News Nation Logo

अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की विपक्ष की मांग के बीच लोकसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित (लीड-1)

अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की विपक्ष की मांग के बीच लोकसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित (लीड-1)

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 17 Dec 2021, 10:15:01 PM
New Delhi

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग को लेकर विपक्ष के लगातार हंगामे के बीच शुक्रवार को लोकसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई।

पहले स्थगन के बाद दोपहर 2 बजे सदन की कार्यवाही फिर से शुरू होने के तुरंत बाद अध्यक्ष की कुर्सी संभाल रहे राजेंद्र अग्रवाल ने हंगामे के बीच सदन के पटल पर कागजात या दस्तावेज रखने को कहा।

उन्होंने मंत्रियों से सूचीबद्ध विधेयकों को पेश करने को भी कहा। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने खेलों में डोपिंग रोधी गतिविधियों को विनियमित करने के लिए राष्ट्रीय डोपिंग रोधी विधेयक, 2021 पेश किया, जबकि केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने वन्य जीवन (संरक्षण) संशोधन विधेयक 2021 पेश किया।

सदन की कार्यवाही के दौरान, विपक्षी सदस्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे, जिससे सदन की कार्यवाही बाधित हो रही थी। हंगामे के बीच, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, कॉस्ट एंड वर्क्‍स अकाउंटेंट्स और कंपनी सेक्रेटरीज (संशोधन) बिल, 2021 पेश किया।

सभापति ने सदन को सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019 के संबंध में राज्यसभा के संशोधनों पर विचार करने के लिए भी कहा और इस दौरान उच्च सदन द्वारा किए गए संशोधनों को लिया गया और सदन ने ध्वनिमत से सरोगेसी (संशोधन) विधेयक 2019 का हिस्सा बनने के लिए संशोधन 7 (ए) और संशोधन संख्या 32 को स्वीकार कर लिया।

अग्रवाल ने फिर से सदस्यों से सदन के कामकाज में सहयोग करने को कहा, क्योंकि कई महत्वपूर्ण विधान चर्चा के लिए सूचीबद्ध किए गए थे। अग्रवाल ने विपक्षी दलों से आग्रह किया, कृपया अपनी सीटों पर वापस जाएं और चर्चा में भाग लें।

सभापीठ के अनुरोध के बावजूद, प्रदर्शनकारी सदस्यों ने सरकार के खिलाफ अपना विरोध जारी रखा और नारे लगाते रहे और वेल में तख्तियां प्रदर्शित करते रहे।

जब उनकी लगातार की जा रही अपीलों का विपक्ष पर कोई असर नहीं पड़ा तो अग्रवाल ने सदन की कार्यवाही को सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

इससे पहले दिन की शुरुआत में सदन की कार्यवाही 11 बजे शुरू होने के बाद बार-बार सदन में कामकाज बाधित हुआ, क्योंकि विपक्षी दलों ने मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग करते हुए अपनी दलीलें जारी रखीं।

उत्तर प्रदेश की एसआईटी द्वारा लखीमपुरी खीरी की घटना को एक पूर्व नियोजित साजिश बताए जाने के बाद से विपक्ष बुधवार से अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखे हुए है। मामले में आरोपी के तौर पर मिश्रा के बेटे को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 17 Dec 2021, 10:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.