News Nation Logo
Banner

अफगान विकास के लिए चीन एक विश्वसनीय भागीदार के रूप में उभरा

अफगान विकास के लिए चीन एक विश्वसनीय भागीदार के रूप में उभरा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Aug 2021, 10:20:01 PM
new from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: दक्षिण और मध्य एशिया को जोड़ने वाला लैंडलॉक देश अफगानिस्तान इस समय गंभीर समय से गुजर रहा है। स्थायी शांति और सामाजिक आर्थिक विकास हासिल करने से पहले ही विदेशी सैन्य बलों की गैर-जिम्मेदाराना वापसी ने अफगान लोगों को अपने हाल पर छोड़ दिया है।

इस गैर-जिम्मेदाराना वापसी से अफगानिस्तान में मौजूद निजी उद्यमों और राज्य के स्वामित्व वाले उद्यमों को सबसे बुरे परिणामों का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि हिंसा की इस मौजूदा लहर में स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय व्यापार की संभावना कम हो रही है।

इस समय अफगानिस्तान में लोगों की पीड़ा जारी है। जैसा कि हाल ही में विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अफगानिस्तान के लिए सहायता अब पिछली प्रतिज्ञा अवधि (2016-2020 में 15.2 अरब अमेरिकी डॉलर) से लगभग 20 प्रतिशत कम होने की उम्मीद है, लेकिन यह और भी कम हो सकती है यदि शर्तों को पूरा नहीं किया जाता है।

यह स्पष्ट है कि कोविड-19 महामारी और गिरती अर्थव्यवस्था के बीच अमेरिका, ब्रिटेन, यूरोपीय संघ और जी-7 सहित प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं ने अफगानिस्तान से अपना ध्यान हटाते हुए अपने घरेलू वित्तीय बोझ से निपटने की दिशा में लगा दिया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बढ़ती राजनीतिक अनिश्चितताओं, अंतरराष्ट्रीय अनुदान समर्थन में गिरावट और निरंतर असुरक्षा के कारण अफगानिस्तान को अब हालिया विकास लाभ बनाए रखने में कठिन चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

इसलिए इस परि²श्य में, जब अफगानिस्तान भी अफगान तालिबान की उन्नति के साथ एक नए राजनीतिक ढांचे के निर्माण की ओर बढ़ रहा है, देश को समग्र आर्थिक पुनरुद्धार विकल्पों पर सावधानीपूर्वक पुनर्विचार करने की आवश्यकता है जो युद्धग्रस्त राष्ट्र को लाभान्वित कर सकते हैं।

जैसा कि अमेरिका और अन्य यूरोपीय संघ के देश कोविड-19 महामारी के कारण घरेलू वित्तीय बोझ का सामना कर रहे हैं, तो चीन एकमात्र व्यवहार्य विकल्प बन गया है और अफगानिस्तान के लिए विश्वसनीय वित्तीय विकास का एकमात्र स्रोत बचा है।

पश्चिमी अर्थव्यवस्थाओं की महामारी के बीच, रिपोर्टें सामने आयी हैं कि चीन के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में वर्ष-दर-वर्ष 2021 की पहली छमाही में 12.7 प्रतिशत का विस्तार हुआ, क्योंकि चीन की आर्थिक रिकवरी जारी है।

वहीं, बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) में शामिल देशों में चीन का आउटबाउंड प्रत्यक्ष निवेश (ओडीआई) 2021 के पहले पांच महीनों में बढ़ा है। इस अवधि के दौरान, बीआरआई देशों में इस तरह का निवेश सालाना आधार पर 13.8 प्रतिशत बढ़कर 7.43 अरब डॉलर हो गया, जो कुल का 17.2 प्रतिशत है।

इसलिए, आंकड़ों से साफ हो जाता है कि चीन इस अस्थिर वैश्विक आर्थिक स्थिति में दर्जनों देशों के लिए एक मूल्यवान वित्तीय स्रोत के रूप में उभर रहा है, जब पश्चिमी देश विकासशील देशों को समर्थन देने में संकोच कर रहे हैं।

अब, अफगानिस्तान, चीन का पड़ोसी और करीबी भागीदार होने के नाते, सतत विकास में अधिकतम लाभांश के लिए चीन के साथ व्यापक आर्थिक साझेदारी का विस्तार करने के लिए कई ता*++++++++++++++++++++++++++++र्*क और ठोस कारण हैं।

काबुल के लिए अमेरिका और यूरोपीय देशों के साथ आर्थिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के विकल्प सिकुड़ रहे हैं क्योंकि यह दूसरी बार है जब उन देशों ने अफगानिस्तान को बहुत ही अनिश्चित स्थिति में छोड़ा है।

वे देश, जो अन्य देशों में हस्तक्षेप करने के अपने एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं, आतंकवाद के खिलाफ युद्ध की शुरूआत के बाद से, पिछले 20 वर्षों में आक्रमण की अपनी नीतियों से पहले ही उजागर हो चुके हैं।

वैश्विक अर्थव्यवस्था अभी भी नाजुक स्थिति में है, चीन का आर्थिक प्रदर्शन विश्व आर्थिक सुधार प्राप्त करने और सभी के लिए सतत विकास को बढ़ावा देने की कुंजी बन गया है।

अब, चीन क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर, आर्थिक पुनरुद्धार की तलाश में भागीदारों और युद्धग्रस्त देशों की मदद करने के लिए बीजिंग की आर्थिक कूटनीति को बहुत महत्व देता है।

यकीनन, चीन इस क्षेत्र में अफगानिस्तान के लिए एक बहुत ही विश्वसनीय विकास भागीदार के रूप में उभरा है। अफगानिस्तान के पड़ोसी देश के रूप में, चीन का मौलिक और सर्वोच्च हित अफगानिस्तान की स्थिरता और आर्थिक स्वतंत्रता है, जिसे एक सहयोगी कार्य साझेदारी के माध्यम से विकसित किया जा सकता है।

(लेखक:अखिल पाराशर, चाइना मीडिया ग्रुप, बीजिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Aug 2021, 10:20:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live IPL 2021 Scores & Results

वीडियो

×