News Nation Logo

पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमत से आम आदमी की जेब पर बढ़ा बोझ

Petrol Diesel Latest News: देश में पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर हाहाकार मचा है. संसद में भी महंगाई और पेट्रोल डीज़ल की कीमतों को लेकर विपक्ष सरकार पर कटाक्ष कर रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 11 Mar 2021, 07:39:10 PM
Petrol Diesel

पेट्रोल पंप (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • पेट्रोलियम मंत्रालय से जुड़ी है संसद की स्थायी समिति
  • समिति ने केंद्र और राज्य सरकार को दी ये नसीहत
  • पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की मांग जोर पकड़ी

नई दिल्ली:

Petrol Diesel Latest News: देश में पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर हाहाकार मचा है. संसद में भी महंगाई और पेट्रोल डीज़ल की कीमतों को लेकर विपक्ष सरकार पर कटाक्ष कर रहा है. पेट्रोलियम मंत्रालय से जुड़ी समिति ने भी ये माना है कि इससे आम आदमी की जेब पर भार बढ़ा है और परेशानी भी बढ़ी है. ऐसे में इस बात को लेकर चिंता भी ज़ाहिर की है कि इस मामले को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है. इसको देखते हुए पेट्रोलियम मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति ने केंद्र और राज्यों को सलाह दी है कि वो जल्द इस मामले पर कोई हल निकालें, जिससे आम जनता को महंगे तेल का दंश न झेलना पड़े.

पेट्रोलियम मंत्रालय से जुड़ी समिति ने कोरोना काल का ज़िक्र करते हुए माना कि जब क्रूड ऑयल की कीमतें घट रही थीं तो सरकार टैक्स बढ़ा रही थी जिससे कीमतों पर असर पड़ा है. समिति ने माना कि ईंधन के दामों में 36 फीसदी एक्साइज ड्यूटी और 23 से 28 फीसदी राज्यों द्वारा वैट वसूला जाता है और तीन से चार फीसदी तेल कंपनियों द्वारा डीलरों को कमीशन दिया जाता है. पेट्रोलियम मंत्रालय से जुड़ी संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष बीजेपी सांसद रमेश बिधूरी हैं. 

आपको बता दें कि वहीं, पेट्रोल और डीजल को जीएसटी (GST) के दायरे में लाने की कवायत राजनीतिक दलों की ओर से तेज हो गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महाराष्ट्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महाराष्ट्र के डिप्टी चीफ मिनिस्टर अजित पवार का कहना है कि पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने से राज्य सरकारों के साथ केंद्र सरकार को भी फायदा होगा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अगर यह कदम उठाती है तो महाराष्ट्र सरकार इस फैसले का स्वागत करेगी. वहीं दूसरी ओर दिल्ली विधानसभा में नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी का कहना है कि पेट्रोल-डीजल को अगर GST के दायरे में लाने से दोनों की कीमतों में 25 रुपये तक की कमी हो जाएगी. इसके जवाब में दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने विधानसभा में कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की अपनी मांग रखी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सत्येंद्र जैन ने नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी से कहा है कि आप केंद्र सरकार से मुलाकात करने के लिए एक प्रतिनिधि मंडल लेकर चलें. आपके साथ आम आदमी पार्टी के सभी विधायक साथ चलने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि इस कदम से दिल्ली और पूरे देश को फायदा होगा. बता दें कि चर्चा के दौरान रामवीर सिंह बिधूड़ी ने आरोप लगाया था कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार के द्वारा लगाए गए ज्यादा वैट की वजह से पेट्रोल और डीजल की कीमतें ज्यादा हैं.

चारों महानगर में पेट्रोल-डीजल का दाम

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, RBI गवर्नर शक्तिकांत दास, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और कई लोग पेट्रोल-डीजल की महंगाई को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं. इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन से मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली में आज (11 मार्च) को पेट्रोल-डीजल के दाम में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं हुआ है. दिल्ली में पेट्रोल 91.17 रुपये प्रति लीटर, डीजल 81.47 रुपये प्रति लीटर, मुंबई में पेट्रोल 97.57 रुपये प्रति लीटर और डीजल 88.60 रुपये प्रति लीटर, कोलकाता में पेट्रोल 91.35 रुपये प्रति लीटर और डीजल 84.35 रुपये प्रति लीटर, चेन्नई में पेट्रोल 93.11 रुपये प्रति लीटर और डीजल का दाम 86.45 रुपये प्रति लीटर है.  

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 11 Mar 2021, 05:32:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो