News Nation Logo
Banner

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का पड़ोसी बंगला नं 6 क्यो रहता है खाली, सुना है जो रहा तबाह हुआ

यूपी की नई सरकार के मंत्रियों को बंगले व आवास आवंटित हो चुके है। पर किसी ने भी बंगला नम्बर छ नहीं लिया।

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Singh | Updated on: 29 Mar 2017, 07:08:42 PM
बंगला नम्बर छ

बंगला नम्बर छ

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भले ही आज सीएम आवास 5, कालिदास मार्ग में गृह प्रवेश कर लिया हो। पर इस बार उनका पड़ोसी बंगला नम्बर 6 खाली ही रहेगा। यूपी की नई सरकार के मंत्रियों को बंगले व आवास आवंटित हो चुके है। पर किसी ने भी बंगला नम्बर छ नहीं लिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सभी नेता बंगला नम्बर छ: को अपशगुन मानते है। उनका कहना है कि जो भी नेता इस बंगले में रहता है उसका राजनीतिक करियर खराब हो जाता है। जानिए इस बंगले में रहने वालों की तबाही की कहानियां, जो सियासी गलियारों में काफी चर्चा में हैं:-

अमर-मुलायम का झगड़ा
माना जाता है कि इसी बंगले में रहने की वजह से अमर सिंह का सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव से झगड़ा हुआ था। यूपी में मुलायम की सरकार के दौरान अमर सिंह इसी बंगले में रहते थे, जिसके बाद दोनों का आपस में झगड़ा हो गया था और अमर सिंह को पार्टी से बाहर कर दिया गया था।

जावेद आब्दी हुए बर्खास्त
जावेद आब्दी अखिलेश का करीबी माना जाता था, उन्हें अखिलेश के बगल में छह नंबर बंगला मिला था। अब्दी को राज्यमंत्री का दर्ज दिया गया था और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का चेयरमैन बनाया गया था। लेकिन भ्रष्टाचार के मामले में अखिलेश यादव ने उन्हें पदों से बर्खास्त कर दिया था।

और पढ़ें: आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री आवास में किया प्रवेश, नवरात्र की पूजा में भी हुए शामिल

खटिया लग गए वकार अहमद शाह
2012 अखिलेश यादव की सरकार में तत्कालीन श्रम मंत्री वकार अहमद शाह ने इस बंगले में रहने आये थे। सालभर बाद उनकी तबीयत इतनी खराब हुई कि आज बिस्तर से नहीं उठ पाये। उनका इलाज लगातार चल रहा है। इस घटना के बाद परिजनों ने यह बंगला खाली कर दिया।

अफसर भी नहीं बचे
इस इत्तेफाक समझे या सच लेकिन ऐसा ही है। मुलायम सरकार के दौरान मुख्य सचिव रही नीरा यादव इसी बंगले में रहती थीं। वे नोएडा प्लॉट घोटाले में फंसी और उन्हें जेल भी जाना पड़ा। वहीं सामाजिक कल्याण प्रमुख सचिव के तौर पर रहने आये प्रदीप शुक्ला भी एनआरएचएम मामले में फंस गए।

नप गए कुशवाहा
बताते हैं कि मायावती की सरकार के वक्त कुशवाहा भी इसी बंगले में रहते थे, इन्हें माया सरकार का कद्दावर नेता माना जाता था। लेकिन बाद में इनका नाम सीएमओ मर्डर केस और अन्य घोटालों में आ गया। कभी इसी बंगले में दरबार लगाने वाले कुशवाहा अब जेल में हैं।

और पढ़ें: योगी आदित्यनाथ ने कहा, नमाज़ और सूर्य नमस्कार की मुद्राएं एक जैसी

वैसे सबसे ज्यादा सपा के ही नेताओं के लिए ये बंगला अपशगुन साबित हुआ है। अब देखते है कि योगी आदित्यनाथ के बंगले की तरह इसका शुद्धिकरण कोई करा पाएगा या नहीं।

और पढ़ें: जब भरी संसद में मुलायम से पूछा गया मोदीजी के कान में क्या कहा था?

First Published : 29 Mar 2017, 06:52:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Bunglow No 6
×