logo-image
लोकसभा चुनाव

14 दिन और तिहाड़ जेल में रहेंगे पी चिदंबरम, कोर्ट ने बढ़ाई न्‍यायिक हिरासत

कोर्ट ने पी चिदंबरम को 3 अक्टूबर तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया है. आज गुरुवार को न्यायिक हिरासत की अवधि पूरी होने के बाद पी चिदंबरम को राऊज एवेन्‍यू कोर्ट में पेश किया गया था.

Updated on: 19 Sep 2019, 03:39 PM

नई दिल्‍ली:

INX मीडिया केस में CBI के मामले में पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम की राउज एवेन्यू कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत बढ़ा दी है. कोर्ट ने पी चिदंबरम को 3 अक्टूबर तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया है. आज गुरुवार को न्यायिक हिरासत की अवधि पूरी होने के बाद पी चिदंबरम को राऊज एवेन्‍यू कोर्ट में पेश किया गया था. इससे पहले सीबीआई की ओर से मांग की गई थी कि आरोपी की न्यायिक हिरासत बढ़ाई जाए. दूसरी ओर, पी चिंदबरम की ओर से पैरवी करते हुए कपिल सिब्‍बल ने कहा, सीबीआई बताए कि इनकी न्यायिक हिरासत किस आधार पर बढ़ाई जाए. आप सिर्फ़ ये कह कर न्यायिक हिरासत नहीं बढ़ा सकते हैं क्योंकि बेल की सुनवाई हाईकोर्ट में होनी है.

यह भी पढ़ें : कश्‍मीर पर विपक्षी नेताओं के भाषण का इस्‍तेमाल कर रहा है पाकिस्‍तान, पीएम नरेंद्र मोदी की रैली की 10 बातें

पी चिदंबरम की ओर से पैरवी करने वाले दूसरे वकील अभिषेक मनु सिंघवी बोले, चिदंबरम पहले ही 14 दिन की पुलिस हिरासत और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में रह चुके हैं. हम चिदंबरम की न्यायिक हिरासत बढाए जाने का विरोध करते हैं.

कपिल सिब्‍बल ने यह भी कहा कि चिदंबरम के पेट और पीठ में दर्द है. जेल में बैठने के लिए कुर्सी तक नहीं दी जा रही है. सिर्फ़ बेड है, लेकिन तकिया नहीं दिया जा रहा है. तीन दिन पहले तक कुर्सी थी, जिसे अब हटा लिया गया है. इस वजह से पीठ में दर्द हो गया है.

यह भी पढ़ें : नई मुश्‍किल में मोदी सरकार (Modi Sarkar), अब यह मुसीबत आ खड़ी हुई सामने

पी चिदंबरम ने खुद कोर्ट में कहा, तीन दिन पहले तक हॉल में तीन कुर्सी थी. दिन में वहां बैठता था लेकिन कुर्सी हटा ली गईं. वार्डन को भी बैठने के लिए कुर्सी नहीं है. हम चाहते हैं कि चिदंबरम को एम्स में जांच के लिए ले जाया जाए. वहां डॉक्टरों को तय करने दीजिए, लेकिन कोर्ट ने पी चिदंबरम को तिहाड़ जेल भेज दिया.