News Nation Logo

1.23 मिनट बिगुल बजाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया नाम

भारतीय सेना में हवलदार के पद पर तैनात शंभू कुमार ने एक मिनट 23.4 सेकेंड तक ब्रास बैंड बजाकर गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है.

Madhurendra Kumar | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 27 Sep 2021, 06:21:52 PM
shambhu kumar

shambhu kumar (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • भारतीय सेना में हवलदार के पद पर तैनात हैं शंभू कुमार
  • इससे पहले साल 2006 में ब्रिटेने में बनाया था रिकॉर्ड
  • पहले भी बना चुके हैं एक सांस में शंख बजाने का है रिकॉर्ड 

नई दिल्ली:

भारतीय सेना में हवलदार के पद पर तैनात शंभू कुमार ने एक मिनट 23.4 सेकेंड तक ब्रास बैंड बजाकर गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है. हवलदार शंभू कुमार ने बताया कि इससे पूर्व वर्ष 2006 में ब्रिटेन सेना के इंग्लैंड पैराशूट रेजीमेंट में कार्यरत हवलदार ने एक मिनट 13 सेकंड तक ब्रास बैंड बिगुल बजा कर गिनीज बुक आफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था. शंभू कुमार ने कहा कि मैंने 2006 के यूनाइटेड किंगडम का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. बिगुल सेना की एक महत्वपूर्ण परंपरा का हिस्सा रहा है. उन्होंने कहा, मैं भगवान, अपने परिवार, वरिष्ठों और दोस्तों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मेरी गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स यात्रा में प्रोत्साहित और समर्थन किया.

यह भी पढ़ें : सबसे तेज सोलो साइकिलिंग का गिनीज रिकॉर्ड बनाने के लिए लेह से मनाली के लिए निकला भारतीय सेना का जवान

एक सांस व एक धुन में लगातार 80 सेकंड तक शंख बजाकर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड का खिताब तोड़ने के बाद हवलदार ने फैसला किया कि वह इस रिकॉर्ड खिताब को तोड़ने की क्षमता रखते हैं. बिगुल बजाना मेरे लिए बहुत कठिन काम था, मैंने इसके लिए अथक अभ्यास किया है. मेरे लिए, इसमें सबसे कठिन काम इसे उड़ाने में स्थिरता बनाए रखना था. मैंने अभ्यास के दौरान 1.35 मिनट तक बजाता था, लेकिन यह इसे लंबे समय तक बनाए रखना बहुत मुश्किल था. इसके लिए मैं हर दिन दो से तीन घंटे अभ्यास करता था. यह गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स खिताब हवलदार के लिए बड़े गर्व की बात होगी. "मेरा राज्य और मेरा देश और मुझे आगे भी प्रेरित करता है.

एक और नाम है रिकॉर्ड
शंख के नाम सबसे लंबा निरंतर नोट 80 सेकंड है. दिसंबर 2020 में शंभू कुमार लगातार 80 सेकेंड तक शंख बजाकर गिनीज बुक आफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं. . उन्होंने कहा उन्होंने बताया कि पूर्व में ब्रास बैंड बजाए जाने से पूर्व योग के माध्यम से शरीर और मन को उस सांचे में ढालने के पश्चात उनके अंदर उत्साह पैदा हुआ है. 

First Published : 27 Sep 2021, 05:53:33 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो