logo-image
लोकसभा चुनाव

पश्चिम बंगाल में ED के बाद अब NIA टीम पर भीड़ ने किया हमला, गाड़ियों पर बरसाए पत्थर

NIA Team Attacked: पश्चिम बंगाल में जांच के लिए पहुंची टीम पर एक बार फिर से हमला किया गया है. इस बार एनआईए की टीम पर ग्रामीणों ने धावा बोल दिया.

Updated on: 06 Apr 2024, 11:16 AM

highlights

  • पश्चिम बंगाल में अब NIA टीम पर हमला
  • पूर्वी मेदिनीपुर में भीड़ ने किया पथराव
  • TMC नेता को हिरासत में लेने पर उग्र हुई भीड़

नई दिल्ली:

NIA Team Attacked: पश्चिम बंगाल में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम पर हमले के बाद अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की टीम पर हमला किया गया है. ये हमला पूर्वी मेदिनीपुर जिले में किया गया. एनआईए के मुताबिक, इस हमले में एजेंसी का एक अधिकारी घायल भी हुआ है. बताया जा रहा है कि  एनआईए की टीम शनिवार सुबह पूर्वी मेदिनीपुर जिले के भूपतिनगर में टीएमसी के एक नेता के घर जांच के लिए पहुंची थी. ये जांच 2022 में हुए विस्फोट के मामले को लेकर थी.

तभी वहां लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गई और उन्होंने टीम पर हमला बोल दिया. बताया जा रहा है कि एनआईए अधिकारियों ने जब दो आरोपियों को पकड़ लिया और उन्हें अपने साथ ले जाने लगे तो वहां भारी संख्या में ग्रामीण पहुंच गए और उन्होंने अधिकारियों को रोकने की कोशिश की इस दौरान उन्होंने एनआईए टीम की गाड़ियों पर पथराव कर दिया.

ये भी पढ़ें: 'पाकिस्तान में घुस कर मारेंगे', आतंकियों को राजनाथ सिंह की कड़ी चेतावनी

शनिवार तड़के हुआ टीम पर हमला

बताया जा रहा है कि ये घटना शनिवार तड़के करीब 5.30 बजे हुई. इस दौरान एनआईए की टीम के साथ केंद्रीय सुरक्षा बल भी साथ पहुंचे थे. सीआरपीएफ के जवानों की मदद से एनआईए की टीम हिरासत में लिए गए आरोपियों को लेकर कोलकाता के लिए रवाना हुई.

किस मामले में जांच के लिए पहुंची थी टीम

एनआईए की टीम पूर्वी मेदिनीपुर के भूपतिनगर में 3 दिसंबर, 2022 को हुए विस्फोट के मामले में पहुंची थी. इस विस्फोट में छप्परपोश घर ध्वस्त हो गया था, जिसमें तीन लोगों की मौत हुई थी. इस विस्फोट के सिलसिले में एनआईए ने पिछले महीने ही टीएमसी के 8 नेताओं को तलब किया था. तब केंद्रीय जांच एजेंसी ने इन सभी नेताओं को अपने अधिकारियों के सामने पेश होने के लिए कहा था, क्योंकि ये नेता एनआईए के पहले के समन में शामिल नहीं हुए थे, जिसमें उन्हें 28 मार्च को पास के न्यू टाउन में एनआईए कार्यालय पहुंचने का निर्देश दिया गया था.

ये भी पढ़ें: 'पाकिस्तान में घुस कर मारेंगे', आतंकियों को राजनाथ सिंह की कड़ी चेतावनी

राज्य में दूसरी बार हुआ केंद्रीय टीम पर हमला

बता दें कि पश्चिम बंगाल में इस साल ये दूसरी बार है जब किसी केंद्रीय जांच टीम पर भीड़ ने हमला किया हो. इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम पर हमला किया गया था. ये हमला तब किया गया था जब ईडी की टीम संदेशखाली में टीएमसी नेता शाहजहां शेख के ठिकानों पर छापेमारी के लिए पहुंची थी. इसी दौरान भीड़ ने टीम पर हमला कर दिया.  शाहजहां शेख राज्य के पूर्व खाद्य मंत्री ज्योति प्रिया मल्लिक के करीबी बताए जाते हैं. वह करोड़ों रुपये के राशन वितरण घोटाला के मामले में जेल में बंद हैं. इस हमले में ईडी टीम क के तीन अधिकारी घायल हो गए थे. जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था.