News Nation Logo
Banner

चुनाव प्रचार के दौरान इन नेताओं ने दिए पीएम मोदी पर विवादित बयान

चुनावों में कोई भी नेता अब पॉपुलर होने के लिए या फिर चुनावी लाभ लेने के लिए प्रधानमंत्री जैसे पद को भी नहीं बख्श रहा है. विपक्ष के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत हमले करने से भी नहीं चूक रहे हैं. विपक्ष की तरफ से पीएम मोदी को लेकर लगातार अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 16 Apr 2019, 01:46:54 PM
File Pic

File Pic

नई दिल्ली:

Lok Sabha Election 2019 का पहला चरण हो चुका है. राजनीतिक पार्टियां चुनाव जीतने के लिए एक दूसरे पर बयान बाजी कर रही हैं. इस बयानबाजी के बीच नेता पद की गरिमा को भी भूल जा रहे हैं. चुनावों में कोई भी नेता अब पॉपुलर होने के लिए या फिर चुनावी लाभ लेने के लिए प्रधानमंत्री जैसे पद को भी नहीं बख्श रहा है. विपक्ष के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत हमले करने से भी नहीं चूक रहे हैं. विपक्ष की तरफ से पीएम मोदी को लेकर लगातार अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया जा रहा है.

अजीज कुरैशी ने कहा 'पुलवामा हमला' सोची-समझी साजिश
कुरैशी ने कहा, 'आपने पुलवामा हमला प्लान करके करवाया है ताकि सत्ता में आने का दोबारा मौका मिल सके, लेकिन जनता सब जानती है. अगर नरेंद्र मोदी चाहें कि 42 जवानों की हत्या करके, उनकी चिताओं की राख से अपना राजतिलक कर लेंगे तो जनता ऐसा नहीं करने देगी'. आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब पुलवामा हमले को लेकर किसी ने पीएम मोदी पर अंगुली उठाई हो लेकिन एक पूर्व राज्यपाल द्वारा देश के प्रधानमंत्री पर लगाया गया ये आरोप काफी गंभीर है.

संजय निरूपम ने PM मोदी को बताया 'अनपढ़ और गवांर'
कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने पीएम मोदी को अनपढ़ और गंवार तक बता दिया था पिछले दिनों जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी फिल्म को राज्य के स्कूलों और कॉलेजों में दिखाने की बात की गई तो संजय निरुपम ने कहा था, 'जो बच्चे स्कूल-कॉलेज में पढ़ रहे हैं उनको मोदी जैसे अपनढ़ गंवार के बारे में जानकर क्या मिलने वाला है. पीएम मोदी से स्कूल के बच्चे कुछ नहीं सीख सकते हैं.' हालांकि बाद में संजय निरुपम ने यह भी कहा कि यह लोकतंत्र है और लोकतंत्र में पीएम भगवान नहीं होता. मैंने कुछ भी अशोभनीय नहीं कहा है.

अर्जुन मोढवाडिया ने कहा था 'केवल गधों का सीना 56 इंच का होता है'
गुजरात में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में पीछे नहीं है. मोढवाडिया ने एक चुनावी रैली में कहा कि केवल गधों का सीना 56 इंच का होता है. बता दें कि साल 2014 में लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान पीएम ने कहा था कि उनके जैसे 56 इंच सीने वाला व्यक्ति ही बड़े निर्णय ले सकता है. मोढवाडिया ने बनासकांठा जिले के दीसा कस्बे में एक रैली में 2014 में मोदी की तरफ से दिए गए एक बयान की याद दिलाई जिसमें प्रधानमंत्री ने ये बातें कही थीं. मोढवाडिया ने कहा, एक सेहतमंद व्यक्ति का सीना 36 इंच का होता है, बॉडी बिल्डर का सीना 42 इंच का हो सकता है, केवल गधों का सीना 56 इंच का होता है.

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा था 'नीच'
विवादित बयानबाजी का ये पहला मौका नहीं है जब किसी कांग्रेस नेता ने पीएम पर ऐसे बयान दिये हों इसके पहले अभी पिछले ही साल गुजरात विधानसभा चुनावों में कांग्रेस वरिष्ठ नेता मणि शंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'नीच' कहा था जिसके बाद गुजरात में कांग्रेस को खामियाजा उठाना पड़ा. गुजरात विधानसभा चुनाव में एंटी इंकंबेंसी के बावजूद भी बीजेपी सत्ता में आ गई. और कांग्रेस नेता मणि शंकर अय्यर के इस बयान की काफी आलोचना हुई.

कर्नाटक के कांग्रेस नेता ने पीएम मोदी को 'गोली मारने' का बयान दिया था
अभी कुछ ही दिनों पहले कर्नाटक के कांग्रेस नेता वेलूर गोपाल कृष्ण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'गोली मारने' से जुड़ा बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया. वेलूर का यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और मामले ने तूल पकड़ लिया जिसके बाद एक बीजेपी विधायक ने उनकी गिरफ्तारी की मांग भी कर डाली. बाद में वेलूर ने माफी मांगते हुए कहा उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है.

RJD नेता राबड़ी देवी पीएम मोदी को कहा 'चोर आया है चौकीदार बनकर'
जब पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट का नाम बदलकर चौकीदार नरेंद्र मोदी रखा तब से वो विपक्षी नेताओं के निशाने पर आ गए थे. तभी बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने भी पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए उन्हें चोर तक कह डाला था. बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने पीएम मोदी पर विवादित बयान देते हुए ट्विटर पर लिखा, 'रामायण गवाह है. रावण आया था-साधु बनकर, मारीच आया था-हिरण बनकर, कालनेमि आया था-ऋषि बनकर, अब चोर आया है ‘चौकीदार’ बनकर.'

राहुल गांधी ने कहा था खून की दलाली
साल 2016 में एक चुनावी रैली के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि पीएम मोदी शहीदों के खून की दलाली कर रहे हैं. उनके इस बयान के बाद बीजेपी के साथ-साथ आम आदमी पार्टी भी राहुल गांधी पर हमलावर हो गई थी दिल्ली के सीएम केजरीवाल भी राहुल गांधी पर जमकर बरसे थे. उनके इस बयान के बाद कांग्रेस की जमकर आलोचना हुई और तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश के साथ गठबंधन होने के बावजूद दोनों को मुंह की खानी पड़ी इस विधान सभा चुनाव में बीजेपी और समर्थित दलों को इस चुनाव में कुल 325 सीटें मिली बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की.

गुजरात में सोनिया ने कहा था 'मौत का सौदागर'
साल 2007 में गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान सोनिया गांधी ने नरेंद्र मोदी को 'मौत का सौदागर' कहा था. उस वक्त मोदी गुजरात के सीएम थे. इस बयान के बाद कांग्रेस की गुजरात में काफी किरकिरी हुई. इस चुनाव में कांग्रेस बुरी तरह से पराजित हुई और नरेंद्र मोदी की अगुवई में बीजेपी 117 सीटों के साथ दोबारा सत्ता में आई और नरेंद्र मोदी एक बार फिर गुजरात के सीएम बने.

First Published : 16 Apr 2019, 12:44:13 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो