News Nation Logo

BREAKING

Banner

किसानों के हितों के प्रति समर्पित नरेंद्र मोदी सरकारः अमित शाह

अमित शाह ने ट्विटर पर लिखा,  सरकार ने आज एक और बडा निर्णय लेते हुए गन्ना किसानों के लिए 3500 करोड़ रुपये की सहायता को मंजूरी दी. यह राशि सीधे किसानों के खातों में जमा होगी. इस निर्णय से पांच करोड़ गन्ना किसान व पांच लाख कामगार लाभान्वित होंगे. 

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 16 Dec 2020, 07:47:31 PM
amit shah 16 11

अमित शाह (Photo Credit: IANS )

नई दिल्ली:

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मोदी सरकार के किसानों मोदी कैबिनेट के फैसले की तारीफ करते हुए सोशल मीडिया पर मोदी सरकार की जमकर तारीफ की है. अमित शाह ने ट्विटर पर लिखा,  सरकार ने आज एक और बडा निर्णय लेते हुए गन्ना किसानों के लिए 3500 करोड़ रुपये की सहायता को मंजूरी दी. यह राशि सीधे किसानों के खातों में जमा होगी. इस निर्णय से पांच करोड़ गन्ना किसान व पांच लाख कामगार लाभान्वित होंगे. 

आपको बता दें कि आज मोदी सरकार ने 60 लाख टन चीनी निर्यात करने का फैसला किया है और इससे होने वाली कमाई से मिसी सब्सिडी को सरकार सीधे 5 करोड़ गन्ना किसानों के खाते में भेजेगी. बुधवार को हुई मोदी कैबिनेट की बैठक में इस बात का फैसला लिया गया जिसके बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कान्फ्रेंस करके इन फैसलों की जानकारी मीडिया से साझा की. 

केंद्रीय मंत्री ने मीडिया से बातचीत में बताया कि इस साल केंद्र सरकार ने 60 लाख टन चीनी निर्यात पर सब्सिडी देने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि ये सब्सिडी सीधे  किसानों के खाते में जाएगी, इसमें सरकार पर कुल 3500 करोड़ रुपयों का खर्च आएगा. वहीं इसके अलावा केंद्र सरकार की ओर से 18000 करोड़ रुपये की आय भी किसानों को दी जाएगी.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आगे बताया कि सरकार के इस फैसले से देश के 5 करोड़ गन्ना किसानों को फायदा होगा. जबकि देश के लगभग 5 लाख मजदूरों को भी सरकार के इस फैसले से लाभ मिलेगा. प्रकाश जावड़ेकर के अनुसार एक सप्ताह के भीतर ही 5000 करोड़ की सब्सिडी किसानों के खातों में भेजी जाएगी. केंद्र सरकार 60 लाख टन चीनी का निर्यात 6 हजार रुपये प्रति टन के हिसाब से करेगी.  

First Published : 16 Dec 2020, 07:38:35 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.