News Nation Logo
Banner

भारत को खुश करने के लिए पाकिस्तान ने उठाया ये बड़ा कदम, पाक मीडिया से ऐसी आ रही खबर

भारत-पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर बनाने के लिए शिलान्यास के बाद अब पीओके में शारदा पीठ के लिए भी कॉरिडोर की मांग तेज हो गई है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 25 Mar 2019, 06:55:12 PM
शारदा पीठ (फाइल फोटो)

शारदा पीठ (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत-पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर बनाने के लिए शिलान्यास के बाद अब पीओके में शारदा पीठ के लिए भी कॉरिडोर की मांग तेज हो गई है. कश्मीरी पंडितों की मांग है कि सरकार उनके सबसे अहम तीर्थस्थल शारदा पीठ तक जाने के लिए कॉरिडोर बनवाने की पहल करें. पाकिस्तान मीडिया के अनुसार, पाकिस्तान सरकार ने शारदा पीठ कॉरिडोर को हरी झंडी दे दी है. सरकारी सूत्रों के अनुसार, शारदा पीठ कॉरिडोर को लेकर दोनों देशों के बीच हुई बैठकों में भारत ने कई बार यह अनुरोध किया था. यह प्रस्ताव लोगों की इच्छाओं और धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए बनाया गया था.

यह भी पढ़ें ः PoK स्थित शारदा पीठ के तीर्थयात्रा के लिए कश्मीरी पंडितों ने कुंभ मेले में उठाई आवाज

बता दें कि शारदा पीठ पीओके के शारदा गांव में स्थित एक प्राचीन हिदू मंदिर है. कश्मीरी पंडित शारदा पीठ को एक महत्वपूर्ण स्थल मानते हैं, क्योंकि माना जाता है कि यहां भगवान शिव का निवास है. नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास स्थित शारदा पीठ एक परित्यक्त मंदिर है, जो पीओके के शारदा गांव में नीलम घाटी में स्थित है. भारत के विभाजन के बाद यह पवित्र स्थल भारतीय सीमा के दूसरी तरफ चला गया था और भारतीय तीर्थयात्रियों के पहुंच से दूर होता चला गया था. आजादी से पहले वे वहां जाते रहते थे.

यह भी पढ़ें ः करतारपुर कॉरिडोर के बाद महबूबा मुफ्ती ने PoK में शारदा पीठ के लिए पीएम मोदी को लिखा पत्र

इससे पहले जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर शारदा पीठ तक करतारपुर कॉरिडोर की तरह ही एक कॉरिडोर विकसित करने की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि कश्मीरी पंडित समुदाय के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल होने के अलावा, शारदा पीठ जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए ऐतिहासिक रूप से ज्ञान और सीखने का गढ़ रहा है. उन्होंने कहा था, 'करतारपुर कॉरिडोर की शुरुआत को कश्मीरी पंडित समुदाय शारदा पीठ तक तीर्थाटन करने की संभावना के तौर पर देख रहे हैं.'

First Published : 25 Mar 2019, 04:24:20 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो