News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

शी चिनफिंग ने एशिया व प्रशांत क्षेत्र के साझे भविष्य पर बल दिया

शी चिनफिंग ने एशिया व प्रशांत क्षेत्र के साझे भविष्य पर बल दिया

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 12 Nov 2021, 09:35:01 PM
new from

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग: चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 12 नवंबर की रात पेइचिंग में वीडियो लिंक के जरिये एपेक की 28वीं अनौपचारिक शिखर बैठक में भाग लिया।

शी चिनफिंग ने कहा कि इस साल एपेक में चीन की भागीदारी की 30वीं वर्षगांठ है। ये तीस साल चीन में सुधार गहराने और खुलेपन का विस्तार करने वाला समय है और एशिया व प्रशांत क्षेत्र में सहयोग निरंतर बढ़ने का तीस साल है। हमें वर्ष 2040 पुत्रराज्य विजन का कार्यांवयन कर खुलेपन ,समावेश ,सृजन ,वृद्धि ,पारस्परिक संपर्क ,सहयोग और साझी जीत वाले एशिया प्रशांत क्षेत्र का साझा भविष्य निर्मित करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि खुलापन एशिया प्रशांत क्षेत्र की जीवन रेखा है। हमें क्षेत्रीय आर्थिक एकीकरण बढ़ा कर यथाशीघ्र ही उच्च स्तरीय एशिया व प्रशांत क्षेत्र मुक्त व्यापार क्षेत्र स्थापित करना चाहिए। हमें सच्चे बहुपक्षवाद का पालन कर मुकाबले ,बहिष्कार व संबंध-विच्छेद के बजाये वार्ता ,समावेश और मिश्रण पर कायम रहना और विश्व व्यापार संगठन से केंद्रित बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था की डटकर सुरक्षा करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि सृजन विश्व विकास के लिए महत्वपूर्ण प्रेरणात्मक शक्ति है। हमें नवाचार ड्राइविंग पर कायम रहकर डिजिटल अर्थव्यवस्था का नया इंजन बनाना चाहिए। आर्थिक तकनीकी सहयोग एपेक के सहयोग का अहम क्षेत्र है। इस में अधिक शक्ति लगायी जानी चाहिए।

शी चिनफिंग ने कहा कि इस साल सीपीसी की स्थापना की 100वीं वर्षगांठ है। 140 करोड़ से अधिक चीनी जनता को बेहतर जीवन देना ,मानव शांति व विकास बढ़ाना सीपीसी के संघर्ष का अटल लक्ष्य है। चीन ने अब चौतरफा तौर पर समाजवादी आधुनिक देश के निर्माण का नया अभियान शुरू किया है। चीन वैदेशिक खुलेपन के विस्तार पर कायम रहेगा और विश्व तथा एपेक के विभिन्न सदस्यों के साथ चीन के विकास का मौका साझा करेगा।

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 12 Nov 2021, 09:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.