News Nation Logo

चीन 16 अक्टूबर को मानवयुक्त अंतरिक्ष यान शेनचोउ-13 को लॉन्च करेगा

चीन 16 अक्टूबर को मानवयुक्त अंतरिक्ष यान शेनचोउ-13 को लॉन्च करेगा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 14 Oct 2021, 10:00:01 PM
New from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: चीन के मानवयुक्त अंतरिक्ष परियोजना कार्यालय के मुताबिक 16 अक्तबूर को चीनी मानवयुक्त अंतरिक्ष यान शेनचोउ-13 को ले जाने वाले लॉन्ग मार्च-2 एफ याओ-13 वाहक रॉकेट को च्योछ्वान उपग्रह प्रक्षेपण सेंटर में लॉन्च किया जाएगा। शेनचोउ-13 अंतरिक्ष यान में चालक दल के दो पुरुष अंतरिक्ष यात्री चाई चीगांग व ये गुआंगफू और एक महिला अंतरिक्ष यात्री वांग याफिंग आदि 3 चीनी अंतरिक्ष यात्री शामिल होंगे। वे अंतरिक्ष में 6 महीने तक रहेंगे।

शेनचोउ-12 अंतरिक्षयान की वापसी 17 सितंबर को चीन के डोंगफेंग लैंडिंग क्षेत्र में लैंडिंग के साथ हुई। शनचो-12 अंतरिक्षयान के 3 चीनी अंतरिक्ष यात्रियों के साथ सुरक्षित रूप से मातृभूमि पर वापस लौटा। थ्येनचो-3 मालवाहक अंतरिक्ष यान व रॉकट का असेंबली 20 सितंबर को सफलता रूप से प्रक्षेपित हुआ। वहीं, शेनचोउ-13 प्रक्षेपण क्षेत्र में स्थानांतरित किया गया और 16 अक्तूबर को इसका प्रक्षेपण उचित समय पर किया जाएगा। ऐसी उच्च गति इस का प्रतीक है कि प्रक्षेपण यान क्षेत्र में चीन की तकनीक परिपक्व बनी हुई है और चीन में उच्च तीव्रता प्रक्षेपण मिशन पूरा करने के लिये काफी योग्य है।

साक्षात्कार देते हुए फ्रेंच एयरोस्पेस विशेषज्ञ फिलिप कुए ने कहा कि चीन के अंतरिक्ष कार्यों की विकास गति शानदार है। चीन द्वारा अंतरिक्ष का अन्वेषण अभूतपूर्व स्तर तक जा पहुंचा है। रूसी एयरोस्पेस विज्ञान संघ ओपन स्पेस के संस्थापक विटाली ईगोरोव ने कहा कि हाल ही में चीन ने अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण क्षेत्र में अधिक महत्वपूर्ण उपलब्धियां प्राप्त की। उन्हें विश्वास है कि चीन अंतरिक्ष अनुसंधान को एक नये चरण तक आगे बढ़ाया जा सकेगा। पाकिस्तान के इस्लामाबाद वायु सेना विश्वविद्यालय के उप प्रोफेसर अली सरोश ने कहा कि अंतरिक्ष तकनीकी विकास को बढ़ाने के लिये चीन ने महान प्रयास किया। अब चीन ने एयरोस्पेस शक्तियों में से एक सफलता रूप से बना है।

अमेरिकी मीडिया न्यूयॉर्क टाइम्स ने रिपोर्ट की कि पिछले कुछ सालों में चीन के अधिक अंतरिक्ष प्रक्षेपणों और एलियन लैंडिंग मिशनों ने सफलता हासिल की। इसीलिये चीन अपनी परियोजना के अनुसार अन्य गहरे अंतरिक्ष अन्वेषण मिशनों को आगे बढ़ा जा सकेगा।

निहोन कीजई शिंबुन (निक्केई) यानी जापानी आर्थिक समाचार पत्र ने एक टिप्पणी जारी की है कि चीनी अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण में लगातार प्रक्रियाओं से चीन की एयरोस्पेस क्षमता दिखाई है।

शेनचोउ-13 मानवयुक्त अंतरिक्षयान योजनानुसार 16 अक्तूबर को जाई जीगांग, वांग याफिंग और ये गुआंगफू आदि तीन अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजेगा। ये तीन चीनी अंतरिक्ष यात्री थ्येन-ह नामक अंतरिक्ष स्टेशन के मुख्य केबिन में दूसरी खेप वाले निवासी बन जाएंगे और वहां 6 महीने तक ठहरेंगे। इस दौरान तीनों अंतरिक्ष यात्री केबिन के बाहर रखरखाव, उपकरण प्रतिस्थापन, और वैज्ञानिक अनुप्रयोग लोड जैसा श्रृंखलाबद्ध संचालन पूरा करेंगे। साथ ही, वे अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण और संचालन के लिए प्रमुख प्रौद्योगिकियों का आगे सत्यापन करेंगे।

इसके अलावा आगे अंतरिक्ष मिशन में अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष स्टेशन में ऑक्सीजन देने वाले पौधे उगाएंगे। ऑक्सीजन उपकरण लेने के बजाय पौधे लगाने के जरिये ऑक्सीजन मिलने से अंतरिक्ष में अंतरिक्ष यात्रियों के रहने की अवधि को विस्तार किया जा सकेगा।

अंतरिक्ष स्टेशन निर्माण परियोजना के अनुसार, वर्ष 2022 चीन अंतरिक्ष स्टेशन के कक्षीय निर्माण चरण में पूरी तरह से प्रवेश करेगा। चीन अगले साल लगातार 6 उड़ान भरेगा, जिनमें 2 बार अंतरिक्ष स्टेशन के लिए केबिन का प्रक्षेपण, 2 बार मालवाहक अंतरिक्षयान का प्रक्षेपण और 2 बार मानवयुक्त अंतरिक्षयान का प्रक्षेपण शामिल हैं। योजनानुसार साल 2022 में अंतरिक्ष स्टेशन के कक्षीय निर्माण को पूरा किया जाएगा।

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 14 Oct 2021, 10:00:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.