसला सुनाएगा. इस दौरान दोषियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी भी होगी. 

First Published : 07 Jan 2020, 03:52:22 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.