News Nation Logo
Banner

मुजफ्फरनगर ट्रेन हादसाः ऑडियो क्लिप में लापरवाही की वजह से ट्रेन हादसे का संकेत

सोशल मीडिया पर रविवार को तेजी से फैली दो रेलवे कर्मचारियों की टेलीफोन पर हुई बातचीत में शनिवार को उत्तर प्रदेश में हुई ट्रेन दुर्घटना में 'लापरवाही' के संकेत मिले हैं।

IANS | Updated on: 20 Aug 2017, 07:11:51 PM

highlights

  • दो रेलवे कर्मचारियों की टेलीफोन पर हुई बातचीत का ऑडियो क्लिप हुई वायरल
  • जूनियर इंजीनियर व दूसरे अधिकारियों सहित सभी के खिलाफ कार्रवाई की संभावना 

नई दिल्ली:

सोशल मीडिया पर रविवार को तेजी से फैली दो रेलवे कर्मचारियों की टेलीफोन पर हुई बातचीत में शनिवार को उत्तर प्रदेश में हुई ट्रेन दुर्घटना में 'लापरवाही' के संकेत मिले हैं। हालांकि, करीब 15 मिनट के ऑडियो क्लिप की स्वतंत्र रूप से जांच नहीं की जा सकी है। एक रेलवे के अधिकारी ने कहा कि वे इसे देख रहे हैं।

दुर्घटना स्थल के पास एक क्रासिंग पर तैनात एक व्यक्ति इस ऑडियो क्लिप में कह रहा कि ट्रैक के रखरखाव वाले स्थान पर जहां कार्य चल रहा था, वहां 'खराब गश्त' की व्यवस्था थी, यह दुर्घटना के कारणों में से एक वजह है।

इस क्लिप में एक रेलवे कर्मचारी को स्पष्ट रूप से यह कहते सुना जा रहा है, 'रेलवे ट्रैक के एक भाग पर वेल्डिंग का काम चल रहा था लेकिन मजदूरों ने ट्रैक के टुकड़े को जोड़ा नहीं और इसे ढीला छोड़ दिया। क्रासिंग के पास गेट बंद था। ट्रैक का एक टुकड़ा लगाया नहीं जा सका था और जब उत्कल एक्सप्रेस पहुंची तो इसके 14 कोच पटरी से उतर गए।'

और पढ़ेंः मुजफ्फरनगर हादसा: मरने वालों की संख्या 24 हुई, बचाव कार्य बंद, शाम तक आएगी रिपोर्ट

ऑडियो क्लिप में उसे यह कहते सुना जा रहा है, 'जिस लाइन पर काम चल रहा था, न तो उसे ठीक किया गया और न ही कोई झंडा या साइनबोर्ड (रोकने के संकेत के तौर पर) लगाया गया। यह दुर्घटना लापरवाही की वजह से हुई। ऐसा लगता है कि सभी कर्मचारी निलंबित होंगे।'

इस पर दूसरे ने जवाब दिया दिया कि जूनियर इंजीनियर व दूसरे अधिकारियों सहित सभी के खिलाफ कार्रवाई की संभावना है।

दोनों एक दूसरे से यह भी बताते हैं कि मजदूरों ने अपना काम समाप्त करने के बाद कुछ उपकरण ट्रैक के बीच में छोड़ दिया था। कम से कम वे मशीन को हटा सकते थे और एक लाल झंडा वहां लगा सकते थे, जिससे शायद हादसा टल सकता था।

रेलवे अधिकारियों ने कहा कि उन्हें अभी तक ऑडियो क्लिप नहीं मिली है। रेलवे बोर्ड के अधिकारी मोहम्मद जमशेद ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'हमें मीडिया से दो रेलवे कर्मचारियों के बीच बातचीत का पता चला है। इसमें कहा गया है कि ट्रेन के पटरी से उतरने की घटना लापरवाही की वजह से हुई। हम क्लिप की प्रमाणिकता की जांच करेंगे।'

कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस शनिवार को ओडिशा के पुरी से उत्तराखंड के हरिद्वार जा रही थी, जब उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में 14 कोचों के पटरी से उतर जाने से यह हादसा हुआ। रेलवे ने 20 लोगों के मारे जाने की बात कही है, वहीं राज्य के अधिकारियों ने 24 लोगों के मारे जाने की सूचना दी है।

और पढ़ेंः मुजफ्फरनगर: उत्कल एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतरे, 23 की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म

 

First Published : 20 Aug 2017, 05:13:23 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो