News Nation Logo
भारत पहली बार दुनिया के शीर्ष 25 रक्षा निर्यातक देश की सूची में शामिल: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद किसानों ने दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर से टेंट हटाए एनएच 24 खुलने से आम जनता को मिली राहत मुर्गामंडी जाने वाली सड़क को किसान प्रदर्शनकारियों ने किया खाली उत्तराखंड के राज्यपाल, मुख्यमंत्री के साथ देवभूमि में आई आपदा का हवाई निरीक्षण किया: अमित शाह आपदा पर गृहमंत्री अमित शाह ने राज्य और केंद्र सरकार के उच्चस्तरीय अधिकारियों के साथ मीटिंग की शाहरुख खान और अनन्या पांडे के घर NCB की छापेमारी भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 18,454 नए मामले आए और 160 लोगों की कोरोना से मौत हुई पीएम मोदी ने RML अस्पताल में वैक्सीनेशन सेंटर पर स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ बातचीत की रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने दो दिवसीय दौरे पर बेंगलुरु पहुंचे किसान सड़कों को अनिश्चित काल के लिए अवरुद्ध नहीं कर सकते: सुप्रीम कोर्ट किसानों को विरोध करने का अधिकार: सुप्रीम कोर्ट पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एम्स में इंफोसिस फाउंडेशन विश्राम सदन का उद्घाटन किया हमारी सरकार ने कैंसर की 400 दवाओं की कीमतों को कम करने के लिए कदम उठाए हैं: पीएम मोदी बॉम्बे हाईकोर्ट आर्यन खान की जमानत याचिका पर 26 अक्टूबर को सुनवाई करेगा: आर्यन खान के वकील भिंड में भारतीय वायुसेना का ट्रेनर विमान क्रैश, हादसे में पायलट घायल: भिंड एसपी मनोज कुमार सिंह मरीज़ को आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ़्त में इलाज मिलता है, तो उसकी सेवा होती है: पीएम मोदी भारत ने वैक्सीन मैत्री के माध्यम से दुनिया के देशों में मदद पहुंचाने का काम किया: अनुराग ठाकुर दुनिया को भारत ने दिखाया है कि बड़े से बड़ा लक्ष्य भी प्राप्त किया जा सकता है: अनुराग ठाकुर 100 करोड़ वैक्सीनेशन डोज़ का आंकड़ा पार होने पर लोगों का आभार: केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भारत में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार, देशभर में मन रहा जश्न निजी भागीदारी से भी मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं - पीएम मोदी FDA ने मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन के मिक्‍स एंड मैच टीकाकरण को दी मंजूरी उत्तराखंड में भारी बारिश से अब तक 54 लोगों की मौत, 19 जख्मी और 5 लापता डोनाल्ड ट्रंप ने 'TRUTH Social' नामक अपना खुद का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लॉन्च किया

ओली का दावा, भारत ने दी थी नेपाल में संविधान लागू नहीं करने की धमकी

ओली का दावा, भारत ने दी थी नेपाल में संविधान लागू नहीं करने की धमकी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 20 Sep 2021, 09:10:01 PM
Oli claim

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

काठमांडू: पूर्व प्रधानमंत्री और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी-यूएमएल के अध्यक्ष के. पी. शर्मा ओली ने दावा किया है कि भारत ने 2015 में नेपाली राजनीतिक नेतृत्व को धमकी दी थी कि वह भारत की चिंताओं और सुझाव की अनदेखी करते हुए संविधान को लागू न करे।

एक राजनीतिक दस्तावेज पेश करते हुए, जिसे बाद में पार्टी के आम सम्मेलन में रखा जाएगा, ओली ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विशेष दूत के रूप में संविधान की घोषणा से पहले काठमांडू का दौरा करने वाले एस. जयशंकर ने नेपाली राजनीतिक नेतृत्व को संविधान की घोषणा के दौरान भारत की वैध चिंताओं और सुझावों की अनदेखी नहीं करने की धमकी दी थी।

संविधान सभा के लिए लगातार दो बार चुनाव कराने के बाद, 2015 में नेपाल ने नए संविधान को लागू किया जिसने गणतंत्र, धर्मनिरपेक्ष, संघीय और कुछ अन्य व्यापक परिवर्तनों को समेकित किया था।

20 सितंबर, 2015 को संविधान की घोषणा से कुछ दिन पहले, भारत ने नेपाल के राजनीतिक नेतृत्व से मिलने के लिए तत्कालीन विदेश सचिव जयशंकर को काठमांडू भेजा था। ओली के अनुसार, जयशंकर ने अपनी यात्रा के दौरान नेपाल के नए संविधान के लिए भारत की चिंताओं और सुझावों से अवगत कराया था।

लेकिन ओली ने यह नहीं बताया कि नेपाल के संविधान में नेपाली राजनीतिक नेतृत्व को शामिल करने के लिए भारत की क्या चिंताएं और सुझाव थे।

ओली ने अपने राजनीतिक दस्तावेज में कहा कि भारत की चिंताओं और सुझावों को शामिल किए बिना संविधान प्रख्यापित किया जाता, तो अच्छा नहीं होता। ओली ने कहा कि जयशंकर ने नेपाली राजनीतिक नेतृत्व के लिए यह बात कहते हुए धमकी की भाषा का इस्तेमाल किया था।

ओली ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री सुशील कोइराला और नेपाल के अन्य राजनीतिक नेताओं के साथ अपनी बैठक के दौरान, जयशंकर ने हमें संविधान को लागू नहीं करने की धमकी दी थी और कहा था कि ऐसा होता है तो परिणाम अच्छे नहीं होंगे।

नए संविधान की घोषणा के तुरंत बाद, नेपाली नेतृत्व के एक वर्ग ने नेपाल-भारत सीमा पर आर्थिक प्रतिबंध लगा दिया, जिसे नाकाबंदी के रूप में जाना जाता है।

छह महीने तक नाकाबंदी जारी रही, जिसके दौरान भारत के साथ एक लंबी सीमा साझा करने वाले नेपाल के दक्षिणी मैदान में एक विद्रोह में 50 नेपाली नागरिकों की मौत हो गई।

ओली ने दोहराते हुए कहा कि जयशंकर, जो एक विशेष दूत के रूप में यहां आए थे, हमसे मिले, हमें धमकी दी और कहा कि अगर भारत की चिंताओं और सुझावों पर ध्यान नहीं दिया गया तो परिणाम अच्छे नहीं होंगे।

ओली ने कहा कि भारत ने सीधे हस्तक्षेप किया और संविधान को लागू करने से रोकने का प्रयास किया।

नाकाबंदी हटाने के बाद, ओली ने संबंधों को सामान्य करने के लिए भारत और चीन दोनों का दौरा किया। 2016 में भारत की नाकाबंदी के जवाब में, ओली ने चीन का दौरा किया और पारगमन और परिवहन समझौते पर हस्ताक्षर किए, जिससे नेपाल के लिए चीनी भूमि और समुद्री बंदरगाहों के माध्यम से तीसरे देश के व्यापार का मार्ग प्रशस्त हुआ।

चीन के साथ पारगमन और परिवहन समझौते पर हस्ताक्षर करने के नेपाल के फैसले के साथ भारत की तीसरे देश के व्यापार के लिए लंबी निर्भरता को समाप्त करने के साथ, भारत की प्रतिक्रिया तीखी और आलोचनात्मक थी।

नाकाबंदी लगाने के भारत के कदम और चीन के साथ एक पारगमन समझौते पर हस्ताक्षर करने के फैसले की आलोचना करते हुए, ओली की पार्टी, नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी-यूएमएल, नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) के साथ चुनावी गठबंधन तक पहुंचकर नेपाल की संसद में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी।

ओली की यूएमएल और माओवादी केंद्र को बाद में नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी बनाने के लिए विलय कर दिया गया।

ओली 2018 में प्रधानमंत्री बने और उसके बाद नेपाल ने कुछ विवादित भूमि को शामिल करते हुए एक नया नक्शा जारी किया, जिसका भारत ने पुरजोर विरोध भी किया था। नवंबर 2019 में जारी भारत के नए राजनीतिक मानचित्र के जवाब में, नेपाल ने मई 2020 में भारत के क्षेत्र के अंतर्गत कुछ विवादित भूमि को शामिल करते हुए नया नक्शा जारी किया था।

ओली ने अपने राजनीतिक दस्तावेज में कहा कि नेपाल जैसे संप्रभु राष्ट्र के खिलाफ भारत की भूमिका हमें स्वीकार्य नहीं थी, उस समय भारतीय दबाव जो भी था, वह स्वीकार्य नहीं था।

कम्युनिस्ट नेता ने दस्तावेज में लिखा, भारत की धमकी और चेतावनी के बावजूद, हमने आखिरकार नया संविधान लागू किया।

उनकी पार्टी के बाद, नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी मार्च 2021 में विभाजित हो गई, जिसके बाद ओली ने बहुमत खो दिया और सदन को भंग करना पड़ा, जिसे बाद में सुप्रीम कोर्ट ने बहाल कर दिया। उनकी पार्टी फिर से विभाजित हो गई और उनकी कुर्सी चली गई, जिसके बाद नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा ने प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी संभाली।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 20 Sep 2021, 09:10:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.