News Nation Logo

#NNExposesPFIConspirancy LIVE : पीएफआई आतंक फैलाने का काम करता है- स्वामी चक्रपाणि

बीते दिन लखनऊ से द पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) के दो सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद कई खुलासे हुए हैं. पीएफआई के निशाने पर प्रमुख हिंदू संगठन हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 20 Feb 2021, 01:08:10 PM
PFI

पीएफआई के दंगाई, खौफनाक साजिश सामने आई (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:

बीते दिन उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से द पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) के दो सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद कई खुलासे हुए हैं. पीएफआई के निशाने पर प्रमुख हिंदू संगठन हैं. दो सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद यह सामने आया कि उनके निशाने पर हिंदू संगठनों के बड़े नेता थे. पीएफआई का मंसूबा न सिर्फ देश का अमन चैन को बिगाड़ने का है, बल्कि कानून व्यवस्था की स्थिति पैदा करने का भी है. इस बीच पीएफआई का एक खतरनाक वीडियो भी सामने आया है. जिसमें हिंदुओं को निशाना बनाए जाने की बात सामने आई है.

हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि पीएफआई आतंक फैलाने का काम करता है.

कट्टरपंथ छोड़कर सभी लोग सामने आएं- इफरा जान

विनोद बंसल ने कहा कि इस्लामिक आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद होना चाहिए.

पीएफआई के वीडियो पर इस्लामिक स्कॉलर इफरा जान ने कहा कि जय श्रीराम कहने से हिंदुओं की पिक्चर कम नहीं होती तो अल्लाह हू अकबर कहने से कैसा किसी की पिक्चर कैसे कम हो जाती है, समझ नहीं आता.

पीएफआई जैसे संगठन और ऐसी विचारधारा वाले चाहते हैं कि हर मुस्लिम जिहादी हो. आतंकवादी बने. ये विश्व में मुस्लिमों की छवि खराब कर रहे हैं- विनोद बंसल

वीएचपी के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि मोपला विद्रोह नहीं, बल्कि इसको मोपला आतंक और मोपला जिहाद कहना चाहिए. यह हिंदुओं का नरसंहार किया गया था. 

पीएफआई की साजिश पर राजनीतिक विश्लेषक मादिक हैदरी ने कहा कि आज आरएसएस को बेड़ियां पहनाने की जरूरत है.

1921 में मोपला विद्रोह में हिंदुओं का नरसंहार हुआ था. 

पीएफआई के जुलूस का वीडियो सामने आया है. यह जुलूस हिंदुओं पर हुए नरसंहार की याद में निकाला गया. वीडियो के जरिए पीएफआई ने हिंदुओं पर निशाना साधा.

First Published : 20 Feb 2021, 12:22:37 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.