News Nation Logo
राम रहीम को रंजीत सिंह हत्या मामले में उम्रकैद की सजा पंचकूला की CBI अदालत ने सजा का ऐलान किया अन्य 4 दोषियों पर 50-50 हजार रुपए का जुर्माना अदालत ने राम रहीम पर 31 लाख का जुर्माना भी लगाया लंबी लड़ाई के बाद पीड़ित परिवार को मिला इंसाफ डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के साथ 5 लोगों को उम्र कैद पंजाब: जालंधर-फगवाड़ा हाईवे पर धनोवाली में एक तेज रफ़्तार गाड़ी ने 2 युवतियों को कुचला देश में अब तक कोविड वैक्सीन की 98 करोड़ डोज़ लगाई गई है: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया आंतरिक सुरक्षा पर राज्यों के IG और DGP के साथ आज अमित शाह की बैठक कश्मीर में एक और आतंकी साजिश का अलर्ट, सुरक्षा बढ़ाई गई दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने “रेड लाईट ऑन, गाड़ी ऑफ” अभियान की शुरुआत की पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की अध्यक्षता में चंडीगढ़ में कैबिनेट की बैठक हुई महाराष्ट्रः कल्याण की आधारवाड़ी जेल में 20 कैदी कोरोना पॉजिटिव आर्यन खान पर NCB का बड़ा बयान, आर्यन की काउंसिलिंग की गई आर्यन ने दोबारा गलती न करने की बात कही: NCB रिहाई के बाद गरीबों के लिए काम करेंगे आर्यन खान: NCB कांग्रेस सिर्फ एक परिवार की पार्टी है: संबित पात्रा कश्मीर पर कांग्रेस भ्रम फैला रही है: संबित पात्रा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं से सावधानी बरतने की अपील की भाजपा कार्यालय में हो रही राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक का पहला चरण खत्म किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर मोदी नगर (उ.प्र.) में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी ISI Chief पर बीवी के टोटके पर अड़े इमरान, पाक सेना के जनरल ने लगाई लताड़ संयुक्त किसान मोर्चा के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर प्रदर्शनकारी बहादुरगढ़ में रेलवे ट्रैक पर बैठे दिल्ली में लगातार दूसरे दिन भी बारिश का दौर जारी. जगह-जगह जलभराव

बुजुर्गों की देखभाल की जाए, उनके वृद्ध जीवन को और बेहतर बनाया जाए

बुजुर्गों की देखभाल की जाए, उनके वृद्ध जीवन को और बेहतर बनाया जाए

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 19 Sep 2021, 07:30:01 PM
new from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: हर वर्ष 21 सितंबर को विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया जाता है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय मनोभ्रंश दिवस भी कहा जाता है। मनोभ्रंश रोग की खोज जर्मन डॉक्टर एलोइस अल्जाइमर द्वारा सन 1906 में की गई। इस तरह इसे अल्जाइमर डिजीज (एडी) नाम दिया गया। इसके कारण रोगी की स्मृति और संज्ञानात्मक कार्य कम हो जाते हैं, उनके व्यवहार में विचलन पैदा होता है, यहां तक कि कुछ पागल कल्पनाएं पैदा होती हैं, और धीरे-धीरे उनके सामाजिक जीवन के अनुकूल होने की क्षमता खत्म हो जाती है। इस वर्ष 21 सितंबर को 28वां विश्व अल्जाइमर दिवस है, जिसकी थीम है रोग और खुद को जानें, जल्द निदान से शीघ्र बुद्धि प्राप्त करें।

वर्तमान में चीन जनसंख्या की उम्र बढ़ने के तेजी से विकास के चरण में प्रवेश कर चुका है। बुजुर्ग आबादी की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। देश में जीवन प्रत्याशा में निरंतर वृद्धि के साथ, उम्र बढ़ने वाले समाज में अल्जाइमर रोग एक आम समस्या बन गई है। इस वर्ष 11 मई को, राष्ट्रीय सांख्यिकी बूयरो द्वारा जारी सातवीं राष्ट्रीय जनगणना के मुख्य आंकड़ों के अनुसार, चीन में 60 वर्ष और उससे अधिक आयु वालों की संख्या 26 करोड़ 40 लाख है, जो कुल जनसंख्या का 18.7 प्रतिशत है। वहीं, 65 वर्ष और उससे अधिक आयु वालों की संख्या 19 करोड़ है, जो कुल जनसंख्या का 13.5 प्रतिशत हिस्सा है। राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के प्रधान निंग चीत्से के मुताबिक, जनसंख्या का बुढ़ापा सामाजिक विकास में एक महत्वपूर्ण प्रवृत्ति है, और यह भविष्य में लंबे समय तक चीन की बुनियादी राष्ट्रीय स्थिति भी है।

आंकड़ों के मुताबिक, चीन में अल्जाइमर के रोगियों की संख्या दुनिया में पहले स्थान पर है, लेकिन इस रोग के उपचार की दर अपेक्षाकृत कम है। इसके कारणों में चीन की जनसंख्या की तेजी से उम्र बढ़ने की प्रवृत्ति के अलावा, एक और महत्वपूर्ण कारण है कि बहुत से लोगों के पास इस बीमारी के बारे में अभी भी गलतफहमी मौजूद है। परिवार के कई सदस्य बीमारी को ठीक से नहीं पहचानते, और घर में अल्जाइमर रोग से ग्रस्त बुजुर्ग के प्रति दूसरे परिवार सदस्य को लगता है कि वह बढ़ती उम्र की वजह से उलझन होता है या तो यह उसकी सामान्य विकास स्थिति है। इस कारण बुजुर्ग का रोग गंभीर रूप से विकसित हो जाता है, जिससे रोगी और परिवार पर भारी बोझ पड़ता है।

चीन में एक कहावत है कि घर में एक बुजुर्ग, जैसे कोई खजाना हो। घर में बुजुर्ग बच्चों के दिलों का ठोस सहारा है। उन्होंने समाज के विकास और परिवार के निर्माण में योगदान दिया था, उन्हें अपने वृद्ध जीवन का आनंद लेने देना उनके बच्चों की जिम्मेदारी और दायित्व है। बुजुर्गों की देखभाल करने के लिए केवल कभी-कभी फोन करना या त्यौहारों की छुट्टियों में दूर के कार्य स्थल से घर वापस लौटना काफी नहीं है, इससे कहीं अधिक महत्वपूर्ण है कि हम बुजुर्गों के विचारों को समझें और उनके साथ-साथ रहें।

बाल सफेद होने का सामना करने के दौरान हमें बुजुर्गों के शारीरिक स्वास्थ्य की देखभाल करने के साथ-साथ उनके मानसिक स्वास्थ्य का भी अधिक ख्याल रखना चाहिए, ताकि उनका बुढ़ापा और सुन्दर हो। बुजुर्गों का और अच्छी गुणवत्ता वाला जीवन बिताने के लिए पूरे समाज को देखभाल और कोशिश की आवश्यकता है।

(थांग युआनक्वेइ, चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 19 Sep 2021, 07:30:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.