News Nation Logo
Banner

Rafale Deal : निर्मला सीतारमन का करारा जवाब, झूठ बोल रहे हैं राहुल गांधी, बरगला रहे हैं देश को

लोकसभा में राफेल मुद्दे पर शुक्रवार को रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन ने जवाब देते हुए कहा, सरकार की प्राथमिकता सेना की मजबूती है. हमारे पड़ोसी अपनी सैन्‍य शक्‍ति बढ़ा रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 04 Jan 2019, 05:04:16 PM
राफेल मुद्दे पर लोकसभा में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन उत्‍तर दे रही हैं. (वीडियो ग्रैब)

नई दिल्ली:

लोकसभा में राफेल मुद्दे पर शुक्रवार को रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन ने जवाब देते हुए कहा, सरकार की प्राथमिकता सेना की मजबूती है. हमारे पड़ोसी अपनी सैन्‍य शक्‍ति बढ़ा रहे हैं. उन्‍होंने कहा, हर मुद्दे पर सवालों का जवाब दूंगी. बता दें कि शुक्रवार को लोकसभा में नियम 193 के तहत लोकसभा में चर्चा हुई. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए निर्मला ने कहा, कांग्रेस तथ्‍यों से डरती है. देश में चारों तरफ खतरनाक माहौल तैयार कर दिया गया है. भारत की सीमा बेहद संवेदनशील है. पड़ोसी देश अपनी शक्‍तियों में इजाफा कर रहे हैं, लिहाजा हम इसकी अनदेखी नहीं कर सकते. हम अपने पड़ोसी नहीं बदल सकते. उन्‍होंने कहा, शांति के लिए हर मुमकिन काम करेंगे. हम जवाब देने से नहीं डरते. उन्‍होंने कहा, कांग्रेस 126 नहीं, 18 राफेल विमान खरीदने जा रही थी, जबकि हमने 18 से बढ़कर 36 विमानों का सौदा किया. उन्‍होंने कहा, राहुल गांधी 126 राफेल विमानों की खरीद की बात कर देश को बरगला रहे हैं. सदन में कुछ कहते हैं, बाहर कुछ कहते हैं. जिस दिन राहुल गांधी पीएम मोदी के गले लगे थे, उस दिन भी उन्‍होंने झूठ बोला था. वह सिर्फ देश को बरगला रहे हैं. 

रक्षा मंत्री ने कहा, 2022 तक सभी राफेल विमान देश में आ जाएंगे. इसी साल सितंबर में पहला विमान भारत आ जाएगा. उन्‍होंने कहा, तय वक्‍त से पांच माह पहले ही विमान आ जाएगा. रक्षा सौदे गोपनीय सौदे होते हैं. कांग्रेस सदस्‍यों के हंगामे के बीच निर्मला ने कहा, कांग्रेस की सरकार ने राफेल विमान क्‍यों नहीं खरीदे. दोनों सरकारों के बीच 2016 में समझौता हुआ.  हमने डील कर ली तो कांग्रेस को परेशानी हो रही है. हमने 14 महीने में डील की प्रक्रिया पूरी कर ली. चीन ने अपनी बायुसेना में 4000 नए विमान जोड़े हैं.  

निर्मला सीतारमन ने कहा, हमें पूर्वी और पश्‍चिमी फ्रंट पर लड़ाई का खतरा है. इसलिए समय से हथियार खरीदना हमारी प्राथमिकता में है. हमें अपनी प्राथमिकता खुद ही तय करनी चाहिए. कांग्रेस एचएएल (HAL) के लिए घड़ियाली आंसू बहा रही है. कांग्रेस को बताना चाहिए कि किसके लिए डील नहीं हुई. दसॉ ने एचएएल के बनाए विमान की गारंटी नहीं ली थी. रक्षा मंत्री के जवाब के बीच कांग्रेस के सदस्‍य सदन में हंगामा कर रहे हैं. भारी शोरगुल के बीच रक्षा मंत्री जवाब दे रही हैं.

उन्‍होंने विपक्ष के नेता मल्‍लिकार्जुन खड़गे को संबोधित करते हुए कहा, खड़गे जी स्‍थायी समिति के सदस्‍य हैं, जो रक्षा उत्‍पादन से संबंधित मामलों को देखती है. उस समिति ने कहा था, स्‍थायी समिति यह जानकर बहुत निराश है कि एचएएल ने तीन दशक में भी जरूरी एयरक्राफ्ट मुहैया नहीं कराए. उन्‍होंने कहा, जब बेंगलुरू में राहुल गांधी एचएएल में बैठक कर रहे थे, तब उन्‍होंने कहा था- राफेल आपका हक है. आपको इसे प्रोड्यूस करना चाहिए था.  

रक्षा मंत्री ने कहा, आपात स्‍थिति में हमेशा दो स्‍क्‍वाड्रन का सौदा होता है. 1982 में जब पाकिस्‍तान ने F16 खरीदा था, तब भारत सरकार ने दो स्‍क्‍वाड्रन मिग 23 खरीदने का फैसला किया था. 1985 में फ्रांस से 2 स्‍क्‍वाड्रन मिराज 2000 और 1987 में 2 स्‍क्‍वाड्रन मिग 29 खरीदने का फैसला हुआ था

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन बोलीं, राहुल गांधी ने 20 जुलाई को संसद में कहा था- मैंने फ्रांस के राष्‍ट्रपति से गोपनीय समझौते के बारे में बात की थी पर उन्‍होंने इन्‍कार कर दिया था. फ्रांस के राष्‍ट्रपति ने यह भी कहा था उन्‍हें रकम के सार्वजनिक होने से भी कोई आपत्‍ति नहीं है. रक्षा मंत्री ने राहुल के इस बयान पर सवाल उठाते हुए पूछा - कौन सच्‍चा है. दोनों में कोई एक गुमराह कर रहा है. आखिर कौन गुमराह कर रहा है.

First Published : 04 Jan 2019, 02:18:55 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.