News Nation Logo
Banner

भारत में अफ्रीकी देश के छात्रों पर हमले के बाद नाइजीरियाई सरकार ने जताई नाराजगी

नाइजीरिया ने भारतीय उच्चायुक्त को तलब कर भारत में नाइजीरियाई छात्रों पर हमले पर विरोध जताया।

IANS | Updated on: 30 Mar 2017, 10:09:53 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

नाइजीरिया ने भारतीय उच्चायुक्त को तलब कर भारत में नाइजीरियाई छात्रों पर हमले पर विरोध जताया। नाइजीरिया ने घटना पर चिंता जताते हुए कहा कि यह घटनाएं कोई पहली बार नहीं हुई हैं। नाइजीरिया के विदेश मंत्रालय के स्थायी सचिव सोला एनिकानोलैये ने भारतीय उच्चायुक्त नागभूषण रेड्डी को अबुजा में बुधवार को तलब किया।

एनिकानोलैये ने ट्वीट किया, 'मेरी अभी भारतीय उच्चायुक्त के साथ एक बैठक समाप्त हुई है जिसमें मैंने नाइजीरियाई लोगों पर हमले को लेकर नाराजगी व्यक्त की है।'

उन्होंने कहा कि भारतीय उच्चायुक्त ने मामले में भारत सरकार के घटना को लेकर ठोस कदम उठाए जाने की सूचना दी है और न्याय का वादा किया है।

एनिकानोलैये ने कहा कि भारतीय उच्चायुक्त को इस घटना को लेकर नाइजीरिया सरकार की चिंता से अवगत कराने के लिए बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए चिंता की बात है कि नाइजीरियाई छात्रों को उस जगह परेशान किया गया, पीटा गया और उनमें बहुत से गंभीर रूप से घायल हैं।

उन्होंने कहा, 'हमारा मानना है कि दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध को देखते हुए ऐसा नहीं होना चाहिए। दोनों देशों में बहुत सी समानताएं हैं और अच्छी दोस्ती भी है।'

'टुडे' की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि मंत्रालय की चिंता यह है कि इस तरह की घटनाओं से दोनों देशों के बीच संबंधों को प्रभावित करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।

उन्होंने यह चिंता जताई कि यह इस तरह की पहली घटना नहीं है। उन्होंने कहा, 'यह पहली बार नहीं है कि ऐसा घटित हुआ है। नाइजीरियाई लोगों पर पहले भी इस तरह के हमले हुए है, इसलिए इस मौके पर हम चाहते हैं कि दोषियों को गिरफ्तार किया जाए।'

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा, हाफिज सईद के खिलाफ भारत ने नहीं दिये सबूत

उन्होंने भारतीय राजनयिक से कहा, 'इसलिए हमने महसूस किया कि इस मौके पर हमें अपनी चिंताएं दर्ज करानी चाहिए जिससे आप अपनी सरकार से प्रभावी उपाय करने को कहें ताकि यह फिर से घटित नहीं हो।'

नाइजीरियाई छात्रों पर हमला सोमवार रात को ग्रेटर नोएडा में हुआ। यह हमला एक आवासीय कालोनी के 12वीं के छात्र की मौत के बाद किया गया। कहा गया है कि छात्र की मौत मादक पदार्थ की ज्यादा मात्रा लेने की वजह से हुई थी। प्रदर्शन में शामिल लोगों ने नाइजीरियाई छात्रों पर मादक पदार्थ फैलाने का आरोप लगाते हुए हमला किया।

ये भी पढ़ें: संसद से वित्त विधेयक 2017 पारित, राज्यसभा के संशोधन खारिज

 

First Published : 30 Mar 2017, 09:50:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×