News Nation Logo

Record: देश के इस वित्तमंत्री के नाम दर्ज है सबसे ज्यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड

देश में अब तक सबसे ज्यादा बार बजट किसने पेश किया यह सवाल तो हर किसी के मन में घूमता ही होगा तो चलिए हम आपको बता ही देते हैं

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 27 Jan 2020, 09:09:29 PM
निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

पार्लियामेंट में 31 जनवरी से बजट सत्र शुरू हो रहा है और इसके अगले ही दिन यानि की 1 फरवरी को देश की पहली महिला वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण नरेंद्र मोदी सरकार की दूसरी पारी के लिए बजट पेश करेंगी. इसके पहले जुलाई में भी निर्मला सीतारमण देश का अंतरिम बजट पेश कर चुकी हैं. देश में अब तक सबसे ज्यादा बार बजट किसने पेश किया यह सवाल तो हर किसी के मन में घूमता ही होगा तो चलिए हम आपको बता ही देते हैं कि देश में अबतक किस वित्तमंत्री ने सबसे ज्यादा बार बजट पेश किया है और कितनी बार पेश किया है.

देश में अब तक सबसे ज्यादा बार आम बजट पेश करने का रिकॉर्ड भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के नाम है. आपको बता दें कि देश के चौथे प्रधानमंत्री थे मोरारजी देसाई उससे पहले बतौर केंद्रीय वित्तमंत्री वो देश के लिए 10 बजट पेश कर चुके थे. मोरारजी देसाई ने सबसे पहली बार मार्च, 1958 को बजट पेश किया था वो अगस्त 1963 तक देश के वित्तमंत्री रहे थे. उसके बाद मार्च 1967 से जुलाई 1969 तक एक बार फिर उन्होंने केंद्रीय वित्तमंत्री के पद की जिम्मेदारी संभाली. मोरारजी देसाई के बाद यह सबसे ज्यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड भी कांग्रेस नेता के पास ही है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने दूसरे नंबर पर रहते हुए कुल 8 बार बजट पेश किया है.

यह भी पढ़ें-BJP कार्यकर्ता की हत्या मामले में पक्षकार बनाने की अर्जी पर न्यायालय ने WB सरकार से मांगा जवाब

मोरारजी देसाई के पेश किए गए 10 बजट में से 2 बजट अंतरिम बजट थे जबकि आठ पूर्ण बजट थे इनमें से साल 1964 और साल 1968 में ऐसे भी मौके आए, जब मोरारजी देसाई ने अपने जन्मदिन पर संसद में आम बजट पेश किया था. आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई का जन्मदिन 4 वर्षों में एक बार ही आता था क्योंकि वो 26 फरवरी को पैदा हुए थे यानि कि लीप ईयर में और लीप इयर में 4 साल बाद फरवरी 29 दिनों की होती है इसी वजह से उनका जन्मदिन 4 साल में एक बार ही आता था. साल 1977 में जब पहली बार देश में गैर कांग्रेसी सरकार बनी थी तब मोरारजी देसाई देश के प्रधानमंत्री बने थे. वह 24 मार्च, 1977 से 28 जुलाई, 1979 तक देश के प्रधानमंत्री रहे थे.

यह भी पढ़ें-Nirbhaya Gang Rape Case : दया याचिका खारिज होने पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा दोषी

वहीं पी चिदंबरम साल 1996 में पहली बार एच. डी. देवेगौड़ा की अगुवाई में बनी संयुक्त मोर्चा सरकार में वित्तमंत्री बने थे इस दौरान वो 21 अप्रैल 1997 तक वित्तमंत्री बने रहे इसके बाद एक मई, 1997 से लेकर 19 मार्च, 1998 तक वह तत्कालीन प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की सरकार में भी वित्तमंत्री बने रहे. इसके बाद साल 2004 में डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में बनी यूपीए-1 की सरकार में चिदंबरम 22 मई, 2004 से लेकर 30 नवंबर, 2008 तक वित्तमंत्री रहे. और चौथी बार फिर चिदंबरम मनमोहन सिंह की अगुवाई में यूपीए-2 की सरकार में 31 जुलाई, 2012 से लेकर 26 मई, 2014 तक वित्तमंत्री रहे.

First Published : 27 Jan 2020, 08:55:59 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.