News Nation Logo

पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान ने भारतीय यात्री विमान को घेरा था, फिर जानें क्या हुआ...

पाकिस्तानी एयरफोर्स ने पिछले दिनों भारत के साथ कुछ ऐसा किया था, जिससे दोनों देशों के बीच जारी तनाव और बढ़ सकता था.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 17 Oct 2019, 04:16:33 PM
पाकिस्तान के एफ-16 (F-16) लड़ाकू विमान

नई दिल्ली:

पाकिस्तानी एयरफोर्स ने पिछले दिनों भारत के साथ कुछ ऐसा किया था, जिससे दोनों देशों के बीच जारी तनाव और बढ़ सकता था. पाकिस्तान के एफ-16 (F-16) लड़ाकू विमानों ने पिछले महीने अपने हवाई क्षेत्र में करीब एक घंटे तक काबुल जाने वाले स्पाइस जेट के यात्री विमान को घेरा था. स्पाइस जेट के उसके पायलट को विमान की ऊंचाई कम करने और उड़ान के विवरण के साथ उन्हें रिपोर्ट करने के लिए कहा था.

यह भी पढ़ेंः अमित शाह बोले- फिर से लिखा जाना चाहिए देश का इतिहास, कब तक अंग्रेजों को कोसते रहेंगे

न्यूज एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, यह घटना 23 सितंबर को हुई थी और इस घटना में शामिल स्पाइस जेट फ्लाइट एसजी -21 थी, जो काबुल के लिए दिल्ली से रवाना हुई थी. इसमें लगभग 120 यात्री सवार थे. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह घटना उस समय की है जब पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र भारत के लिए बंद नहीं था.

सूत्रों का कहना है कि स्पाइस जेट विमान के पायलट ने पाकिस्तानी F-16s जेट पायलटों को जानकारी देते हुए कहा कि यह स्पाइसजेट भारतीय कमर्शियल विमान है, जो यात्रियों को ले जाता है और शेड्यूल के अनुसार काबुल जा रहा है. जब F-16s ने स्पाइसजेट के विमान को घेरा था तो पाकिस्तानी जेट और उनके पायलट यात्रियों द्वारा देखे जा सकते थे.

यह भी पढ़ेंः अब बदला जाएगा पाकिस्तान का नाम, लोगों ने कहा इस नाम से महसूस होती है शर्मिंदगी

सूत्रों के मुताबिक, हर फ्लाइट का अपना कोड होता है, जैसे स्पाइसजेट को SG के नाम से जाना जाता है. पाकिस्तानी एटीसी ने गलती से स्पाइसजेट को IA मान लिया और भारतीय सेना या भारत एयरफोर्स का विमान समझ बैठा था. जब पाकिस्तानी एटीसी ने IA कोड के साथ भारत से आने वाले एक विमान के बारे में सूचना दी तो उन्होंने तुरंत भारतीय विमान को रोकने के लिए अपने F-16 को लॉन्च किया था.

भ्रम की स्थिति समाप्त होने के बाद पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने स्पाइसजेट को इसे एस्कॉर्ट करते हुए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से अफगानिस्तान सीमा तक ले गए. एक DGCA अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है. यात्रियों ने एएनआइ को बताया कि जिस समय पाकिस्तानी F-16 ने स्पाइसजेट को घेरकर रखा तब सभी यात्रियों को अपनी खिड़कियां बंद करने और शांति बनाए रखने के लिए कहा गया था. फ्लाइट के काबुल में सुरक्षित उतरने के बाद वापसी की यात्रा में लगभग पांच घंटे की देरी हुई.

First Published : 17 Oct 2019, 04:16:33 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.