News Nation Logo
कश्मीर में हो रहीं हत्याएं दुखद, हम निंदा करते हैं: राजीव शुक्ला पीएम नरेंद्र मोदी 20 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के कुशीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन करेंगे घर में घुसकर गरीब लोगों की हत्या करना दुर्भाग्यपूर्ण है। आतंकियों की यह कायराना हरकत है: सुशील मोदी आतंकियों की मंशा लोगों में डर पैदा करने की है, जिससे लोग कश्मीर छोड़कर चले जाएं: सुशील मोदी उत्तराखंड: बद्रीनाथ धाम में शुरू हुआ सीजन का पहला हिमपात। धाम में पड़ रही कड़ाके की ठंड। राम रहीम को रंजीत सिंह हत्या मामले में उम्रकैद की सजा पंचकूला की CBI अदालत ने सजा का ऐलान किया अन्य 4 दोषियों पर 50-50 हजार रुपए का जुर्माना अदालत ने राम रहीम पर 31 लाख का जुर्माना भी लगाया लंबी लड़ाई के बाद पीड़ित परिवार को मिला इंसाफ डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के साथ 5 लोगों को उम्र कैद पंजाब: जालंधर-फगवाड़ा हाईवे पर धनोवाली में एक तेज रफ़्तार गाड़ी ने 2 युवतियों को कुचला देश में अब तक कोविड वैक्सीन की 98 करोड़ डोज़ लगाई गई है: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया आंतरिक सुरक्षा पर राज्यों के IG और DGP के साथ आज अमित शाह की बैठक कश्मीर में एक और आतंकी साजिश का अलर्ट, सुरक्षा बढ़ाई गई दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने “रेड लाईट ऑन, गाड़ी ऑफ” अभियान की शुरुआत की पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की अध्यक्षता में चंडीगढ़ में कैबिनेट की बैठक हुई महाराष्ट्रः कल्याण की आधारवाड़ी जेल में 20 कैदी कोरोना पॉजिटिव आर्यन खान पर NCB का बड़ा बयान, आर्यन की काउंसिलिंग की गई आर्यन ने दोबारा गलती न करने की बात कही: NCB रिहाई के बाद गरीबों के लिए काम करेंगे आर्यन खान: NCB कांग्रेस सिर्फ एक परिवार की पार्टी है: संबित पात्रा कश्मीर पर कांग्रेस भ्रम फैला रही है: संबित पात्रा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं से सावधानी बरतने की अपील की भाजपा कार्यालय में हो रही राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक का पहला चरण खत्म किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर मोदी नगर (उ.प्र.) में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी ISI Chief पर बीवी के टोटके पर अड़े इमरान, पाक सेना के जनरल ने लगाई लताड़ संयुक्त किसान मोर्चा के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर प्रदर्शनकारी बहादुरगढ़ में रेलवे ट्रैक पर बैठे दिल्ली में लगातार दूसरे दिन भी बारिश का दौर जारी. जगह-जगह जलभराव

वकीलों की सीजेआई से अपील : लखीमपुर खीरी हिंसा की शीर्ष अदालत की निगरानी में हो सीबीआई जांच

वकीलों की सीजेआई से अपील : लखीमपुर खीरी हिंसा की शीर्ष अदालत की निगरानी में हो सीबीआई जांच

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 06 Oct 2021, 01:05:01 AM
NV Ramana

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: लखीमपुर खीरी घटनाक्रम तूल पकड़ता जा रहा है। अब दो वकीलों ने भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) को पत्र लिखकर शीर्ष अदालत की देखरेख में यूपी के लखीमपुर खीरी घटनाक्रम की सीबीआई जांच की मांग की है।

पत्र में इस भीषण घटना में कथित रूप से शामिल मंत्रियों के लिए सजा की भी मांग की गई है।

अधिवक्ता शिव कुमार त्रिपाठी और सी.एस. पांडा की ओर से लिखे गए पत्र में कहा गया है, उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में किसानों की हत्या की गंभीरता को देखते हुए, यह माननीय न्यायालय के लिए आवश्यक है कि वह इस मामले में हस्तक्षेप करे, जैसा कि प्रेस में दिखाया गया है।

वकीलों ने दावा किया कि हिंसा अब इस देश में राजनीतिक संस्कृति बन गई है।

लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में चार किसानों समेत नौ लोगों की मौत हो गई थी।

वकीलों ने कहा कि हिंसाग्रस्त उत्तर प्रदेश जिले में कानून के शासन की रक्षा करने की आवश्यकता है, जो प्रेस रिपोर्टो, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सार्वजनिक अनुभाग से स्पष्ट है। पत्र में कहा गया है कि यह घटना यूपी सरकार और संबंधित नौकरशाहों के साथ-साथ गृह मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में कानून तोड़ने वाली पुलिस मशीनरी के खिलाफ निर्देश देने की मांग करती है, ताकि हिंसा की प्रथा को रोका जा सके।

पत्र में कहा गया है, यह सम्मान के साथ प्रस्तुत किया जाता है कि आंदोलनकारी किसान संविधान के अनुच्छेद 21 के अर्थ के भीतर अपनी आजीविका के लिए संघर्ष कर रहे कृषि समुदायों की भलाई के लिए उचित सौदे के लिए अपनी उचित मांगों और दावों की न्यायसंगतता के विरोध में शांतिपूर्ण रहे हैं। पत्र में कहा गया है कि किसान अब देश की जनता की भीड़ का प्रतिनिधित्व करने के लिए सड़क पर हैं।

वकीलों ने कहा कि उनके आवेदन को जनहित याचिका के रूप में माना जा सकता है, ताकि दोषियों को न्याय के कटघरे में लाया जा सके।

पत्र में शीर्ष अदालत से रविवार को हुई इस भीषण घटना में शामिल लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश देने की मांग की गई और शीर्ष अदालत की निगरानी में उच्च स्तरीय न्यायिक जांच कराने की भी मांग की गई है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 06 Oct 2021, 01:05:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.