News Nation Logo
Banner

राजधर्म पर नरेंद्र मोदी ने वाजपेयी की नहीं सुनी थी, हमारी क्‍या सुनेंगे: कपिल सिब्‍बल

दरअसल 2002 के गुजरात दंगों के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने तब के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को राजधर्म का पालन करने की नसीहत दी थी. उस समय गुजरात दंगों में सैकड़ों लोग मारे गए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 29 Feb 2020, 12:40:28 PM
Kapil Sibbal

'राजधर्म पर नरेंद्र मोदी ने वाजपेयी की नहीं सुनी, हमारी क्‍या सुनेंगे' (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्‍ली:

दिल्‍ली हिंसा के बहाने राजधर्म एक बार फिर चर्चाओं में है. सबसे पहले सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने नरेंद्र मोदी की सरकार को दिल्‍ली हिंसा के बहाने राजधर्म की नसीहत दी थी. उसके बाद कांग्रेस के कई नेताओं ने राजधर्म के बहाने मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया तो सरकार की ओर से केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था- कांग्रेस राजधर्म के बहाने लोगों को भड़काने का काम न करे. अब पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री कपिल सिब्बल (Kapil Sibbal) ने मोदी सरकार पर पलटवार किया है.

यह भी पढ़ें :  आधी रात को जस्‍टिस मुरलीधर के तबादले का आदेश जारी करते सावधानी बरतनी चाहिए थी : न्यायाधीश बालकृष्णन

शनिवार को कपिल सिब्बल ने ट्वीट करते हुए कहा- 'कानून मंत्री कांग्रेस से कहते हैं कि हमें राजधर्म न सिखाएं. हम कैसे आपको सिखा सकते हैं मंत्री महोदय. जब आपने गुजरात में वाजपेयी जी की नसीहत नहीं सुनी, आप हमें क्यों सुनेंगे. सुनना, सीखना और राजधर्म का पालन करना आपके मजबूत बिंदुओं में से एक नहीं है.'

दरअसल 2002 के गुजरात दंगों के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने तब के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को राजधर्म का पालन करने की नसीहत दी थी. उस समय गुजरात दंगों में सैकड़ों लोग मारे गए थे.

यह भी पढ़ें : कन्‍हैया के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति देकर पी चिदंबरम के निशाने पर आए अरविंद केजरीवाल

दिल्‍ली हिंसा को लेकर सोनिया गांधी के नेतृत्‍व में कांग्रेस नेताओं का प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिला था और सरकार से राजधर्म निभाने की नसीहत ददी थी. इस पर आक्रमक हुई बीजेपी और सरकार की ओर से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी राजधर्म के नाम पर लोगों को न भड़काए.

यह भी पढ़ें : हेट स्‍पीच या हेट मैसेज की शिकायत के लिए दिल्‍ली सरकार जारी करेगी व्हाट्सऐप नंबर

रविशंकर प्रसाद ने कहा, कांग्रेस नेता राष्ट्रपति के पास गए और राजधर्म की बात की. रामलीला मैदान में आपने उकसाने वाली भाषा का प्रयोग किया. आपकी ही सरकार ने 2010 में NPR का नोटिफिकेशन जारी किया, अगर आप करें तो ठीक लेकिन हम करें तो आप लोगों को भड़काना शुरू कर देते हैं.

First Published : 29 Feb 2020, 12:23:46 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×