News Nation Logo
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया नई पार्टी बनाने का ऐलान, कहा- सभी 117 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव पेगासस जासूसी मामले की जांच करेगी एक्सपर्ट कमेटी, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश कोविड के चलते दक्षिण 24 परगना जिले के सोनारपुर इलाके में 3 दिन का लॉकडाउन बॉम्बे हाईकोर्ट में नवाब मलिक के खिलाफ PIL दायर, ड्रग्स केस में टिप्पणी से रोकने की मांग पंजाब में दिवाली पर 2 घंटे पटाखे चलाने की इजाजत, रात 8 से 10 बजे तक कर सकेंगे आतिशबाजी अक्टूबर महीने में 20वीं बार महंगा हुआ पेट्रोल और डीजल दिल्ली में पेट्रोल 35 पैसे और डीजल 35 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ पीएम मोदी आज ईस्ट एशिया समिट को संबोधित करेंगे, वर्चुअली होंगे शामिल

NIA के हाथ में गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर जब्त हुई 21,000 करोड़ रुपये की ड्रग्स की जांच

बरामद हेरोइन की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजारों में 21,000 करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जिसे दुनिया में सबसे बड़ी ड्रग्स में से एक माना जाता है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 06 Oct 2021, 11:49:54 PM
mundra port

मुंद्रा बंदरगाह (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • विशेष अदालत ने सुधाकर दंपति को डीआरआई की 10 दिन की हिरासत में भेज दिया  
  • 13 सितंबर को डीआरआई ने दोनों कंटेनरों को हिरासत में लिया था
  • अब तक "चार अफगान नागरिक, एक उज़्बेक और तीन भारतीयों सहित कुल आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने बुधवार को गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर 21,000 करोड़ रुपये मूल्य के 2,988 किलोग्राम मादक पदार्थ की जब्ती की जांच को अपने हाथ में ले ली है. यह मादक पदार्थ अफगानिस्तान से आने वाला 'अर्ध-संसाधित तालक पत्थर' है जो ईरान के बंदर अब्बास पोर्ट भारत आया था. राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) ने सितंबर माह में कच्छ जिले के मुंद्रा बंदरगाह पर दो कंटेनरों से 2,988.21 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी. इस मामले में अब तक पांच विदेशी नागरिकों समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

13 सितंबर को डीआरआई ने दोनों कंटेनरों को हिरासत में लिया था. 17 और 19 सितंबर को जांच के बाद यह तय हो गया था कि दोनों कंटेनरों में हेरोइन थी जिसे "जंबो बैग" की "निचली परतों" में छुपाया गया था, जो तालक पत्थरों के साथ सबसे ऊपर थी. इसमें कहा गया है कि ड्रग्स को "तालक पत्थरों से जोड़ा गया" था.

डीआरआई ने तब चेन्नई से एम सुधाकर और उनकी पत्नी दुर्गा वैशाली को गिरफ्तार किया-जो कथित तौर पर विजयवाड़ा-पंजीकृत मेसर्स आशी ट्रेडिंग कंपनी चलाते थे, जिसने 'तालक स्टोन्स' की खेप का आयात किया था.

भुज में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट के मामलों की विशेष अदालत ने सोमवार को सुधाकर दंपति को डीआरआई की 10 दिन की हिरासत में भेज दिया था.

यह भी पढ़ें: लखीमपुर खीरी हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया, मामले की सुनवाई गुरुवार को

बरामद हेरोइन की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजारों में 21,000 करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जिसे दुनिया में सबसे बड़ी ड्रग्स में से एक माना जाता है. एक किलो ड्रग्स 5 से 7 करोड़ रुपये में बिकती है.

प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) ने एक बयान में कहा  कि अब तक "चार अफगान नागरिक, एक उज़्बेक और तीन भारतीयों सहित कुल आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए भारतीय नागरिकों में आयात निर्यात कोड (आईईसी) का धारक शामिल है जिसका उपयोग खेप को आयात करने के लिए किया गया था. उसे चेन्नई से गिरफ्तार किया गया था. मामले की  "जांच जारी है."

कुछ दिनों पहले कच्छ जिले के मुंद्रा बंदरगाह पर पहुंचे दो कंटेनरों से हेरोइन की एक आश्चर्यजनक मात्रा की जब्ती के बाद, डीआरआई ने देश भर में छापे मारे और दिल्ली में एक गोदाम से 16.1 किलोग्राम हेरोइन जब्त की है.

इस तरह अब तक हेरोइन की कुल बरामदगी 3,004 किलोग्राम हो गई है. एजेंसी ने "नोएडा में एक रिहायशी जगह" से 10.2 किलोग्राम संदिग्ध कोकीन और हेरोइन होने के संदेह में  11 किलोग्राम अन्य पदार्थ भी बरामद किया है.

First Published : 06 Oct 2021, 11:30:15 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.