News Nation Logo
Banner

भाजपा नेताओं ने कश्मीर पर टिप्पणी को लेकर सिद्धू के सलाहकार के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

भाजपा नेताओं ने कश्मीर पर टिप्पणी को लेकर सिद्धू के सलाहकार के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Aug 2021, 05:20:01 PM
Navjot Singh

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने शुक्रवार को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली के खिलाफ कश्मीर पर भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

भाजपा नेताओं ने कश्मीर पर दिए गए माली के भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट के लिए राष्ट्रीय राजधानी में एक पुलिस शिकायत दर्ज करते हुए कहा है कि इस तरह के बयान से देश की संप्रभुता के लिए खतरा है।

इससे पहले एक सोशल मीडिया पोस्ट में माली ने कहा था कि कश्मीर कश्मीरी लोगों का देश है।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता आर. पी. सिंह और पार्टी की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के राष्ट्रीय सचिव तजिंदर पाल सिंह बग्गा द्वारा नई दिल्ली के राजिंदर नगर पुलिस स्टेशन में दर्ज एक पुलिस शिकायत में कहा गया है कि कश्मीर पर माली की टिप्पणी से भारतीय गणतंत्र की संप्रभुता को दुर्भावनापूर्ण इरादों से खतरा है, जो समाज के वर्गों के बीच वैमनस्य, घृणा और हिंसा पैदा कर सकता है।

शिकायत में कहा गया है, इस तरह की टिप्पणियों का भारत में कानून द्वारा स्थापित सरकार के प्रति घृणा या अवमानना और असंतोष फैलाने के अलावा कोई अन्य इरादा नहीं है, जिसके परिणामस्वरूप किसी भी प्रकार का विद्रोह हो सकता है।

शिकायत में आरोप लगाया गया है कि आरोपी ने एक ऐसी भाषा का उपयोग किया है, जो अलगाववादी प्रवृत्तियों को बढ़ावा देने में पूरी तरह सक्षम है और इससे न केवल राष्ट्र की संप्रभुता बल्कि क्षेत्रीय ताने-बाने और समाज के विभिन्न वर्गों के भीतर सद्भाव के लिए खतरा पैदा होता है।

शिकायत में आगे कहा गया है, आरोपी द्वारा दिए गए बयान हमारे देश की राष्ट्रीय एकता के लिए हानिकारक हैं। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और भारतीय संसद और अदालतों ने भी इसी सिद्धांत को बार-बार दोहराया है।

भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि माली की टिप्पणी देश में व्याप्त सार्वजनिक शांति और सद्भाव को खतरे में डालती है।

शिकायत में कहा गया है, आरोपी के दुर्भावनापूर्ण इरादे आम जनता के बीच नफरत, दुश्मनी, हिंसा को बढ़ावा देने और लोगों के एक वर्ग को राष्ट्र के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए उकसाने के उसके अंतिम उद्देश्य को इंगित करते हैं।

शिकायत में दावा किया गया है कि माली द्वारा किया गया यह आपराधिक कृत्य पहले से ही हारे हुए पंजाब विधानसभा चुनावों में जमीन हासिल करने की कोशिश में एक छोटी राजनीतिक रणनीति के दिमाग की उपज है।

शिकायत के अनुसार, कानून किसी भी व्यक्ति को किसी भी राजनीतिक लाभ के लिए क्षेत्रीय हिंसा, देशद्रोह को बढ़ावा देने की रणनीति का उपयोग करने की अनुमति नहीं दे सकता है और इस तरह के कृत्यों को उचित ध्यान में रखा जाना चाहिए और इसके लिए देश के कानून के तहत सख्ती से दंडित किया जाना चाहिए।

भाजपा नेताओं ने क्षेत्रीय आधार पर विभिन्न वर्गों के बीच देशद्रोह, संभावित हिंसा, दुश्मनी, घृणा या द्वेष पैदा करने या बढ़ावा देने वाले ऐसे बयान देने के लिए माली के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 154 के तहत प्राथमिकी दर्ज करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि माली के खिलाफ कानून के अनुसार उचित कार्रवाई की जानी चाहिए।

शिकायत में मामले में जांच पूरी होने तक माली के फेसबुक अकाउंट को निलंबित करने की भी मांग की गई है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Aug 2021, 05:20:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो