News Nation Logo

क्या मशीनी अनुवाद पेशेवर अनुवादक की जगह ले सकता है?

क्या मशीनी अनुवाद पेशेवर अनुवादक की जगह ले सकता है?

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 29 Sep 2021, 12:00:02 AM
New from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: 30 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस है। यह दिन विश्व भर के अनुवादकों के लिए गौरव का दिन है। ध्यान रहे, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 24 मई 2017 को विभिन्न देशों के बीच पारस्परिक संपर्क व संवाद पूरा करने और शांति ,समझ और विकास में पेशेवर अनुवाद की भूमिका पर नंबर 71/288 प्रस्ताव पारित किया और 30 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस मनाए जाने की घोषणा की।

आज का विश्व तेजी से विकसित हो रहा है, खासकर उच्च विज्ञान और प्रौद्योगिकी। हमारे जीवन में उच्च तकनीकों के प्रयोग से कई परंपरागत पेशे गायब हो चुके हैं। तो ऐसे में सवाल आता है कि क्या मशीनी अनुवाद पेशेवर अनुवादक की जगह ले सकता है ,क्योंकि हमारे पास तमाम अनुवाद साफ्टवेयर,एप्प और इलेक्ट्रानिक ट्रांसलेशन उपकरण मौजूद हैं। जवाब यही है कि वर्तमान में मशीनी अनुवाद सिर्फ सहायक भूमिका निभा सकता है और पेशेवर अनुवादक अंतर्राष्ट्रीय आदान प्रदान में अपरिहार्य हैं। उच्च स्तरीय अनुवादक मूल्यवान बने हुए हैं और रहेंगे।

आज मशीन किसी शब्द , सरल वाक्य व आलेख का अनुवाद कर सकती है। अगर विषय जटिल है और अनुवाद की सटीकता और गुणवत्ता की ऊंची मांग है, तो मशीन की खामियां फौरन ही नजर आती हैं। हिंदी से चीनी भाषा में अनुवाद का एक छोटा उदाहरण लेते हैं। जब गूगल ट्रांसलेशन में टाइप किया गया कि वह लड़का नौ दो ग्यारह हो गया ,तो अनुवाद के बाद चीनी वाक्य निकला कि वह लड़का नौ बजकर इक्कीस हो गया। सटीकता के अभाव के अलावा मशीन का अनुवाद निर्जीव या यांत्रिक है और भाषण के धाराप्रवाह ,साफ और सुंदरता से काफी दूर है। यानी मशीन से अनुवादित रचना में भाषा का आकर्षण खो जाता है। इसके पीछे मूल कारण है कि कंप्यूटर को जो सूचनाओं के निपटारे का तरीका है, वह मानव के ब्रेन से एकदम अलग है। कंप्यूटर की गिनती की गति और सटीकता मानव ब्रेन के औसत स्तर से काफी तेज है, लेकिन भाषा की समझ, तर्क और फैसले लेने में चाहे सबसे प्रगतिशील कंप्यूटर है, वह मानव बुद्धिमता की तुलना नहीं कर सकता। भाषा की अभिव्यक्ति एक कला मानी जाती है। इसलिए अनुवाद वास्तव में कला भी है। अनुवाद में हमेशा बेहतर होता है। वर्तमान में मशीनी अनुवाद बुनियादी स्तर पर कहा जाता है।

पर मशीनी अनुवाद और मानव का अनुवाद प्रतिद्वंद्वी नहीं है। उनको साझेदार बनना चाहिए। पेशेवर अनुवादक अपने कार्य में मशीनी अनुवाद का प्रयोग कर सकते हैं। जैसे लिखित अनुवाद में पेशेवर अनुवादक मशीनी अनुवाद के आधार पर रचना की सटीकता सुधार सकते हैं और उसकी भाषा को पॉलिश कर सकते हैं ताकि गुणवत्ता और सटीकता को सुनिश्चित किया जाए और कार्य कुशलता उन्नत की जाए। और इसकी एक पूर्व शर्त है कि अनुवादक के स्तर को किसी ऊंचाई पर पहुंचना है।

(वेइतुंग ,चाइना मीडिया ग्रुप , पेइचिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 29 Sep 2021, 12:00:02 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो