News Nation Logo
Banner

हांगकांग के लोकतंत्र को कौन नष्ट कर रहा है?

हांगकांग के लोकतंत्र को कौन नष्ट कर रहा है?

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 22 Dec 2021, 12:40:01 AM
new from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग:   अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड द्वारा गठित फाइव आईज एलायंस ने 20 दिसंबर को विदेश मंत्रियों का तथाकथित संयुक्त बयान जारी किया, जिसमें चीन के हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में अभी-अभी सफलतापूर्वक संपन्न हुए सातवें विधान परिषद के चुनाव पर गैर-जिम्मेदाराना टिप्पणी की गई। इस बयान में हांगकांग के अधिकारों, स्वतंत्रता और स्वायत्तता को कमजोर करने के लिए चुनाव को बदनाम किया गया, और एक बार फिर से चीन-ब्रिटिश संयुक्त घोषणा-पत्र का उपयोग किया गया।

अब हांगकांग का लोकतंत्र एक नया रूप दिखा रहा है, लेकिन फाइव आईज एलायंस ने एक ऐसा असामयिक और दुर्भावनापूर्ण बयान जारी किया, जो कि साबित करता है कि अमेरिका और ब्रिटेन जैसे कुछ पश्चिमी देश हांगकांग के लोकतांत्रिक विकास को नष्ट करने वाला बाहरी काले हाथ हैं।

इस तथाकथित बयान के अनुसार, लोकतंत्र और मानवाधिकार के बैनर तले एक बार फिर पाखंड से भरपूर तमाशा खेलते हुए हांगकांग की नई चुनावी व्यवस्था पर गंदा पानी फेंका है। लेकिन तथ्यों ने उनके इस झूठ का पदार्फाश कर दिया है।

मौजूदा चुनाव हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की चुनावी व्यवस्था में सुधार के बाद पहले विधान परिषद का चुनाव है। चुनाव नियमों के ²ष्टिकोण से देखा जाए, तो सीटों की संख्या में वृद्धि की गई है, और सीटों के आवंटन की पद्धति को भी फिर से समायोजित किया गया है। इसका उद्देश्य हांगकांग समाज के समग्र हितों और सभी क्षेत्रों और वर्गों के हितों की प्रभावी ढंग से रक्षा करना है। प्रक्रिया के ²ष्टिकोण से देखा जाए, तो मौजूदा चुनाव पूरी तरह से व्यापक प्रतिनिधित्व, राजनीतिक समावेश, संतुलित भागीदारी और निष्पक्ष प्रतिस्पर्धा का प्रतीक है। 153 उम्मीदवारों में से 90 सदस्यों को चुना गया है, जो विविध, संतुलित और पेशेवर वाला वास्तविक लोकतंत्र दिखाया जाता है। जैसा कि हांगकांग क्वालिटी एंड टैलेंट माइग्रेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष लुओ योंग ने कहा कि मौजूदा चुनाव में उम्मीदवार हांगकांग के विभिन्न क्षेत्रों, समुदायों, वर्गों से आते हैं और उनकी आयु भी अलग-अलग है।

हास्यास्पद बात यह है कि इस तथाकथित बयान ने एक बार फिर चीन से चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा-पत्र का पालन करने की मांग की। चीनी राज्य परिषद के न्यूज कार्यालय द्वारा 20 दिसंबर को जारी एक देश, दो व्यवस्थाओं के तहत हांगकांग का लोकतांत्रिक विकास शीर्षक श्वेत पत्र में स्पष्ट रूप से कहा गया कि चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा-पत्र का उद्देश्य चीन के पास हांगकांग को लौटने के लिए ब्रिटेन की समस्या को हल करना है, न कि मातृभूमि में हांगकांग की वापसी के बाद चुनावी प्रणाली सहित राजनीतिक व्यवस्था को लागू करने जैसी समस्या को हल करना।

वास्तव में, जब लोकतंत्र और मानवाधिकारों की बात आती है, तो फाइव आइज एलायंस को जो सबसे अधिक करना चाहिए, यानी कि उन्हें आईना लेकर महामारी के खिलाफ विफलता, राजनीतिक ध्रुवीकरण और नस्लीय भेदभाव आदि घरेलू समस्याओं पर नजर डालनी चाहिए। कुछ पश्चिमी देश, जो हांगकांग के मानवाधिकारों और स्वतंत्रता का सम्मान कहते रहते हैं, वे हांगकांग के लोकतांत्रिक विकास में बाधक और विध्वंसक ही हैं।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 22 Dec 2021, 12:40:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.