News Nation Logo
Banner

कोरोना के कहर के बीच केरल, तमिलनाडु से 4600 लोगों को भेजा गया यहां

बिहार में लॉकडाउन के दूसरे दिन मंगलवार को केरल एवं अन्य जगहों से आए 4,600 से अधिक यात्रियों को बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की विशेष बसों से विभिन्न जिलों में भेजा गया. साथ ही लॉकडाउन के सरकारी आदेश का उल्लंघन करने के आरोप में 20 लोगों को गिरफ्तार किया

Bhasha | Updated on: 24 Mar 2020, 10:01:51 PM
demo photo

लोगों को लाया गया बिहार (Photo Credit: प्रतिकात्मक फोटो)

पटना:

बिहार में लॉकडाउन के दूसरे दिन मंगलवार को केरल एवं अन्य जगहों से आए 4,600 से अधिक यात्रियों को बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की विशेष बसों से विभिन्न जिलों में भेजा गया. साथ ही लॉकडाउन के सरकारी आदेश का उल्लंघन करने के आरोप में 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया. परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि केरल और तमिलनाडु से आए इन यात्रियों की सुविधा के लिए पटना जंक्शन एवं दानापुर स्टेशन पर 70 बसों की व्यवस्था की गई थी.

उन्होंने बताया कि स्टेशन पर उतरने वाले सभी यात्रियों की मेडिकल जांच करने के बाद उन्हें बसों से विभिन्न जिलों में भेजा गया. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर सभी यात्रियों के लिए निःशुल्क बस की व्यवस्था की गई थी. परिवहन सचिव ने बताया कि जिन लोगों को आज घर भेजा गया है, उनकी निगरानी के लिए संबंधित जिलाधिकारियों को सूचना दे दी गयी है.

इसे भी पढ़ें:पीएम नरेंद्र मोदी का ट्वीट- घबराने की जरूरत नहीं, जरूरी चीजें और दवाएं मिलती रहेंगी

पटना जंक्शन और मीठापुर बस स्टैंड के लिए 2 बसों का परिचालन किया गया

बिहार के किशनगंज, छपरा, सीवान, गोपालगंज, मोतिहारी, बेतिया, जमुई, दरभंगा, समस्तीपुर, सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, बेगूसराय, पूर्णिया, कटिहार, लखीसराय, भागलपुर, मुंगेर, नवादा, बिहार शरीफ, मसौढ़ी, जहानाबाद, गया आदि जिलों के लिए विशेष बस की व्यवस्था की गई थी. परिवहन सचिव सह प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि विभिन्न विमानों से पटना पहुंचे यात्रियों की सुविधा के लिए हवाईअड्डे से पटना जंक्शन और मीठापुर बस स्टैंड के लिए 2 बसों का परिचालन किया गया.

पटना हवाईअड्डे पर उतरते ही सबसे पहले उनकी स्क्रीनिंग की गई

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए यात्रियों को पटना हवाईअड्डे पर उतरते ही सबसे पहले उनकी स्क्रीनिंग की गई और उसके बाद सभी को बस में सवार किया गया. इसके लिए हवाईअड्डे पर मेडिकल टीम की तैनाती की गई थी. अग्रवाल ने बताया कि यात्रियों को हवाईअड्डे से ले जाने के लिए बिहार राजपथ परिवहन निगम की बसों के अतिरिक्त यात्री एक परिजन को कुछ शर्तों के साथ अपने निजी वाहन से भी ले जाने की इजाजत दी गई थी.

बिहार सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 31 मार्च तक के लिये सभी जिला मुख्यालयों, सभी अनुमंडल मुख्यालयों, सभी प्रखंड मुख्यालयों एवं सभी नगर निकायों के लॉकडाउन का रविवार को निर्णय लिया था. पटना सहित प्रदेश के अन्य जिलों में सरकार के लॉकडाउन निर्णय का उल्लंघन करते हुए कल लोग देखे गए थे जिसके बाद से पुलिस और प्रशासन द्वारा कड़ाई से इसका पालन करने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गयी थी.

20 लोगों को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया तथा 38 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी

अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने बताया कि प्रदेश के 33 जिलों से अबतक प्राप्त सूचना के अनुसार सरकारी आदेश (लॉकडाउन के मद्देनजर) का उल्लंघन करने वाले 20 लोगों को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया तथा 38 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी. उन्होंने बताया कि यातायात नियम का उल्लंघन करने पर 146 वाहन जब्त किए गए और 8.5 लाख रूपये जुर्माने के तौर पर वसूले गए .

और पढ़ें:Video: हाथ में डंडा लेकर शिखर धवन से टॉयलेट साफ करा रही हैं पत्नी, कपड़े भी धोने के लिए किया मजबूर!

बिहार में अबतक कोरोना वायरस के 194 संदिग्ध नमूनों की जांच की जा चुकी है जिसमें से संक्रमण वाले तीन रोगी पाए गए हैं . कोरोना वायरस संक्रमण वाले तीन मामलों में से मुंगेर निवासी एक मरीज की शनिवार को पटना एम्स में मौत हो गयी थी . कोरोना वायरस संक्रमण वाले दो अन्य मामलों में एक पटना एम्स में भर्ती है तथा एक अन्य मरीज का इलाज एनएमसीएच में जारी है . पटना स्थित इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान के माईक्रोबायोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डा0 एस के शाही ने बताया कि उनके अस्पताल में सात संदिग्ध मामलों की जांच की जा रही है . 

First Published : 24 Mar 2020, 10:01:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×