News Nation Logo

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री पर नजर रखने का आरोप लगाकर पीछे हटे (लीड-1)

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री पर नजर रखने का आरोप लगाकर पीछे हटे (लीड-1)

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 12 Jul 2021, 09:25:01 PM
Nagpur Congre

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार के उन पर नजर रखने का गंभीर आरोप लगाने के कुछ घंटों बाद, राज्य कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने अचानक यह दावा किया कि मीडिया और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी द्वारा उनकी बात की गलत व्याख्या की गई।

लोनावाला में पार्टी की बैठक को संबोधित करते हुए पटोले ने कहा था कि मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री हर सुबह गृह विभाग से अपने कार्यक्रम, बैठकों, आंदोलन, चर्चा और अन्य चीजों की रिपोर्ट प्राप्त करते हैं।

जबकि शिवसेना-एनसीपी ने उनके आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। भाजपा नेताओं ने कहा कि पटोले की टिप्पणियों से साबित होता है कि महा विकास अघाड़ी सरकार में कांग्रेस अलग-थलग और अपमानित है।

पटोले ने कहा कि जब से कांग्रेस ने आत्मनिर्भरता और भविष्य के चुनाव स्वतंत्र रूप से लड़ने की बात शुरू की है, शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पैरों तले की जमीन खिसक गई है। उन्होंने कहा, अगर मैं पार्टी को बनाने और मजबूत करने की बात करूं तो क्या गलत है?

पटोले ने कहा था, सिस्टम मुझे शांति से जीने नहीं दे रहा है। मेरा फोन टैप किया जा रहा है। मैं जहां भी जाता हूं, जो कुछ भी बोलता हूं, एक रिपोर्ट सीएम, डिप्टी सीएम और राज्य के गृहमंत्री को भेजी जाती है। कुछ लोग इसलिए दुखी हैं कि कांग्रेस की ताकत बढ़ रही है।

जब उनके बयानों ने राज्य के राजनीतिक हलकों में, विशेष रूप से एमवीए के सहयोगी शिवसेना-एनसीपी में हलचल पैदा कर दी, तो भाजपा ने कहा, यह तीन सत्तारूढ़ सहयोगियों के बीच अविश्वास की गहरी भावना है। इसके बाद पटोले ने अपने बयान वापस ले लिए।

सोमवार की शाम, पटोले ने मीडिया और भाजपा पर उनके शब्दों की गलत व्याख्या करने का आरोप लगाया, क्योंकि वह इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) से निगरानी का जिक्र कर रहे थे।

पटोले ने घोषणा की, विपक्ष द्वारा मेरे बारे में झूठी खबरें फैलाई जा रही हैं। एमवीए सरकार स्थिर है और इसे पूरे कार्यकाल तक जारी रखेगी।

छह महीने बाद आगामी नगर निकायों के चुनावों और भविष्य के विधानसभा और संसद चुनावों में अकेले जाने के पटोले के आह्वान ने शिवसेना और राकांपा को नाराज कर दिया है। पटोले ने पिछले कुछ महीनों में कई बार अकेले जाने वाली बात दोहराई है।

शिवसेना के किशोर तिवारी, जिनके पास राज्यमंत्री का दर्जा है, उन्होंने इस मुद्दे पर एमवीए भागीदारों को विभाजित करने के प्रयास के लिए विपक्ष की आलोचना की और दोहराया कि ठाकरे-शासन ने 18 महीनों में उत्कृष्ट काम किया है, इसलिए भाजपा इसे हटाने में अगले 25 साल तक सफल नहीं होगी।

राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और मंत्री नवाब मलिक ने जवाब दिया कि पटोले ने जो उल्लेख किया, वे नियमित सरकारी प्रक्रियाएं थीं, जिनसे वह शायद अनजान थे, और उन्हें अपनी ही पार्टी के पूर्व-मुख्यमंत्रियों से परामर्श करने की सलाह दी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Jul 2021, 09:25:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो