News Nation Logo
Banner

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगे 75 विमान, कई नए कार्यक्रमों को पहली बार किया गया शामिल

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगे 75 विमान, कई नए कार्यक्रमों को पहली बार किया गया शामिल

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 26 Jan 2022, 12:05:01 AM
New Delhi

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली:   राष्ट्रीय राजधानी के राजपथ पर 26 जनवरी को आगामी गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान कई नई पहल की योजना बनाई गई है, जिसमें राष्ट्रीय कैडेट कोर द्वारा शहीदों को शत शत नमन कार्यक्रम का शुभारंभ शामिल है।

इन नई पहलों में भारतीय वायु सेना के 75 विमानों और हेलीकाप्टरों द्वारा भव्य फ्लाईपास्ट, राष्ट्रव्यापी वंदे भारतम नृत्य प्रतियोगिता के माध्यम से चुने गए 480 डांसर्स द्वारा सांस्कृतिक प्रदर्शन, कला कुंभ कार्यक्रम के दौरान तैयार किए गए प्रत्येक 75 मीटर के दस स्क्रॉल का प्रदर्शन और दर्शकों के बेहतर देखने के अनुभव के लिए 10 बड़ी एलईडी स्क्रीन की स्थापना शामिल है।

प्रक्षेपण मानचित्रण (प्रोजेक्शन मैपिंग) के साथ-साथ बीटिंग द र्रिटीट समारोह के लिए स्वदेशी रूप से विकसित 1,000 ड्रोन द्वारा एक ड्रोन शो की योजना बनाई गई है।

परेड के समय में परिवर्तन हुआ है।

परेड और फ्लाईपास्ट को बेहतर ²श्यता (विजिबिलिटी) प्रदान करने के लिए राजपथ पर परेड सुबह 10 बजे के बजाय 10:30 बजे शुरू होगी।

डिजिटल पंजीकरण की भी सुविधा दी गई है।

वर्तमान कोविड-19 स्थिति को ध्यान में रखते हुए विशेष व्यवस्था की गई है। दर्शकों के लिए सीटों की संख्या काफी कम कर दी गई है और लोगों को ऑनलाइन लाइव समारोह देखने के लिए माईजीओवी पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्हें लोकप्रिय पसंद श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ माचिर्ंग दल और झांकी के लिए वोट करने का भी मौका मिलेगा।

कोविड को लेकर खास सुरक्षा उपाय किए गए हैं।

परेड में केवल पूर्ण टीकाकरण वाले वयस्क और 15 वर्ष और उससे अधिक उम्र के एक खुराक वाले बच्चों को ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। 15 साल से कम उम्र के बच्चों को अनुमति नहीं दी जाएगी। सोशल डिस्टेंसिंग के सभी नियमों का पालन किया जाएगा और मास्क पहनना अनिवार्य है। महामारी को देखते हुए इस वर्ष कोई भी विदेशी दल भाग नहीं लेगा।

समाज के उन तबकों को अवसर देने के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं, जिन्हें आमतौर पर परेड देखने को नहीं मिलती है। ऑटो-रिक्शा चालकों के कुछ वर्गों, निर्माण श्रमिकों, सफाई कर्मचारियों और फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स को गणतंत्र दिवस परेड के साथ-साथ बीटिंग र्रिटीट समारोह देखने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

शहीदों को शत शत नमन

26 जनवरी को राष्ट्र की रक्षा में शहीदों के सर्वोच्च बलिदान का सम्मान करने के लिए एनसीसी की ओर से शहीदों को शत शत नमन नामक एक राष्ट्रव्यापी प्रमुख कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। लगभग 5,000 शहीदों के परिजनों (एनओके) को पूरे देश में एनसीसी कैडेटों द्वारा आभार की पट्टिका भेंट की जाएगी, लगभग उसी समय जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर देश के वीरों को श्रद्धांजलि दे रहे होंगे।

यह कार्यक्रम 15 अगस्त, 2022 तक जारी रहेगा। इस अवधि के दौरान, एनसीसी कैडेट, एनसीसी अधिकारियों और राज्य निदेशालयों के स्थायी प्रशिक्षक के साथ, उन सभी 26,466 शहीदों के एनओके को सम्मानित करेंगे, जिनके नाम राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर अंकित किए गए हैं।

कला कुंभ - राजपथ को सुशोभित करने के लिए विशाल स्क्रॉल पेंटिंग भी आकर्षण का केंद्र होगा।

परेड के दौरान राजपथ पर 75 मीटर लंबाई और 15 फीट ऊंचाई के दस स्क्रॉल प्रदर्शित किए जाएंगे। इन्हें रक्षा और संस्कृति मंत्रालयों द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित कला कुंभ कार्यक्रम के दौरान तैयार किया गया था।

अनूठी पहल कला कुंभ के तहत बनाए गए विशाल और शानदार स्क्रॉल अब गणतंत्र दिवस 2022 समारोह के लिए राजपथ पर स्थापित किए गए हैं। स्क्रॉल राजपथ के दोनों ओर सुशोभित हैं जो विस्मयकारी ²श्य प्रस्तुत करते हैं।

ये स्क्रॉल देश के विविध भौगोलिक स्थानों से कला के विभिन्न रूपों के साथ राष्ट्रीय गौरव और उत्कृष्टता को व्यक्त करने के साधन के रूप में कला की क्षमता का विश्लेषण करते हैं। ओडिशा और चंडीगढ़ में दो स्थानों पर विशेष कार्यशालाओं या कला कुंभ में भाग लेने वाले 500 से अधिक कलाकारों द्वारा इन पर परिश्रमपूर्वक शोध किया गया और उत्साहपूर्वक चित्रित किया गया।

750 मीटर लंबा स्क्रॉल संस्कृति मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय की एक अनूठी पहल है। शानदार स्क्रॉल को विभिन्न क्षेत्रों के स्थानीय कलाकारों द्वारा चित्रित किया गया है और बड़े पैमाने पर स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायकों की वीरता की कहानियों को चित्रित किया गया है। इन कलाकारों के विविध कला रूप भी स्क्रॉल में परिलक्षित होते हैं जिन्हें एक भारत श्रेष्ठ भारत की सच्ची भावना में एक मंच पर एक साथ लाया गया है।

गणतंत्र दिवस के बाद, स्क्रॉल को देश के विभिन्न हिस्सों में ले जाया जाएगा और वहां आजादी के अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में प्रदर्शित किया जाएगा।

वंदे भारतम नृत्य उत्सव

पहली बार, परेड में सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करने वाले डांसर्स का चयन एक राष्ट्रव्यापी प्रतियोगिता वंदे भारतम के माध्यम से किया गया है, जिसे रक्षा और संस्कृति मंत्रालयों द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया है।

संस्कृति मंत्रालय ने एक चार स्तरीय वंदे भारतम- नृत्य उत्सव प्रतियोगिता के जरिए 480 कलाकारों का चयन किया है। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वंदे भारतम- नृत्य उत्सव के ग्रैंड फिनाले का आयोजन 19 दिसंबर, 2021 को नई दिल्ली में किया गया था।

वंदे भारतम प्रतियोगिता की शुरूआत 17 नवंबर को जिला स्तर पर की गई थी और इसमें 323 समूहों में 3,870 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। जिला स्तर पर स्क्रीनिंग में पास होने वाले प्रतिभागियों ने 30 नवंबर, 2021 से राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लिया। इसके बाद राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए 4 दिसंबर, 2021 तक यानी 5 दिनों की अवधि में 20 से अधिक वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित किए गए।

वीर गाथा - स्कूली बच्चों की वीरता की कहानियां

एक और पहले में, रक्षा मंत्रालय ने शिक्षा मंत्रालय के सहयोग से स्कूली छात्रों को वीरता पुरस्कार विजेताओं पर प्रोजेक्ट करने के लिए प्रेरित करने के लिए राष्ट्रव्यापी वीर गाथा प्रतियोगिता का आयोजन किया। देश भर के लगभग 4,800 स्कूलों के आठ लाख से अधिक छात्रों ने भाग लिया और निबंधों, कविताओं, रेखाचित्रों और मल्टीमीडिया प्रस्तुतियों के माध्यम से अपनी प्रेरणादायक कहानियों को साझा किया। कई दौर के मूल्यांकन के बाद, 25 का चयन किया गया और उन्हें विजेता घोषित किया गया। वे 10,000 रुपये का नकद पुरस्कार प्राप्त करेंगे और गणतंत्र दिवस परेड देखेंगे।

सीएपीएफ द्वारा स्टेटिक बैंड प्रदर्शन

परेड शुरू होने से पहले, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की टुकड़ियां राजपथ पर बैठने की जगह में स्थिर बैंड प्रदर्शन करेंगी।

एलईडी स्क्रीन

परेड को अच्छी तरह से देखने के लिए 10 बड़े एलईडी स्क्रीन लगाए जाएंगे जो पांच-पांच की संख्या में राजपथ के दोनों ओर स्थापित होंगे। पिछले गणतंत्र दिवस परेड की फुटेज, सशस्त्र बलों पर लघु फिल्मों और गणतंत्र दिवस परेड-2022 से पहले के संबंधित विभिन्न घटनाक्रम की कहानियों को लेकर बनाई गईं फिल्मों को परेड से पहले प्रदर्शित किया जाएगा।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 26 Jan 2022, 12:05:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.