News Nation Logo
Banner

कश्मीर को लेकर दुनिया के सामने फिर पिटा पाकिस्तान, मालदीव संसद में भारत ने दिया तगड़ा जवाब

. भारत के राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश जो समिट में शामिल हुए थे उन्होंने पाकिस्तान असेंबली की डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी को रोका और कहा कि कश्मीर भारत का आतंरिक मामला है. इस पर किसी और को बोलने का हक नहीं है.

By : Nitu Pandey | Updated on: 01 Sep 2019, 07:52:05 PM
राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह

राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की बौखलाहट जारी है, इसके साथ ही जारी है भारत के हाथों हर पर उसका पिट जाना. पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जम्मू-कश्मीर का मुद्दा उठाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन हाथ आ रही नाकामी. एक बार फिर से अंतराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान की इज्जत उछली. मालदीव संसद में रविवार को एशिया स्पीकर्स समिट हुई. इस दौरान पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर का मुद्दा उठाने की कोशिश की.

लेकिन वो ऐसा नहीं कर पाया. भारत के राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश जो समिट में शामिल हुए थे उन्होंने पाकिस्तान असेंबली की डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी को रोका और कहा कि कश्मीर भारत का आतंरिक मामला है. इस पर किसी और को बोलने का हक नहीं है.

इसे भी पढ़ें:मोदी सरकार को अब GST में भी लगा बड़ा झटका, अगस्त में एक लाख करोड़ से कम हुआ कलेक्शन

इतना ही नहीं उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने पाकिस्तान को आतंकवाद के साथ-साथ पीओके के मुद्दे पर भी घेरा. उन्होंने कहा कि आतंकवाद दुनिया के लिए बड़ा खतरा है. पाकिस्तान को क्षेत्रीय हितों को ध्यान में रखते हुए सीमा पार आतंकवाद को रोकना होगा. किसी भी लिखित बयान को सर्वसम्मति से जगह नहीं मिलनी चाहिए.

जिसके बाद मालदीव संसद के स्पीकर ने भारत को भरोसा दिया कि कश्मीर पर दिए गए सभी बयानों को रिकॉर्ड से हटा दिया जाएगा. मालदीव ने भी कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ नहीं दिया.

और पढ़ें:पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बयान पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिया ये जवाब

गौरतलब है कि 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को मोदी सरकार ने हटा दिया था. जिसके बाद से पाकिस्तान भड़का हुआ है और वो इस मुद्दे को हर जगह रखने की कोशिश कर रहा है. पहले उसने इस मुद्दे को यूएनएसी में उठाने की कोशिश की. लेकिन यहां भी उसे चीन के अलावा किसी और देश का साथ नहीं मिला.

First Published : 01 Sep 2019, 07:14:14 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.