News Nation Logo
Banner

करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान फिर बोला झूठ, कभी हां तो कभी ना पर टिका समझौता

करतारपुर गलियारे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तीसरे दौर की बातचीत के बाद भी सहमति नहीं बन पाई है.

By : Deepak Pandey | Updated on: 05 Sep 2019, 06:22:06 AM
करतारपुर साहिब कॉरिडोर (फाइल फोटो)

करतारपुर साहिब कॉरिडोर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

करतारपुर गलियारे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तीसरे दौर की बातचीत के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि वह बाबा गुरु नानक के प्रकाशोत्सव पर गलियारे को सिख तीर्थयात्रियों के लिए खोल देगा. साथ ही कहा है कि अपने 'पूरे न होने वालों कामों के लिए भारत खुद जिम्मेदार होगा.' अटारी-वाघा सीमा पर भारतीय सीमा में हुई वार्ता के बाद भारत और पाकिस्तान के बयानों में फर्क दिखा है. भारत ने कहा है कि कुछ खास मुद्दों पर सहमति नहीं बनने की वजह से करार नहीं हो सका, जबकि पाकिस्तान ने कहा है कि दो-तीन मुद्दों को छोड़कर कॉरिडोर को लेकर दोनों देशों के बीच सहमति बन गई है. हालांकि, इन मुद्दों पर उसने कुछ नहीं कहा.

यह भी पढ़ेंःपंजाब: गुरदासपुर की पटाखा फैक्ट्री में धमाका, 21 लोगों की मौत; CM ने जताया दुख

पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने वार्ता में हिस्सा लेने के बाद वाघा पर मीडिया से कहा कि बाबा गुरु नानक की जयंती पर सिख यात्रियों के लिए पाकिस्तान कॉरिडोर खोल देगा. भारत की तरफ काम पूरा नहीं हुआ तो उसके लिए वही जिम्मेदार होगा. पाकिस्तान ने भारत के डोजियर के जवाब में डोजियर सौंप दिया है. भारत लचीलापन दिखाए तो सभी मामले हल हो जाएंगे.

यह भी पढ़ेंःITR: 2 करोड़ लोगों को घबराने की जरूरत नहीं, ऑनलाइन नहीं हो रहा सत्‍यापन तो ये है तरीका

उन्होंने कहा कि कश्मीर पर तनाव के बावजूद दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच बातचीत बहुत अच्छी रही जो पूरी तरह करतारपुर कॉरिडोर से संबंधित थी. दो-तीन बिंदुओं को छोड़कर बाकी पर सहमति बन गई है. उन्होंने कहा कि पांच हजार सिख यात्रियों के आने पर रजामंदी दी गई है, लेकिन अगर इससे अधिक भी यात्री हुए तो पाकिस्तान उनका स्वागत करेगा.

First Published : 04 Sep 2019, 08:08:43 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×