News Nation Logo
Banner

मुंबई, पुणे, नासिक ने ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए स्कूलों को फिर से खोलने के फैसले को किया स्थगित

मुंबई, पुणे, नासिक ने ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए स्कूलों को फिर से खोलने के फैसले को किया स्थगित

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 30 Nov 2021, 03:35:01 PM
Omicron concern

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

मुंबई:   कोविड के ओमिक्रॉन वैरिएंट सामने आने के बाद बढ़ी चिंताओं के बीच मुंबई, पुणे और नासिक में कक्षा 1 से 7 तक के स्कूलों को फिर से खोलने के फैसले को 10-15 दिनों के लिए टाल दिया गया है।

अधिकारियों ने यहां मंगलवार को इसकी जानकारी दी।

बृहन्मुंबई नगर निगम आयुक्त आई. एस. चहल और पुणे नगर निगम के मेयर मुरलीधर ने कहा है कि दोनों शहरों में स्कूल अब 15 दिसंबर से फिर से खुलेंगे। बता दें कि मुंबई और पुणे दोनों शहर 2020 और 2021 में कोविड-19 की दो लहरों में सबसे ज्यादा प्रभावित हुए थे।

इसी तरह, नासिक नगर निगम, जो पिछले दो वर्षों में महामारी से बुरी तरह प्रभावित शहरों में से रहा है, उसने भी स्कूलों को फिर से खोलने की योजना को 10 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दिया है।

हालांकि, शेष महाराष्ट्र के सभी स्कूल 1 दिसंबर से (ग्रामीण क्षेत्रों में कक्षा 1 से 5 तक और शहरी क्षेत्रों में कक्षा 1 से 7 तक) पूर्ण कोविड प्रोटोकॉल के साथ फिर से खुलने की संभावना है। इस संबंध में हाल ही में स्कूली शिक्षा मंत्री प्रोफेसर वर्षा ई. गायकवाड़ द्वारा घोषणा की गई थी।

सावधानी बरतते हुए, बीएमसी वर्तमान में उन सभी यात्रियों पर नजर रख रही है, जो 10 नवंबर से 12 ओमिक्रॉन प्रभावित देशों से शहर में आए हैं, ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनमें से कोई भी नए स्ट्रेन से संक्रमित है या नहीं।

राज्य सरकार ने मुंबई, पुणे और नागपुर में राज्य के तीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों पर उतरने वाले सभी यात्रियों के अलावा अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों के बारे में भी जानकारी मांगी है, जो उक्त 12 देशों से आने वाली उड़ानों से हैं।

बीएमसी ने पहले ही घोषणा कर दी है कि ऐसे सभी यात्रियों के लिए 14-दिवसीय संस्थागत क्वारंटीन अनिवार्य होगा और किसी भी परिस्थिति में घर से आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी।

राज्य, प्रमुख शहर और जिला स्वास्थ्य प्राधिकरण अस्पताल, बिस्तर, आईसीयू, लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन स्टॉक, दवाएं, डॉक्टर, पैरा-मेडिकल और गैर-मेडिकल स्टाफ और अन्य स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को तैयार करके ओमिक्रॉन की चुनौती का सामना करने के लिए कमर कस रहे हैं। आने वाले हफ्तों में रोगियों की संभावित भीड़ की आशंका को देखते हुए प्रशासन कोई कोताही बरतना नहीं चाह रहा है। यहां तक कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान ने भी गति पकड़ ली है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 30 Nov 2021, 03:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.