News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

विभिन्न देशों को सैटेलाइट सेवा के जरिए लाभ पहुंचा रहा है चीन

विभिन्न देशों को सैटेलाइट सेवा के जरिए लाभ पहुंचा रहा है चीन

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Dec 2021, 06:30:01 PM
new from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: चीन ने पिछले कुछ वर्षों से विज्ञान व तकनीक के विकास पर बहुत ध्यान दिया है। साथ ही मौसम व कृषि आदि के क्षेत्र में ज्यादा सटीक अनुमान लगाने के लिए सैटेलाइट छोड़ने में भी चीनी वैज्ञानिक अहम भूमिका निभा रहे हैं। इसके कारण हमने देखा है कि चीन में विभिन्न आपदाओं का समय पर अनुमान लगाया जा रहा है, ताकि जान-माल का कम से कम नुकसान हो। हाल के दिनों में बारिश, बाढ़ व तूफान आदि से पहले चीन के मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की। जिससे लोगों को समय से पहले सावधान होने का मौका मिला।

बता दें कि चीन न सिर्फ अपने लोगों को ये लाभ पहुंचा रहा है, बल्कि अन्य देशों में भी मदद दे रहा है। चीन के संबंधित विभाग के अनुसार चीन का फंगयुन 121 देशों और क्षेत्रों को मौसम संबंधी सैटेलाइट डेटा प्रदान कर रहा है। सबसे अहम बात यह है कि यह चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की महात्वाकांक्षी योजना बेल्ट एंड रोड से भी जुड़ता है। यह उपग्रह 85 ऐसे देशों और क्षेत्रों को कवर करता है, जो बेल्ट एंड रोड पहल से लगते हैं।

चीनी मौसम विज्ञान प्राधिकरण के मुताबिक फंगयुन सैटेलाइट चीन द्वारा विकसित रिमोट-सेंसिंग मौसम संबंधी उपग्रहों की एक सीरीज है। बताया जाता है कि इस साल लॉन्च किए गए दो नए उपग्रह, फंगयुन-3 ई और फंगयुन-4 बी को दूसरे देशों से आर्डर हासिल हो चुके हैं।

इतना ही नहीं चीनी वैज्ञानिकों ने 92 देशों और क्षेत्रों के 1,400 से अधिक पेशेवरों को तकनीकी ट्रेनिंग भी दी है।

उल्लेखनीय बात यह है कि सभी यूजर्स के लिए डेटा सेवाएं और तकनीकी कर्मियों को निशुल्क प्रशिक्षण दिया गया है। यह चीन द्वारा की जा रही मदद और मंशा को जाहिर करता है।

गौरतलब है कि चीन की 14वीं पंचवर्षीय योजना में इस बारे में अहम निर्णय लिया गया है। इस अवधि में पांच और मौसम संबंधी उपग्रहों को लांच करने और साल 2035 तक तीसरी पीढ़ी के फंगयुन उपग्रह अवलोकन प्रणाली को अपग्रेड करने की योजना बनायी गयी है। ताकि आपदा निवारण और राहत कार्यों में बेल्ट एंड रोड से जुड़े देशों के नागरिकों को बेहतर सेवा प्रदान की जा सके।

इससे जाहिर होता है कि चीन उपग्रह प्रणाली को साझा करने और विभिन्न देशों को लाभ पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस व्यवस्था से कई देशों को समय पर आपदा आदि मुसीबतों का पता लग सकेगा, जिससे वे बचाव कार्य करने में समर्थ होंगे।

(अनिल पांडेय, पेइचिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Dec 2021, 06:30:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.