News Nation Logo

Nirbhaya Case: तिहाड़ जेल में बने फ्लैट में रहेगा पवन जल्लाद, ऐसी होगी व्यवस्था

दिल्ली के चर्चित निर्भया गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को निर्भया मामले के दोषी पवन गुप्ता के किशोर होने का दावा करने वाली याचिका खारिज कर दी है. जस्टिस आर. भानुमति की अध्यक्षता वाली पीठ ने यह फैसला सुनाया था.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 22 Jan 2020, 11:16:31 AM
 pawan jallad

pawan jallad (Photo Credit: (फाइल फोटो))

नई दिल्ली:

दिल्ली के चर्चित निर्भया गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को निर्भया मामले के दोषी पवन गुप्ता के किशोर होने का दावा करने वाली याचिका खारिज कर दी है. जस्टिस आर. भानुमति की अध्यक्षता वाली पीठ ने यह फैसला सुनाया था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'हम कितनी बार वही बातें सुनेंगे, आपने इसे कई बार उठाया है.' बता दें कि पवन गुप्ता ने दिल्ली हाईकोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी थी, जिसमें अदालत ने यह मानने से इनकार कर दिया था कि जब उसने 16 दिसंबर, 2012 की रात निर्भया के साथ सामूहिक दुष्कर्म का अपराध किया था, तब वह एक किशोर था.

और पढ़ें: निर्भया के पिता ने दोषी के याचिका दायर करने की सीमा तय करने की अपील की

वहीं निर्भया को दोषियों को फांसी पर लटकाने वाला पवन जल्लाद 30 जनवरी को तिहाड़ जेल पहुंचेगा, यहां वो 1 फरवरी की दोपहर तक रहेगा. पवन के रहने के लिए फोल्डिंग बैड, रजाई और गद्दे की व्यवस्था की जा रही है. 

बताया जा रहा है कि तिहाड़ जेल मुख्यालय से चंद कदम दूर स्थित सेमी ओपन जेल के एक फ्लैट से तीन कैदियों को दूसरे कमरे में स्थानांतरित किया गया है. सूत्रों के मुताबिक इस कमरे को जल्लाद पवन के लिए खाली कराया गया है. इस कमरे में उसके ठहरने का इंतजाम किया जाएगा.

जेल सूत्रों के मुताबिक, मंगलवार शाम सेमी ओपन जेल में बने एक फ्लैट को खाली कराया गया. इस फ्लैट में वे तीन कैदी रह रहे हैं, जिनकी सजा के 13 साल पूरे हो चुके हैं. इन तीनों को अन्य कैदियों के साथ रखा गया है. खाली कराया गया फ्लैट पवन जल्लाद के लिए रखा गया है. 30 जनवरी को पवन जल्लाद तिहाड़ पहुंच रहा है.

सूत्रों ने बताया कि तीन नंबर जेल में बंद निर्भया के चारों दोषी मुकेश, अक्षय, पवन और विनय की मंगलवार सुबह करीब 11 बजे जेल के ही अस्पताल में मेडिकल जांच कराई गई. सुबह विनय ने अपने पेट में दर्द होने की शिकायत की थी. डॉक्टरों ने उसकी जांच की और दवाई दी.

ये भी पढ़ें: निर्भया के गुनहगारों को 'गरुड़ पुराण' सुनाने के लिए तिहाड़ जेल प्रशासन से मांगी अनुमति तो...

इस संबंध में जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि शाम को भी चारों की जांच कराई. इनकी सभी रिपोर्ट सामान्य आईं. बताया गया कि मंगलवार रात उनकी सुरक्षा के लिए सेल के आसपास चार-चार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. इनमें जेल के वार्डन तथा टीएसपी के पुलिसकर्मी शामिल हैं.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 22 Jan 2020, 11:16:31 AM