News Nation Logo
Banner

कृषि कानूनों पर न तो सरकार को झुकना चाहिए और न ही किसानों कोः पारस भाई जी

श्री पारस भाई जी ( Paras Bhai Ji ) बोले कि भारतीय किसान और सरकार के बीच एक साझा बातचीत होनी चाहिए. जिसमें किसान आंदोलन का समापन बहुत ही सुखद स्थिति में हो क्योंकि किसान देश की शान हैं और किसान मन का भोला होता है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 17 Feb 2021, 12:39:53 PM
paras bhai on kisan andolan

पारस भाई (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

पारस परिवार के मुखिया ( Paras Parivaar ) श्री पारस भाई जी ( Paras Bhai Ji ) बोले कि भारतीय किसान और सरकार के बीच एक साझा बातचीत होनी चाहिए. जिसमें किसान आंदोलन का समापन बहुत ही सुखद स्थिति में हो क्योंकि किसान देश की शान हैं और किसान मन का भोला होता है. वो जमीन से केवल सोना निकालना जानता है बाकि उसे कुछ पता नहीं. इसलिए किसान भाईयों के साथ सरकार की बात निर्णायक होनी चाहिए. पारस भाई ने कहा कि ये बात कुछ तुम चलो और कुछ हम चलें की तरह से होना चाहिए और इसमें न तो किसी की जीत होनी चाहिए और न ही हार. क्योंकि सरकार भी भारत देश की है और लोग भी भारत देश के है.

पारस भाई ने आगे कहा कि इसीलिए इसमें तकरार नहीं इक़रार होना चाहिए. क्योंकि अगर इसमें तकरार हुई तो विदेशों में इसका सन्देश अच्छा नहीं जायेगा. और विरोधी ताकतें हमारे ही लोगो में फूट डाल कर उन्हें लड़वाने में लगी रहेंगी. जिसमें किसी और का नहीं भारतीयों का ही नुकसान होगा क्योंकि विरोध कर रहे किसानों को बहुत से लोग अपने राजनीतिक लाभ के लिए पहले से ही भ्रमित कर रहे है ऐसे में यहां विपक्ष को भी अपनी भूमिका साफ़ करनी चाहिए और किसानों के हित के लिए सरकार और किसानो को एक मंच पर ला कर हर समस्या का हल किसी भी कीमत पर निकालना चाहिएं

कृषि कानून पर भारतीय सरकार और किसान दोनों का ही समर्थन करते हुए पारस परिवार (Paras Parivaar) के मुखिया श्रीपारस भाई जी (Paras Bhai Ji) ने यह बात कही है दोनों पक्ष चाहे भारतीय सरकार हो या भारतीय किसान.  दोनों को पूरी परिपक़्वता का परिचय देते हुए और देश के हित को ध्यान में रख कर समस्या का जल्द निपटारा करना चाहिए. यहां भारतीय सरकार को ख्याल रखना चाहिए की ऐसा कोई सन्देश दुनिया में न जाये कि  भारत का अन्नदाता किसान हार गया और ऐसा ही भारत के किसान को देखना चाहिए कि ऐसा कोई सन्देश दुनिया में न जाये कि भारतीय सरकार किसान संगठनों के आगे झुक गई.

उन्होंने आगे कहा कि जो भी हो प्रेम और शांति से हो क्योंकि शांति सबको प्रिय है क्योंकि सरकार को हराना लक्ष्य नहीं है. लक्ष्य है किसी का अहित नहीं हो न किसान का सिर झुके और न सरकार का कुछ किसान माने और कुछ सरकार.

मां भगवती की साधना के साथ-साथ समाज की सेवा करते सच्चे साधक, एस्ट्रोलॉजर, पवित्र सूर्य कुण्डली के रचयिता, (Pavitra Suarya Kundali) बेहतरीन मोटिवेटर (Motivator), मां भगवती व शिव के भजनों (Maa Bhagwati Bhajans) से दुनिया को मंत्रमुग्ध कर देने वाले पारस परिवार के मुखिया ( Paras Parivaar ) श्री पारस भाई जी (Paras Bhai Ji) ने कहा, इस समय सबको देश के अच्छे भविष्य के लिए मिल कर हर समस्या का हल निकालना चाहिए

 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 17 Feb 2021, 12:39:53 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो