News Nation Logo

पाक सेना प्रमुख ने डूरंड लाइन का दौरा किया, सीमा पर बाड़ लगाने को लेकर तालिबान के साथ बढ़ रहा तनाव

पाक सेना प्रमुख ने डूरंड लाइन का दौरा किया, सीमा पर बाड़ लगाने को लेकर तालिबान के साथ बढ़ रहा तनाव

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 22 Jan 2022, 08:00:01 PM
Pak Army

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली:   तालिबान और पाकिस्तान के बीच डूरंड लाइन पर बाड़ लगाने को लेकर व्याप्त तनाव के बीच, पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने स्थिति का जायजा लेने के लिए गुरुवार को विवादित डूरंड लाइन का दौरा किया।
बाजवा ने अपने सैनिकों से कहा, हम पाकिस्तान में पूरी सुरक्षा बहाल करेंगे और हम अपने शहीदों के खून को जाया नहीं जाने देंगे। हम सीमा के शेष 200 किलोमीटर के इलाके की घेराबंदी (बाड़ लगाना) करेंगे।

पाकिस्तानी सूत्रों के अनुसार, बाजवा ने पूर्व आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद बाजवा, जो अब पेशावर कोर कमांडर हैं, को तालिबान लड़ाकों के हिंसक विरोध के बावजूद बाड़ लगाने का काम खत्म करने का निर्देश दिया।

बाजवा ने अपने कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हमीद से कथित तौर पर कहा, बस बहुत हो गया, हम तनाव में किसी भी तरह की वृद्धि से बचने के लिए अधिकतम संयम बरत रहे हैं, लेकिन अब और नहीं।

बाजवा प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) द्वारा अपने सैनिकों पर बढ़ते हमलों से भी नाराज दिखाई दिखे।

टीटीपी आतंकवादियों ने सोमवार को राजधानी इस्लामाबाद के बीचोबीच एक पुलिस दल पर हमला किया, जिसमें दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की मौत हो गई।

बाजवा इस बात से नाराज थे कि हमलों की निंदा करने के बजाय, तालिबान नेता पाकिस्तानी सेना को सीमा पर बाड़ लगाने की हिम्मत दिखाने को कह रहे हैं। पाकिस्तानी सैन्य प्रतिष्ठान का मानना है कि टीटीपी देश में कुछ बड़े हमलों की योजना बना रहा है।

बाजवा ने कथित तौर पर कहा, दोनों (टीटीपी और तालिबान) एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।

पाकिस्तान संबंधी मुद्दों को करीब से जानने वाले विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान-तालिबान संबंधों में दो प्रमुख मुद्दों - बाड़ लगाना और टीटीपी - को लेकर तनाव बढ़ रहा है, जिसके बाद पाकिस्तानी सैन्य नेतृत्व को घरेलू राजनीतिक दबाव का सामना करना पड़ रहा है। पाकिस्तानी जनरलों ने सोचा था कि तालिबान को सत्ता पर कब्जा करने में मदद करने से टीटीपी और सीमा की समस्याओं की समस्या समाप्त हो जाएगी, लेकिन उनके लिए निराशा बढ़ गई है, क्योंकि ये समस्याएं अब और अधिक हिंसक मोड़ ले रही हैं।

एक पाकिस्तानी पत्रकार ने कहा, पाकिस्तान के सैन्य प्रतिष्ठान तालिबान की पाकिस्तान के प्रति शत्रुतापूर्ण धारणा से अवगत हैं। यह एक कारण है कि सेना सक्रिय रूप से सीमा पर बाड़ लगाने का प्रयास कर रही है।

(यह आलेख इंडियानैरेटिव डॉट कॉम के साथ एक व्यवस्था के तहत लिया गया है)

--इंडियानैरेटिव

एकेके/एएनएम

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 22 Jan 2022, 08:00:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.