News Nation Logo
Banner
Banner

विश्व पर्यावास दिवस : विश्व भर में लोगों को पर्यावास उपलब्ध कराना

विश्व पर्यावास दिवस : विश्व भर में लोगों को पर्यावास उपलब्ध कराना

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 04 Oct 2021, 09:50:01 PM
New from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: विश्व के विभिन्न देशों में हर साल अक्टूबर माह के पहले सोमवार को विश्व पर्यावास दिवस मनाया जाता है। भारत, पोलैंड, चीन, मेक्सिको, युगांडा, अंगोला, अमेरिका जैसे देशों में इसका आयोजन किया जाता है, ताकि विश्व भर में तीव्र नगरीकरण के बढ़ते हुए कारण और उनका वातावरण पर प्रभाव और गरीबी निवारण में उनकी भूमिका का पता लग सके।

दरअसल, संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 1985 में इस दिवस को मनाने की घोषणा की गई थी। इसके बाद से हर साल यह दिवस मनाया जाता है। इस दिन संयुक्त राष्ट्र बेहतर आवासीय व्यवस्था से जुड़ी घटनाओं, गतिविधियों, विकास की योजनाओं और इसे प्राप्त करने के समाधान के बारे में चर्चा करता है।

इस दिवस को मनाने का खास उद्देश्य है इंसान के मूल अधिकारों की पहचान करना और पर्याप्त आश्रय देना। साथ ही, गरीबी को समाप्त कर बेहतर जीवन के लिए जमीनी स्तर पर कार्रवाई करना।

हालांकि, हर साल संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा कई विषयों का चुनाव किया जाता है। चुने गए विषय वस्तुत: पयार्वास के लिए महत्वपूर्ण तथ्य होते हैं और उसके विकास में अत्यंत जरूरी होते हैं। उस विषय के अनुसार लोगों के बेहतर जीवन के लिए निर्णय लिए जाते हैं। इस साल का विषय है कार्बन मुक्त दुनिया के लिए शहरी कार्रवाई में तेजी लाना।

इन विषयों के चुनाव के पीछे मूल उद्देश्य विश्व भर में लोगों को पर्यावास उपलब्ध कराना और उनका बेहतर विकास करना होता है और सतत विकास की नीतियों को बढ़ावा देना होता है।

इस दिन को वैश्विक अनुपालन दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह कोई एक सार्वजनिक अवकाश नहीं है। इस दिवस को मनाने का लक्ष्य पयार्वास को बढ़ावा देने के रूप में अनेक प्रकार की गतिविधि आयोजित की जाती है। इसमें केंद्र सरकार, स्थानीय सरकार, नागरिक समाज, निजी क्षेत्र और मीडिया उसके सहयोगियों के रूप में कार्य करते हैं।

संयुक्त राष्ट्र पयार्वास मिशन के दौरान शहरी क्षेत्रों में अधिक से अधिक वृक्षारोपण करना, वायु प्रदूषण रहित वातावरण बनाना, झुग्गी में रहने वाले लोगों में सुधार लाना, शहरी योजनाओं में वृद्धि करना, शहर और गाँवों में बेहतर कचरा प्रबंधन करना, शुद्ध पानी उपलब्ध होना, बच्चों के लिए उपयुक्त पर्यावरण, प्रदूषण मुक्त वातावरण सुनिश्चित करवाना आदि मामलों पर ध्यान दिया जाता है।

(अखिल पाराशर, चाइना मीडिया ग्रुप, बीजिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 04 Oct 2021, 09:50:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.