News Nation Logo
Banner

मोदी सरकार पर चिदंबरम का बड़ा हमला, कहा- सत्ता में बैठे लोग असली 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' हैं

मौजूदा सरकार में लोकतांत्रिक संस्थाओं को शक्तिहीन किया गया है और सत्ता में बैठे लोग असली 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' हैं.

By : Nihar Saxena | Updated on: 23 Jan 2020, 01:48:31 PM
लोकतंत्र सूचकांक में गिरावट पर चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला.

लोकतंत्र सूचकांक में गिरावट पर चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • जो लोग सत्ता में हैं वो असली टुकड़े-टुकड़े गैंग हैं.
  • भारत जिस दिशा में बढ़ रहा उससे दुनिया सशंकित.
  • लोकतंत्र सूचकांक में भारत 10 स्थान लुढ़क 51वें स्थान पर.

नई दिल्ली:

सीएए और अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लगातार लेने वाले पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने एक बार फिर मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. इस बार आधार बना है कि अमेरिकी पत्रिका का लोकतंत्र सूचकांक, जिसमें भारत ने अपनी रैंकिंग में गिरावट दर्ज की है. इस रैंकिंग के आधार पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार में लोकतांत्रिक संस्थाओं को शक्तिहीन किया गया है और सत्ता में बैठे लोग असली 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' हैं.

यह भी पढ़ेंः महिला कर्मचारी गई थी आर्थिक गणना करने, लोगों ने CAA के बहाने जानें क्‍या किया

दुनिया भारत को लेकर संशकित
पूर्व गृह मंत्री ने ट्वीट किया, 'भारत लोकतंत्र सूचकांक में 10 स्थान लुढ़क गया. पिछले दो साल के राजनीतिक घटनाक्रमों पर नजदीकी नजर रखने वाला कोई भी व्यक्ति यह जनता है कि लोकतंत्र को कुचला गया है और लोकतांत्रिक संस्थाओं को शक्तिहीन किया गया है.' उन्होंने आरोप लगाया, 'जो लोग सत्ता में हैं वो असली टुकड़े-टुकड़े गैंग हैं.' चिदंबरम ने कहा, 'भारत जिस दिशा में बढ़ रहा है उससे दुनिया सशंकित है. हर देशभक्त भारतीय को चिंतित होना चाहिए.'

यह भी पढ़ेंः 'मैं मां हूं, महान नहीं बनना चाहती', निर्भया की मां ने फिल्‍म अभिनेत्री कंगना रनौत की बात का किया समर्थन

लोकतंत्र सूचकांक में भारत की रैंकिंग गिरी
दरअसल, द इकोनॉमिस्ट इंटेलीजेंस यूनिट (ईआईयू) द्वारा 2019 के लिये लोकतंत्र सूचकांक की वैश्विक सूची में भारत 10 स्थान लुढ़क कर 51वें स्थान पर आ गया है. संस्था ने इस गिरावट की मुख्य वजह देश में 'नागरिक स्वतंत्रता का क्षरण' बताया है. सूची के मुताबिक भारत का कुल अंक 2018 में 7.23 था जो अब घटकर 6.90 रह गया है. यह वैश्विक सूची 165 स्वतंत्र देशों और दो क्षेत्रों में लोकतंत्र की मौजूदा स्थिति का एक खाका पेश करती है.

First Published : 23 Jan 2020, 01:48:31 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो